india-post-last-wicket

चेन्नई। बल्लेबाजों के बाद गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर भारत ने एम. ए. चिदंबरम स्टेडियम में खेले गए पांचवें टेस्ट मैच के पांचवें दिन मंगलवार को इंग्लैंड को पारी और 75 रनों से हरा दिया। इसी के साथ उसने पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला पर 4-0 से अपना कब्जा जमाया। रवींद्र जडेजा (48/7) के करियर के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के बल पर भारत ने पहली पारी के आधार पर 282 रनों से पीछे चल रही इंग्लैंड की दूसरी पारी 207 रनों पर समेट दी। इंग्लैंड ने पहली पारी में 477 रन बनाए थे। इसके जवाब में भारत ने लोकेश राहुल 199 के बाद करुण नायर की नाबाद 303 रनों की नायाब पारियों की बदौलत अपनी पहली पारी सात विकेट पर 759 रनों पर घोषित की।

root

जडेजा ने इस श्रृंखला में पहली बार पांच या उससे अधिक विकेट लेने का कारनामा किया। उन्होंने पहली पारी में भी तीन विकेट लिए थे। भारत के लिए तिहरा शतक बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने नायर को मैन ऑफ द मैच चुना गया। वह अपने पहले शतक के तौर पर तिहरा शतक लगाने वाले दुनिया के तीसरे और भारत के पहले बल्लेबाज भी बने। श्रृंखला में दो शतक और दो अर्धशतक लगाने वाले भारतीय कप्तान विराट कोहली को प्लेयर ऑफ द सीरीज का खिताब मिला।

joe-roots-wicket

भारत ने चौथे दिन तीसरे सत्र का खेल खत्म होने से कुछ देर पहले ही अपनी पारी घोषित की थी। इंग्लैंड ने इसके बाद बिना कोई विकेट गंवाए 12 रन बनाए थे। अंतिम दिन उसके सभी विकेट बचे हुए थे और लग रहा था कि वह मैच ड्रॉ करा लेगी। दिन के पहले सत्र में भी उसने 97 रनों के स्कोर तक कोई विकेट नहीं गंवाया था और ड्रॉ की उम्मीदें जिंदा रखी थीं। लेकिन दूसरे सत्र में चार विकेट लेकर भारत ने मैच में वापसी की, और अंतिम सत्र में मेजबानों ने बाकी छह विकेट चटकाते हुए इंग्लैंड के ड्रॉ के मंसूबों पर पानी फेर दिया।

keaton-jennings-and-alastair-cook

इंग्लैंड दूसरे सत्र में अपने खाते में छह रन ही जोड़ पाई थी तभी जडेजा ने कप्तान एलिस्टर कुक (49) को एक बार फिर शिकार बनाया। कुक इस श्रृंखला में छठी बार जडेजा का शिकार बने। जडेजा किसी एक सीरीज में कुक को सबसे अधिक बार आउट करने वाले गेंदबाज बन गए हैं। जडेजा ने 110 रनों के कुल स्कोर पर केटान जेनिंग्स (54) को भी अपना शिकार बना इंग्लैंड को एक और झटका दे दिया। जडेजा ने जोए रूट (6) को पगबाधा आउट कर इंग्लैंड की पेरशानी को और बढ़ा दिया। रूट 126 के कुल स्कोर पर आउट हुए। तीन रन बाद ईशांत ने जॉनी बेयरस्टो को जडेजा के हाथों कैच करा अपनी टीम को चौथी सफलता दिलाई।

virat-kohli-and-co

लेकिन इसके बाद मोइन अली (44) और बेन स्टोक्स (23) ने पांचवें विकेट के लिए 63 रनों की साझेदारी कर इंग्लैंड की ड्रॉ की उम्मीदों को फिर से जगा दिया। लेकिन जडेजा इंग्लैंड के लिए काल बन कर आए और तीसरे सत्र में अली का विकेट लेकर भारत को जीत के करीब ले गए। अमित मिश्रा ने लियॉम डॉसन को शून्य और उमेश यादव ने आदिल राशिद (2) का विकेट लेकर भारत को जीत के और करीब पहुंचा दिया। जोस बटलर (नाबाद 6) दूसरे छोर पर खड़े रहे और जडेजा ने एक छोर से स्टुअर्ट ब्रॉड (1) और जैक बॉल को पवेलियन भेज भारत को इस श्रृंखला में लगातार चौथी जीत दिलाई।

virat-kohli-with-the-series-trophy-and-man-of-the-match-cup

जडेजा के अलावा भारत की तरफ से इस पारी में ईशांत, उमेश और अमित मिश्रा एक-एक विकेट लेने में सफल रहे, लेकिन रवीचंद्रन अश्विन को एक भी सफलता नहीं मिली। अश्विन इस मैच में सिर्फ एक विकेट ले पाए। इंग्लैंड ने पहली पारी में अली (146), रूट (88), जॉनी बेयरस्टो (49), डॉसन (नाबाद 66) और राशिद (60) की बदौलत 477 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा किया था, जिसके जवाब में भारत ने राहुल के बाद नायर की रिकॉर्ड पारियों की बदौलत पहाड़ जैसा स्कोर कर बढ़त हासिल की।

chepauk-stadium

भारत ने जहां टेस्ट इतिहास में एक पारी में अपना सर्वोच्च स्कोर का कीर्तिमान बनाया, वहीं इंग्लैंड के खिलाफ भी यह किसी भी टीम द्वारा खड़ा किया गया सर्वोच्च स्कोर रहा। भारत के लिए राहुल और नायर के अलावा पार्थिव पटेल (71), रविचंद्रन अश्विन (67) और रवींद्र जडेजा (51) ने उपयोगी पारियां खेलीं। पांच मैचों की श्रृंखला का राजकोट में खेला गया पहला टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था। लेकिन इसके बाद विशाखापट्नम, मोहाली और मुंबई में खेले गए तीन टेस्ट मैच जीत कर भारत ने पहले ही श्रृंखला अपने नाम कर ली थी।