Watch: Sachin Tendulkar plays late night cricket on Mumbai streets
सचिन तेंदुलकर। © Getty Images

क्रिकेट के भगवान माने जाने वाले सचिन तेंदुलकर अपने समय में जितने बड़े खिलाड़ी थे, असल जिंदगी में वो उतने ही अच्‍छे इंसान भी हैं। वो दुनिया के एक लौते ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्‍होंने क्रिकेट के इतिहास में शतकों का शतक लगाया है। मौजूदा समय में उनके इस रिकॉर्ड के आसपास पहुंचता कोई भी खिलाड़ी नजर नहीं आता। हालांकि विराट कोहली की कम उम्र और अच्‍छे प्रदर्शन को देखते हुए क्रिकेट फैन्‍स उनसे शतकों का शतक लगाने की उम्‍मीद जरूर रखते हैं।

फैंस ने कहा, 'चेन्नई को याद ना करें धोनी! सारा भारत आपका है'
फैंस ने कहा, 'चेन्नई को याद ना करें धोनी! सारा भारत आपका है'

एक समय था जब सचिन का नाम जुबां पर आता था तो फैन्‍स उनके जिग्री दोस्‍त विनोद कांबली को भी जरूर याद करते थे। दोनों की दोस्‍ती जगजाहिर है। दोनों ने स्‍कूल क्रिकेट से ही एक साथ क्रिकेट शुरू किया था। साल 1988 में इंटर स्‍कूल लेवल पर जब दोनों ने हैरिस शिल्ड टूर्नामेंट के सेमिफाइनल में एक साथ मिलकर 664 रन बनाए तो वो पहली बार दुनियां की नजरों में आए। जिसके बाद दोनों ने एक साथ अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट भी खेला। हालांकि सचिन अपने करियर में लगातार नई बुलंदियों को छूते चले गए और कांबली पीछे छूट गए, लेकिन दोनों की दोस्‍ती कायम रही।

विनोद कांबिली ने एक टीवी इंटरव्‍यू के दौरान कहा था सचिन अगर चाहते और मदद करते तो उनका करियर आगे जा सकता था, लेकिन उन्‍होंने बुरे वक्‍त में मदद नहीं की। जिसके बाद दोनों के बीच में दूरियां आ गई थी। हाल ही में मुंबई कि क्रिकेट लीग के दौरान विनोद कांबली ने प्रजेंटेशन सेरेमनी के दौरान सचिन तेंदुलकर के पैर छुए  तो ऐसा लगा मानों दोनों के बीच दूरियां एक बार फिर खत्‍म हो गई हों।

हाल ही में विनोद कांबली ने अपने ट्विटर हैंडल पर सचिन तेंदुलकर का एक वीडियो ट्विट किया। 28 सैकेंड के इस वीडियो में सचिन को देर रात को मुंबई में सड़क किनारे बच्‍चों के साथ क्रिकेट खेलते हुए दिखया गया है। पीछे से सड़क पर ट्रैफिक आ रहा है और सचिन अपनी ही धुन में युवाओं के साथ एक दम युवा बनते हुए क्रिकेट खेल रहे हैं। विनोद कोंबली ने नीचे लिखा, ” मास्‍टर ब्‍लास्‍टर तुम्‍हें वापस पुराने समय की तरह इंज्‍वाय करते हुए देखकर अच्‍छा लग रहा है।”