वॉशिंगटन सुंदर © AFP
वॉशिंगटन सुंदर © AFP

रणजी ट्रॉफी में करियर का पहला शतक लगाने के बाद युवा ऑलराउंडर खिलाड़ी वॉशिंगटन सुंदर टीम इंडिया में जगह बनाने के लिए कमर कस रहे हैं। एनडीवी में छपी खबर के मुताबिक सुंदर अब ‘यो-यो टेस्ट’ पास करने की तैयारी कर रहे हैं। सुंदर को उम्मीद है कि आने वाले समय में वो इस टेस्ट को जरूर पास कर लेंगे। हालांकि बेंगलुरू में सुंदर ने ‘यो-यो’ टेस्ट दिया लेकिन वो इसमें फेल हो गए। सुंदर ने कहा, ”अगर अनसीए से मुझे दोबारा फोन आता है या फिर मुझे टेस्ट के लिए बुलाया जाता है तो मैं इस टेस्ट को हर हाल में देना चाहूंगा। मुझे पूरी उम्मीद है कि आने वाले समय में मैं इस टेस्ट को जरूर पास कर लूंगा।”

सुंदर ने पहली बार जब ‘यो-यो’ टेस्ट दिया तो वो इसे पास करने में सफल नहीं हो पाए। इसपर सुंदर ने कहा, ”मुझे ज्यादा कुछ पता नहीं था। मैं इस टेस्ट को देने चला गया। टेस्ट देकर मैं घर आ गया था और अगले दिन अखबार में मैंने पढ़ा कि मैं उस टेस्ट को पास करने में असफल रहा।” रणजी ट्रॉफी में सुंदर ने बेहतरीन बल्लेबाजी की और ग्रुप सी मैच के दूसरे दिन त्रिपुरा के खिलाफ 223 गेंद में 14 चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 156 रनों की पारी खेली। ये भी पढ़ें: फुटबॉल के मैदान पर दिखा एम एस धोनी का ‘जादू’, फैंस हो गए ‘बेकाबू’

सुंदर ने इससे पहले आईपीएल-2017 में भी अपने प्रदर्श से सभी को प्रभावित किया था। सुंदर ने आईपीएल-2017 में राइजिंग पुणे सपरजायंट की तरफ से खेलते हुए 11 मैचों में 23.12 की औसत और 6.16 के एकॉनमी से 8 विकेट हासिल किए थे। सुंदर की गेंदों पर रन बनाना बड़े से बड़े बल्लेबाजों के लिए चुनौती नजर आ रहा था। आपको बता दें कि अब भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए ‘यो-यो’ टेस्ट जरूरी कर दिया गया है और अगर किसी भी खिलाड़ी को टीम इंडिया में जगह बनानी है तो इस टेस्ट को हर हाल में पास करना होगा।