ऑस्ट्रेलियाई टीम © Getty Images
ऑस्ट्रेलियाई टीम © Getty Images

बांग्लादेश से पहला टेस्ट 20 रन से गंवाने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम की जबर्दस्त आलोचना हुई थी। ऑस्ट्रेलिया की घरेलू मीडिया ने अपनी टीम को जमकर कोसा था, लेकिन दूसरे टेस्ट में स्टीवन स्मिथ की सेना ने जीत हासिल कर सभी सवालों और सभी आलोचकों का मुंह बंद कर दिया। ऑस्ट्रेलिया ने चटगांव टेस्ट में 7 विकेट से जीत दर्ज की और इसके साथ ही सीरीज को 1-1 से बराबरी पर भी खत्म किया। दूसरे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को सिर्फ 86 रन का लक्ष्य मिला था जिसे उसने 3 विकेट खोकर हासिल कर लिया। पहली पारी में 72 रन की बढ़त हासिल करने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने बांग्लादेश को दूसरी पारी में सिर्फ 157 रन पर समेट दिया। नाथन लायन ने 6 विकेट अपने नाम किये और ऑस्ट्रेलिया की जीत तय कर दी। ऑस्ट्रेलिया के लिए ये जीत बेहद ही अहम है। आइए जानते हैं ऑस्ट्रेलिया की इस जीत की 5 बड़ी बातें।

© Getty Images
© Getty Images

1. पिछले 24 मुकाबलों में एशिया में तीसरी टेस्ट जीत

ऑस्ट्रेलिया की बांग्लादेश के खिलाफ ये जीत बेहद ही खास है क्योंकि उसे एशियाई सरजमीं पर जीत हासिल करने में अकसर दिक्कत होती है। पिछले 24 टेस्ट में ये ऑस्ट्रेलिया की एशिया में सिर्फ तीसरी टेस्ट जीत है। इस दौरान उसे 2011 में श्रीलंका, 2017 में टीम इंडिया और अब बांग्लादेश से जीत मिली है। 24 में से 12 टेस्ट ऑस्ट्रेलिया ने गंवाए हैं और 9 टेस्ट ड्रॉ रहे हैं।

© Getty Images
© Getty Images

2. 31 साल बाद एशिया में सीरीज ड्रॉ कराई

ऑस्ट्रेलिया की टीम ने जब भी एशियाई सरजमीं पर कदम रखा तो या तो उसे हार नसीब हुई या तो जीत। ऐसा 31 साल बाद हुआ है कि ऑस्ट्रेलिया की टीम ने एशिया में सीरीज ड्रॉ कराई है। 1986 में टीम इंडिया के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी सीरीज एशिया में ड्रॉ कराई थी। पिछली 4 सीरीज में तो उसे लगातार हार भी मिली। आखिरकार स्टीव स्मिथ की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने सीरीज को ड्ऱॉ करवा लिया।

© Getty Images
© Getty Images

3. विदेश में ऑस्ट्रेलिया की 144वीं टेस्ट जीत

बांग्लादेश को हराते ही ऑस्ट्रेलया ने विदेशी सरजमीं पर अपनी 144वीं टेस्ट जीत हासिल की। ऑस्ट्रेलिया ने इसके साथ ही विदेश में सबसे ज्यादा जीत हासिल करने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। ये रिकॉर्ड इंग्लैंड के नाम है जिसने विदेश में 482 टेस्ट मैच खेले हैं। वहीं कंगारू टीम ने 144 टेस्ट जीत 393 टेस्ट मैचों में हासिल की है।

© Getty Images
© Getty Images

4. 13 साल बाद छक्का लगाकर जीत दिलाई

चटगांव टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल ने शानदार छक्का लगाकर अपनी टीम को जीत दिलाई। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 13 साल बाद छक्का लगाकर जीत हासिल की है। इससे पहले रिकी पॉन्टिंग ने साल 2004 में पाकिस्तान के खिलाफ छक्का जड़कर कंगारू टीम को विजेता बनाया था। ऑस्ट्रेलिया का चटगांव टेस्ट पर कब्जा, सीरीज 1-1 से बराबर

5. स्टीव स्मिथ का दूसरा सबसे कम ‘सर्वश्रेष्ठ स्कोर’

बांग्लादेश के खिलाफ 2 टेस्ट मैच की सीरीज में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ के बल्ले से 2 टेस्ट मैच में 29.75 के औसत से सिर्फ 119 रन निकले और उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 58 रन रहा। स्टीव स्मिथ का ये किसी भी टेस्ट सीरीज में दूसरा सबसे कम सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। 2010 में एशेज के दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर नाबाद 54 रन था। द.अफ्रीका के खिलाफ 2016 मे टेस्ट सीरीज के दौरान भी उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 58 रन रहा था।