टीम इंडिया © AFP
टीम इंडिया © AFP

टीम इंडिया मौजूदा समय में श्रीलंका में है। इस दौरे को खत्म करने के बाद टीम इंडिया स्वदेश लौट आएगी। इस सीरीज के करीब डेढ़ महीने के बाद श्रीलंका भारत का दौरा करेगी। यह सीरीज दिसंबर के बीच तक खत्म होगी। इस वजह से टीम इंडिया का क्रिकेट शेड्यूल काफी टाइट हो गया है। इसका असर दिसंबर-जनवरी में भारत के दक्षिण अफ्रीका दौरे पर पड़ने लगा है। उम्मीद की जा रही थी कि टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 26 दिसंबर को बॉक्सिंग डे टेस्ट में खेलेगी।

ऐसे में उम्मीद की जा रही थी टीम इंडिया अपना न्यू ईयर दक्षिण अफ्रीका में मनाएगी लेकिन बीसीसीआई ने घोषणा की है कि श्रीलंका के खिलाफ सीरीज करीब 15 दिसंबर तक जारी रह सकती है। इस कठिन परिस्थिति को देखते हुए, सीएसए को बिल्कुल भी पता नहीं है कि कब सीरीज आयोजित की जाएगी और वे चाहते हैं कि बीसीसीआई इसपर जल्दी से जल्दी निर्णय ले।

क्रिकेट साउथ अफ्रीका के अध्यक्ष क्रिस नेनजामी ने कहा, “जाहिरतौर पर यह बहुत निराशाजनक है, यह एक ऐसा मुद्दा है जिसपर हमें बात करने की जरूरत है। यह एक ऐसा मुद्दा है जिसे हमें अंतिम रूप देने की जरूरत है। यह बहुत निराशाजनक है कि हम हमेशा उम्मीद करते हैं कि हम कुछ ऐसा प्राप्त कर लेंगे जो काम कर जाएगा। अगर आपके पास केंद्रीय नियंत्रित फ्यूचर टूर प्रोग्राम (एफटीपी) नहीं है तो, ऐसे मुद्दे आएंगे। लेकिन अगर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) टेस्ट क्रिकेट को प्रमोट करता है तो आपको हर किसी को मौका देना होता है।”
[ये भी पढ़ें: एबी डीविलियर्स ने धोनी से पूछा था कब लेंगे संन्यास, मिला शानदार जवाब]

क्रिकेट साउथ अफ्रीका को साल 2016-17 फाइनेंसियल ईयर में खासा घाटा झेलना पड़ा था। इसलिए वे इसका प्रभाव ऑस्ट्रेलिया और भारत के खिलाफ खेली जाने वाली घरेलू सीरीजों से कम करना चाहते हैं। सीएसए के चीफ एक्जिक्यूटिव हारून लोरगट ने कहा कि बॉक्सिंग डे टेस्ट की संभावना नहीं है क्योंकि टीम इंडिया को श्रीलंका के खिलाफ सीरीज खेलनी है। लेकिन न्यू ईयर पर टेस्ट आयोजित किया जा सकता है।

लोरगट ने कहा, “न्यू ईयर टेस्ट आयोजित किया जा सकता है लेकिन यह कब शुरू होगा यह एक मुद्दा है। इसी के बारे में बोर्ड आजकल बात कर रहा है। हम भारत वापस जाना चाहते हैं और उनसे विनती करेंगे कि वे तारीख को मानें जो हम चाहते हैं। हमने उनसे बात करेंगे और देखते हैं कि वे क्या जवाब देते हैं। हमें लगता है कि टेस्ट मैच की शुरुआती तारीख को बरकरार रखा जाए, खासकर मौजूदा समय को देखते हुए जहां हम टेस्ट क्रिकेट को प्रमोट करना चाहते हैं।”

उन्होंने अपनी बात को समाप्त करते हुए कहा, “हमें अंतिम स्थिति में थोड़ी पहले पहुंच जाना चाहिए, क्योंकि हम चाहते हैं कि तारीखों की घोषणा हो जाए।”