© IANS
© IANS

टीम इंडिया नागपुर टेस्ट में श्रीलंका के साथ दो-दो हाथ कर रही है। जैसा कि पहले दिन की पिच रिपोर्ट में पता चला था कि गेंदबाजों के लिए यह पिच मददगार साबित होगी। वैसा ही हुआ और भारतीय गेंदबाजों ने श्रीलंका को पहली पारी में 205 रनों पर समेट दिया। लेकिन जैसे ही दूसरा दिन शुरू हुआ पिच के मिजाज बदल गए और पिच बल्लेबाजों के लिए आसान हो गई। इसका फायदा भारतीय बल्लेबाजों ने जमकर उठाया और लगातार बड़ी-बड़ी साझेदारियां निभाईं। टेस्ट मैच के दूसरे दिन जहां मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा ने शतक जमाए तो तीसरे दिन विराट कोहली ने दोहरा शतक जमा दिया।

यह उनका टेस्ट क्रिकेट में पांचवां दोहरा शतक है, इस तरह से वह सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने वाले भारतीय कप्तान हैं। जिस पिच पर विजय और पुजारा को तेजी से रन बनाने में दिक्कत आ रही थी वहां विराट कोहली ने बिना किसी परवाह के स्ट्रोक खेले और रन बनाए। दोहरा शतक लगाने के साथ कोहली ने एक बड़ा रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया। दरअसल कोहली दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए हैं जिन्होंने पहला दोहरा शतक लगाने से पांचवां दोहरा शतक लगाने तक सबसे कम दिन लिए हों। पहले यह रिकॉर्ड डॉन ब्रैडमेन के नाम था लेकिन अब कोहली इस मामले में नंबर 1 बन गए हैं।

सर डोनाल्ड ब्रैडमेन ने अपना पहला दोहरा शतक 30 जुलाई 1930 को लगाया था और पांचवां दोहरा शतक 27 नवंबर को 1931 को लगाया था। इस तरह से उन्होंने पांच दोहरे शतक लगाने के लिए 515 रन ले लिए थे। जबकि कोहली ने इस रिकॉर्ड को मुकम्मल करने के लिए 22 जुलाई 2016 से 26 जुलाई 2017 के बीच कुल 492 दिन लिए हैं। इस लिस्ट में राहुल द्रविड़, कुमार संगकारा और वेस्टइंडीज के लीजेंड ब्रायन लारा भी हैं। इस मामले में दूसरे और तीसरे नंबर पर ब्रैडमेन ही हैं। जबकि चौथे नंबर पर संगकारा हैं।