Virat Kohli feels there is no better wicketkeeper than MS Dhoni at this time, says Vinod Rai
विराट कोहली, महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images

प्रशासकों की समिति प्रमुख विनोद राय का कहना है कि विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी के बीच तालमेल देखकर उन्हें काफी खुशी हुई। पीटीआई से बातचीत में राय ने कहा, ‘‘उनके बीच बेहतरीन तालमेल है, दोनों एक दूसरे का इतना सम्मान करते हैं। धोनी की क्रिकेट की समझ का विराट सम्मान करते हैं तो खिलाड़ी के तौर पर विराट की उपलब्धियों का धोनी सम्मान करते हैं।’’ राय ने बताया कि विराट मानते हैं कि फिलहाल टीम इंडिया के पास धोनी से बेहतर विकेटकीपर नहीं है।

विराट ने सीओए से कहा कि सीमित ओवरों के क्रिकट में अभी कोई भी धोनी की जगह नहीं ले सकता। राय ने कहा, ‘‘विराट को लगता है कि मौजूद समय में महेंद्र सिंह धोनी से तेज कोई विकेटकीपर नहीं है। साथ ही धोनी का इतने सालों का क्रिकेट अनुभव विराट के लिए अहम है। जहां तक ये बात है कि उनमें कितना क्रिकेट बचा है तो ये तो समय और उनका प्रदर्शन ही बताएगा। ’’

निदाहास ट्रॉफी 2018, फाइनल टी20: बांग्लादेश के खिलाफ खिताबी जीत हासिल करने उतरेगा भारत
निदाहास ट्रॉफी 2018, फाइनल टी20: बांग्लादेश के खिलाफ खिताबी जीत हासिल करने उतरेगा भारत

कोहली-धोनी ने दिया था ए-प्लस कैटेगरी का सुझाव

सीओए प्रमुख विनोद राय ने कहा कि पूर्व भारतीय कप्तान धोनी चाहते थे कि अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों के लिए ‘ए प्लस’ ग्रेड बनाया जाए। 26 क्रिकटरों को सालाना कॉन्ट्रेक्ट दिए गए हैं, जिसमें कप्तान विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन, भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह को सात करोड़ रूपये की राशि वाली ए प्लस कैटेगरी में शामिल कया गया है। धोनी ए ग्रेड में हैं जिसमें सालाना पांच करोड़ रूपये मिलते हैं।

राय ने पीटीआई को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा, ‘‘ए प्लस वर्ग का प्रस्ताव खिलाड़ियों ने ही दिया था। हमने धोनी और विराट से इस कैटेगरी के बारे में चर्चा की थी। उन्होंने प्रस्ताव दिया कि इस स्तर की कैटेगरी होनी चाहिए जिसमें जो खिलाड़ी खेल के सभी तीनों प्रारूपों में खेलते हों, उन्हें शामिल किया जाये।’’ प्रशासकों की समिति के प्रमुख ने कहा कि धोनी और कोहली दोनों ही ए प्लस के रूप में विशेष कैटेगरी चाहते थे जिससे पता चले कि भारतीय टीम में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले कौन से खिलाड़ी हैं। उन्होंने कहा, ‘‘इस ए प्लस वर्ग में खिलाड़ी अंदर या बाहर हो सकते हैं। साथ ही इससे दिखेगा कि सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को प्रदर्शन के हिसाब से रखा जा रहा है। ’’