We get to bottom of fixing allegations says ICC CEO Richardson
ICC CEO Dave Richardson © Getty Images

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने कहा कि वह स्टिंग आपरेशन के जरिये टेस्ट मैचों में ‘स्पॉट फिक्सिंग’ और ‘पिच फिक्सिंग’ का दावा करने वाले चैनल के प्रतिनिधियों से मिलेंगे और स्पष्ट किया कि इन आरोपों को नजरअंदाज नहीं किया जाएगा।

कुक की टीम को चेतावनी, प्रदर्शन सुधारो या क्रिकेट छोड़ दो !
कुक की टीम को चेतावनी, प्रदर्शन सुधारो या क्रिकेट छोड़ दो !

कतर स्थित अल जजीरा चैनल ने दावा किया कि भारत, श्रीलंका, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड से जुड़े मैचों के दौरान मैच फिक्सरों के कहने पर पिच के साथ छेड़छाड़ की गई थी। जिन मैचों पर सवाल उठाया गया है उनमें भारत बनाम श्रीलंका (गॉल, 26 से 29 जुलाई 2017), भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (रांची, 16 से 20 मार्च, 2017) और भारत बनाम इंग्लैंड (चेन्नई, 16 से 20 दिसंबर 2016) शामिल हैं।

आईसीसी ने जांच शुरू करते समय कहा था कि यह समाचार चैनल स्टिंग के असंपादित फुटेज को साझा करने से इन्कार कर रहा है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बोर्ड ने भी इन दावों को दोहराया था। आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेव रिचर्डसन ने कहा कि वे जल्द ही अल जजीरा के अधिकारियों से मिलेंगे।

‘द इंडिपेंडेंट’ के अनुसार रिचर्डसन ने कहा, ‘‘जब भी लोग क्रिकेट में फिक्सिंग की बात करते हैं तो मुझे चिंता होती है। मैं ऐसे आरोपों से थोड़ा परेशान हो जाता हूं कि हम इसे नजरअंदाज करने की कोशिश करेंगे या ऐसा अहसास दिलाएंगे जैसा कि कुछ हुआ ही नहीं हो।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए हम इस पूरी जांच करेंगे। हम अगले दो दिनों में उनसे (अल जजीरा) मुलाकात करेंगे।’’