we can’t say today whether Virat Kohli’s decision of not playing county in England was right or wrong, says Alec Stewart
Virat Kohli (File Photo) © AFP

विराट कोहली आईपीएल के बाद गर्दन की चोट के कारण सरे के लिए काउंटी में नहीं खेल सके थे लेकिन इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और काउंटी के क्रिकेट निदेशक एलेक स्टीवर्ट का कहना है कि आराम से भारतीय कप्तान को कितनी मदद मिली है इसका पता टेस्ट सीरीज के अंत में चलेगा।

फखर जमां ने तोड़ा 38 साल पुराना रिकॉर्ड, बनाया सबसे तेज 1000 रन
फखर जमां ने तोड़ा 38 साल पुराना रिकॉर्ड, बनाया सबसे तेज 1000 रन

दिलचस्प बात है कि स्टीवर्ट ने कोहली को पहला काउंटी अनुबंध दिलाने में अहम भूमिका अदा की थी जिसमें उन्हें मई और जून के दौरान तीन चार – दिवसीय मैच खेलने थे। लेकिन आईपीएल में गर्दन की चोट के कारण उन्हें आराम की सलाह दी गयी जिससे कोहली सरे के लिए नहीं खेल सके क्योंकि वह ब्रिटेन के ढाई महीने के व्यस्त दौरे के लिए तरोताजा रहना चाहते थे।

स्टीवर्ट से जब यह पूछा गया कि काउंटी में नहीं खेलने से उन्हें टेस्ट मैचों में मदद मिलेगी या नहीं तो उन्होंने कहा , ‘‘विराट ने इंग्लैंड में कुछ सीमित टेस्ट मैच ही खेले हैं और उनका रिकॉर्ड भी इतना शानदार नहीं है जैसा कि दुनिया में हर अन्य जगह का है। इसलिए वही जवाब दे सकता है कि इस आराम से उसे ज्यादा मिला है या नहीं और हम इस सीरीज के अंत में इसके बारे में जान पाएंगे।’’

स्टीवर्ट का मानना है कि अगर कोहली फिट होते और वह काउंटी में खेलते तो यह दोनों के लिए फायदेमंद रहता। मेरी कोहली से बात हुई थी , हमने उन्हें बताया कि हम उन्हें मई के महीने में सरे के लिए खिलाने के इच्छुक हैं और उसने भी बताया कि वह भी यहां आना चाहता है। इससे सरे की मदद होती और निश्चित रूप से इससे विराट को भी फायदा मिलता। लेकिन हालात ऐसे हो गए थे क्योंकि गर्दन की चोट के कारण उसे अंतिम क्षण में हटना पड़ा। ’’