Zaheer Khan: Team India has strong bench strength in fast bowling department
Ishant sharma and Umesh yadav © Getty Images

पूर्व तेज गेंदबाज जहीर खान  का मानना है कि भारत के पास चोटिल तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की गैरमौजूदगी की भरपाई करने के लिए मजबूत विकल्प (बेंच स्ट्रैंथ) मौजूद हैं। ये दोनों तेज गेंदबाज इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की आगामी टेस्ट सीरीज के कुछ मैचों में नहीं खेल पाएंगे।

'टेस्‍ट सीरीज में अहम भूमिका निभा सकते थे भुवनेश्‍वर कुमार'
'टेस्‍ट सीरीज में अहम भूमिका निभा सकते थे भुवनेश्‍वर कुमार'

भारतीय चयनकर्ताओं ने पहले तीन टेस्ट के लिए बुमराह, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव और शारदुल ठाकुर को टीम में शामिल किया है।

ऑलराउंडर हार्दिक पांडया भी टीम में शामिल हैं।

बीसीसीआई ने सूचित किया है कि वनडे इंटरनेशनल मैचों के दौरान अनफिट बुमराह दूसरे टेस्ट से चयन के लिए उपलब्ध होंगे।

पांच मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट एक अगस्त से बर्मिंघम में खेला जाएगा।

जहीर ने आज यहां कहा, ‘ बुमराह पहले कुछ मैचों के दौरान चोटिल रहेंगे और भुवनेश्वर कुमार को भी चोट लगी है जो आगामी सत्र को देखते हुए चिंता की बात है। लेकिन मेरा मानना है कि इनकी चोटों के बावजूद पांच मैचों की सीरीज लंबी है।’

उमेश और इशांत को आगे बढ़कर अगुवाई करनी होगी

जहीर खान ने कहा, ‘ मेरा मानना है कि जो भी गेंदबाज खेले- जैसे उमेश (यादव) अच्छा कर रहे हैं, इशांत सीनियर गेंदबाज हैं और उन्‍हे आगे बढ़कर अगुआई करनी होगी और मोहम्मद शमी का रिकॉर्ड अच्छा है। मेरा मानना है कि उनकी (भुवनेश्वर और जसप्रीत) कमी खलेगी लेकिन इसके बावजूद भारत की बेंच स्ट्रैंथ काफी मजबूत है।’

बाएं हाथ का ये पूर्व तेज गेंदबाज यहां तीन रेस की कनाकिया मानसून मैराथन चैलेंज को हरी झंडी दिखाने के बाद संवाददाताओं से बात कर रहे थे।

जहीर महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के इस नजरिए से सहमत हैं कि पिछले कई वर्षों में यह भारत का सबसे पूर्ण और संतुलित तेज गेंदबाजी आक्रमण है।

उन्होंने कहा, ‘ हां बेशक। अगर आप शैली देखो, प्रत्येक गेंदबाज की शैली, आप कह सकते हो कि यह पूर्ण आक्रमण है क्योंकि विभिन्न हालात में विभिन्न गेंदबाज अधिक प्रभावित करते हैं।’