Yuvraj Singh: Will take a call on my career after 2019
Yuvraj Singh © IANS

एक समय में भारतीय मिडल आडर की जान माने जाने वाले विस्‍फोटक बल्‍लेबाज युवराज सिंह लंबे समय से टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं। क्रिकेट के दिग्‍गजों की माने तो युवराज का अंतरराष्‍ट्रीय करियर अब लगभग समाप्‍त हो चुका है। युवराज आखिरी बार जून 2017 में अंतरराष्‍ट्रीय मैच खेलते हुए नजर आए थे। भले ही लोग कुछ कहें, लेकिन युवराज सिंह का मानना है कि उनके अंदर अभी भी काफी क्रिकेट बचा है। वो साल 2019 तक क्रिकेट खेल सकते हैं। उसके बाद ही वो रिटायरमेंट को लेकर कोई निर्णय लेंगे।

मनाको में न्‍यूज एजेंसी पीटीआई से बातचीत के दौरान युवराज ने कहा, ”मै फिलहाल अप्रैल में शुरू हो रहे आईपीएल सीजन पर फोकस कर रहा हूं। ये मेरे लिए बेहद अहम टूर्नामेंट है क्‍योंकि इसमें अच्‍छे प्रदर्शन के करण ही मै 2019 तक अपने क्रिकेट करियर को लेजा सकता हूं। मैं 2019 तक खेलना चाहता हूं। 2019 के बाद ही में क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने पर विचार करुंगा।”

युवराज सिंह ने अगले साल होने वाले विश्‍वकप के लिए खेलने की आस नहीं छोड़ी है। भारतीय टीम में मौजूदा समय में मध्‍यक्रम में जगह बनाने के लिए कई युवा खिलाड़ी दावेदारी पेश कर रहे हैं। ऐसे स्थिति में युवराज के लिए टीम में जगह बना पाना टेढ़ी खीर साबित होगा। युवराज 2011 के वर्ल्‍डकप की टीम का हिस्‍सा थे। उन्‍होंने उस वक्‍त टीम के लिए महत्‍वपूर्ण योगदान दिया था, लेकिन कैंसर की बीमारी से उबर कर आने के बाद से ही वो टीम में अपनी स्‍थाई जगह नहीं बना पाए हैं।

युवराज सिंह ने कहा, “पहले 6-7 सालों के दौरान जब मैं अपने करियर के शिखर पर था तो ज्‍यादा मौके नहीं मिले क्‍योंकि मुझसे काफी अच्‍छे खिलाड़ी पहले ही टेस्‍ट टीम में थे। जब मुझे मौक मिला तो मैं कैंसर का शिकार हो गया। इस बात का दुख हमेशा मेरे मन में रहेगा कि मै टेस्‍ट टीम में कभी अपनी स्‍थाई जगह नहीं बना पाया।”