Wicketkeeper batsman Wriddhiman Saha back in India after surgery in Manchester
Wriddhiman Saha (File Photo) © IANS

मैनचेस्टर में कंधे के आपरेशन के बाद स्वदेश लौटे विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा ने कहा है कि चोट से उबरने के दौरान का समय तेज गेंदबाजों का सामना करने से अधिक मुश्किल होता है। साहा के दायें हाथ में कोहनी के नीचे काफी अधिक पट्टियां बंधी हैं। मैनचेस्टर के आर्म क्लीनिक में सर्जरी के बाद वह आज सुबह भारत लौटे।

बेन स्‍टोक्‍स ने लॉड्स टेस्‍ट से डेब्‍यू कर रहे ओली पोप को दी शुभकामनाएं
बेन स्‍टोक्‍स ने लॉड्स टेस्‍ट से डेब्‍यू कर रहे ओली पोप को दी शुभकामनाएं

चोट का सामना करना तेज गेंदबाज से डील करने से भी मुश्किल

तीन हफ्ते के अनिवार्य आराम के बाद साहा बेंगलुरू में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में रिहैबिलिटेशन शुरू करेंगे। साहा ने कहा, ‘‘यह काफी मुश्किल है। आप हाथ को हिला नहीं सकते और मुझे इसे एक ही स्थिति में रखना है। यह तेज गेंदबाजों का सामना करने से अधिक मुश्किल है, लेकिन यह आगे बढ़ने और वापसी करने का एकमात्र तरीका है। मुझे यह करना ही होगा। ’’

ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर साहा को वापसी की उम्‍मीदें

साहा की नजरें अब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज पर टिकी हैं जो छह दिसंबर से शुरू होगी। उन्होंने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए अब भी काफी समय बचा है। देखते हैं क्या होता है। चोटें खिलाड़ी के करियर का हिस्सा होती हैं, लेकिन किसी को भी चोटों के साथ नहीं खेलना चाहिए। सामान्यत: 55 प्रतिशत मामलों में चोट ठीक होने के बाद दोबारा नहीं उभरती। यह सब इस पर निर्भर करता है कि मैं कैसे उबरता हूं। मैं जल्दबाजी नहीं करना चाहता। मैं धीरे धीरे आगे बढ़ना चाहता हूं जिससे कि यह बढ़े नहीं।’’