© Getty Images
© Getty Images

श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज कल से शुरू हो रही है। इस सीरीज में टीम इंडिया की कप्तानी रोहित शर्मा करेंगे क्योंकि नियमित कप्तान विराट कोहली को आराम दिया गया है। इसके पहले रोहित ने कभी भी टीम इंडिया की कप्तानी नहीं की है। इस लिहाज से वह कैसे अपनी रणनीतियों को लागू करते हैं ये देखना खासा दिलचस्प होगा। रोहित आईपीएल में मुंबई इंडियंस की कप्तानी करते हैं और इस दौरान वह खासे सफल भी रहे हैं। हाल ही में एक इंटरव्यू में टीम के स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र चहल ने कहा कि रोहित कोहली की ही तरह आक्रामक हैं और दोनों में जीत को लेकर बराबर भूंख है। जब रोहित श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में बतौर कप्तान उतरेंगे तो उनके सामने 4 बड़ी चुनौतियां होंगी। कौन हैं ये चुनौतियां आइए नजर डालते हैं।

1. मिडिल ऑर्डर पर देना होगा ध्यान: विराट कोहली की गैर मौजूदगी में टीम इंडिया के मिडिल ऑर्डर को दुरुस्त करना बहुत जरूरी हो जाता है क्योंकि हमने अक्सर देखा है कि टीम इंडिया के विकेट एकदम से गिरने लगते हैं। ऐसे में रोहित को इस बारे में अच्छे से सोच विचारकर निर्णय लेना होगा कि किसे नंबर 3 पर बल्लेबाजी के लिए उतारा जाए। वैसे अजिंक्य रहाणे तीन नंबर के लिए परफेक्ट साबित हो सकते हैं क्योंकि उन्होंने हाल फिलहाल में ओपनिंग में बल्लेबाजी करते हुए वनडे क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया है। वैसे इस पोजीशन पर श्रेयस अय्यर भी अपनी दावेदारी पेश करेंगे जो घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने के बाद टीम इंडिया में शामिल हुए हैं।

2. एमएस धोनी को किस नंबर पर उतारेंगे?: एमएस धोनी को किस नंबर पर उतारा जाए इसको लेकर पिछले कुछ समय से लगातार चर्चा चल रही है। धोनी अक्सर निचले क्रम में बल्लेबाजी करने के लिए आते हैं। लेकिन रोहित शर्मा अगर धोनी का अच्छा फायदा उठाना चाहते हैं तो उन्हें पर्मानेंट इस सीरीज में पांचवें नंबर पर उतारना चाहिए तभी बात बन पाएगी। वहीं चौथे नंबर पर दिनेश कार्तिक अपनी जिम्मेदारी संभालने लिए तैयार होंगे। उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में इस पोजीशन पर कमाल की बल्लेबाजी की थी।

3. स्पिनर्स में किसको चुनेंगे?: वनडे सीरीज के लिए टीम इंडिया में कुलदीप यादव, अक्षर पटेल और युजवेंद्र चहल के रूप में तीन स्पिनर हैं। टीम इंडिया हर मैच में 2 स्पिनरों को लेकर उतरेगी। ये तीनों स्पिनर ही अबतक बेहतरीन रहे हैं। लेकिन कोहली ने इन गेंदबाजों को परिस्थिति के हिसाब से टीम में खिलाया है। ऐसे में रोहित इन्हें टीम में किस आधार पर जगह देंगे। यह देखना खासा दिलचस्प होगा।

4. कप्तानी और बल्लेबाजी में बिठाना होगा बैलेंस: इतिहास में कई ऐसे बल्लेबाज हुए हैं जो कप्तान बनते ही अपनी बल्लेबाजी में फीके पड़ गए। रोहित को इस बात का ध्यान देना होगा और कप्तानी का अतिरिक्त दबाव न लेते हुए कोहली की तरह और भी बेहतरीन बल्लेबाजी करनी होगी।