© AFP
© AFP

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि जब दूसरे लोग उनकी टीम की क्षमता पर शक कर रहे थे तब भी उनके खिलाड़ियों को खुद पर विश्वास था और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में जीत इस दृढ़ विश्वास का ही नतीजा है। कोहली और उनकी टीम को पहले दो टेस्ट मैचों में हार के कारण कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ रहा था। विराट ने जोहान्सबर्ग टेस्ट में भारत की 63 रन की जीत के बाद कहा, ‘‘बहुत से लोग हम पर विश्वास नहीं कर रहे थे लेकिन एक टीम के रूप में हम जानते थे कि पहले दो टेस्ट मैचों में हम जीत के काफी करीब थे। हम जानते थे कि अगर हम दबाव में अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो जीत दर्ज करने में सफल रहेंगे। ’’

कोहली ने कहा, ‘‘और हमने इस टेस्ट मैच में ऐसा कर दिखाया। ये जीत हमारे और भारतीय टीम के लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण है। हम इस मैच को जीतने के लिये प्रतिबद्ध थे। ’’ कोहली ने कहा कि हार के बावजूद उनकी टीम ने खुद पर भरोसा बनाये रखा और अपना हौसला कायम रखा। उन्होंने कहा, ‘‘हम बाहरी लोगों की तरह नहीं सोचते। जब चीजें अनुकूल नहीं होती है तो टीम के रूप में हम यह नहीं कहते कि हमें ऐसा कुछ करना चाहिए, हमें वैसा करना चाहिए। ये सबसे आसान काम होता है। मैं कह सकता हूं कि या किसी के बारे में कुछ भी लिख सकता हूं। ’’

सुरेश रैना की टीम इंडिया में वापसी, द.अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज में खेलेंगे
सुरेश रैना की टीम इंडिया में वापसी, द.अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज में खेलेंगे

कोहली ने कहा, ‘‘लेकिन हम एक टीम के रूप में खुद पर भरोसा बनाये रखते हैं और इस दौरे में शुरू से हमने ऐसा किया। पहले दो टेस्ट मैचों में चीजें अनुकूल नहीं रही और इससे हम निराश थे लेकिन हमें इस कोशिश पर वास्तव में गर्व है। ’’ कोहली ने कहा कि तीसरे टेस्ट मैच में जीत उनकी टीम के लिये मील का पत्थर साबित होगी तथा इससे आने वाली सीरीज में विपरीत परिस्थितियों में अधिक टेस्ट मैच जीतने में टीम को मदद मिलेगी।