© IANS
© IANS

वनडे और टी20 में पहले से ही नंबर 1 बल्लेबाज बने बैठे विराट कोहली को हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में जबरदस्त रन बनाने का खूब फायदा हुआ है। उन्होंने टेस्ट रैंकिंग में तीन पायदानों की छलांग लगाते हुए दूसरा स्थान हासिल किया है। गौरतलब है कि कोहली ने दिल्ली टेस्ट में 243 और 50 रनों की पारी खेलते हुए रनों का अंबार लगा दिया था। इसके पहले नागपुर टेस्ट में भी उन्होंने दोहरा शतक लगाया था। कोहली ने पूरी सीरीज में 610 रन बनाए और टीम इंडिया ने सीरीज 1-0 से अपने नाम कर ली।

कोहली की निगाहें तीनों फॉर्मेटों में नंबर 1 बनने पर:

कोहली इस सीरीज के शुरू होने से पहले छठवें नंबर पर थे। उन्होंने इस दौरान डेविड वॉर्नर, चेतेश्वर पुजारा, केन विलियमसन और जो रूट को पीछे छोड़ते हुए नंबर 2 स्थान हासिल किया है। हालांकि, वह पहले नंबर पर काबिज स्टीवन स्मिथ से 45 अंक पीछे हैं। वैसे कोहली के मंसूबे टेस्ट में नंबर 1 बनते हुए तीनों फॉर्मेटों में नंबर 1 बनने के होंगे। स्टीवन स्मिथ के पिछले ही हफ्ते टेस्ट रैंकिंग में कुल 941 अंक हो गए थे। इस तरह से वह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा अंक प्राप्त करने के मामले में संयुक्त रूप से पांचवें नंबर पर पहुंच गए थे। स्मिथ के अब 938 अंक हैं वहीं कोहली के 893 अंक हैं।

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग ही दुनिया के एकमात्र बल्लेबाज हैं जो एक समय में ही तीनों फॉर्मेटों में नंबर 1 रहे हैं। वह दिसंबर-जनवरी 2005-06 में नंबर 1 पर रहे थे। इस टेस्ट के पहले पुजारा दूसरे नंबर पर थे और कोहली पांचवें नंबर पर थे। दोनों के बीच कुल 11 अंकों का अंतर था। लेकिन इस टेस्ट मैच के बाद पांचवीं रैंक पर मौजूदा केन विलियमसन और दूसरे नंबर पर मौजूदा विराट कोहली के बीच 28 अंकों का अंतर हो गया है।

अन्य भारतीय खिलाड़ियों को भी हुआ फायदा:

इसके अलावा भारतीय ओपनर मुरली विजय को 3 पायदानों का फायदा हुआ है और वह 25वें स्थान पर पहुंच गए हैं। वहीं मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज रोहित शर्मा को 6 पायदानों का फायदा हुआ है और वह 40वें नंबर पर पहुंच गए हैं। वहीं श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांदीमल को 8 पायदानों का फायदा हुआ है और वह नौंवें पायदान पर पहुंच गए हैं। उन्होंने सीरीज में 366 रन बनाए हैं और वह 10वें स्थान पर पहुंच गए हैं।

वहीं टीम रैंकिंग की बात करें तो टीम इंडिया को एक अंक का नुकसान हुआ है लेकिन अभी भी वह 124 अंकों के साथ दूसरे नंबर पर बरकरार द. अफ्रीका (111) से बहुत आगे है। वहीं श्रीलंका 94 अंकों के साथ छठवें स्थान पर ही है।