पांच क्रिकेटर जो थे सबसे खराब रनर
Photo source: thecricketmonthly.com

क्रिकेट में बल्लेबाज की स्ट्रोक लगाने की स्किल को जितना सराहा जाता है उतना ही विकटों के बीच उसकी दौड़ने की कला को भी सराहा जाता है। विकटों के बीच में दौड़ने की कला भारत के एमएस धोनी को खूब आती है यही कारण है कि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपने ‘रनिंग बिटवीन द विकेट’ के झंडे खूब गाड़े हैं। क्रिकेट के इतिहास पर अगर सरसरी निगाह दौड़ाएं तो पता चलता है कि ऐसे कई क्रिकेटर हुए हैं जिन्होंने अपनी खराब ‘रनिंग बिटवीन द विकेट’ के कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। आज हम आपको 5 ऐसे खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो विकटों के बीच सबसे खराब रनर रहे।

5. इंजमाम उल हक, पाकिस्तान:

5 cricket's bad runners
Photo Source: ESPN Cricinfo

पाकिस्तान के सबसे सफल बल्लेबाजों में से इंजमाम उल हक विकटों के बीच सबसे खराब रनरों में से एक हैं। 350 वनडे खेलने वाले इंजमाम के नाम वनडे में 11,739 रन हैं। लेकिन इस बीच वह कुल 38 बार रन आउट हुए हैं। कई बार तो ऐसे अंदाज में वह रन आउट हुए कि क्रिकेटप्रेमी इस बात पर विश्वास भी नहीं कर पाते थे कि क्या वास्तव में इंजमाम रन आउट हो गए। आलय ये था कि कमेंटेटर के मुंह से ये वाक्य लगभग हर समय निकलने वाला डायलॉग बन गया था, “तो एक बार फिर से इंजमाम रन आउट होते हुए”। इंजमाम ने पाकिस्तान के लिए 15 सालों से ज्यादा समय तक क्रिकेट खेली। [ये भी पढ़ें: ]

4. अर्जुन रणतुंगा:

5 cricket's bad runners
फोटो साभार: www.smh.com.au

जब श्रीलंका ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली तो रणतुंगा की साख एक खराब रनर के रूप में उभरकर सामने आई। इसी बीच जब एक मैच में रणतुंगा ने रनर मांगने की गुजारिश की तो ऑस्ट्रेलिया के इयान हिली विकटों के पीछे से बोले कि तुम्हें ज्यादा वजनी होने की वजह से रनर नहीं मिलेगा, अनफिट मोटे। उस समय तो रणतुंगा की रिक्वेस्ट को अंपायर ने ठुकरा दिया लेकिन एक ओवर के बाद रणतुंगा के रनर के रूप में जयसूर्या मैदान में चहलकदमी करते नजर आए।

हालांकि, इसके बावजूद श्रीलंका वह मैच 9 रनों से हार गई। हिली ने बाद में इस संबंध में कहा था, “मैंने देखा था कि उसके पैर में फिजियो कुछ नहीं कर रहा था। उसके बाद सनथ जयसूर्या पैड-अप करने लगे, जो दुनिया के सबसे बेहतरीन रनरों में से एक हैं और वह सबसे धीमे व्यक्ति का रनर बनने वाले थे। वह सिर्फ बहाना बना रहा था बल्कि उसे कोई भी चोट नहीं लगी थी। वह उस समय 9 रनों पर नॉट आउट था और उसने कह दिया कि उसे शरीर में खिंचाव महसूस हो रहा है।” रणतुंगा ने श्रीलंका के लिए 255 वनडे मैच खेले हैं जिनमें से वह 30 बार रन आउट हुए हैं।

3. वसीम अकरम:

5 cricket's bad runners
फोटो साभार: www.theringsideview.com

वनडे में 500 से ज्यादा विकेट अपने नाम करने वाले वसीम अकरम के नाम वनडे में 37 बार रन आउट होने का रिकॉर्ड है। कुल 280 पारियों में बल्लेबाजी करने वाले अकरम का यह रिकॉर्ड अपने आपमें चौंकाने वाला है। 356 वनडे खेलने वाले अकरम का वनडे में रन बनाने का औसत 16.52 का है। अकरम का वनडे में कोई शतक नहीं है। उनके नाम सिर्फ 6 अर्धशतक है और उनका सर्वोच्च स्कोर 86 है।

2. स्टीव वॉ:

5 cricket's bad runners
Photo courtesy: sportskeeda.com

स्टीव वॉ का वनडे करियर लाजवाब रहा। उन्होंने वनडे में 7,569 रन बनाए और इस दौरान उनका सर्वोच्च स्कोर 120 रन था। लेकिन ये भी एक बड़ा तथ्य है कि वह ‘रनिंग बीटवीन द विकेट’ में बेहद खराब थे। वनडे में स्टीव वॉ कुल 27 बार रन आउट हुए और इस दौरान उन्होंने अपने बैटिंग पार्टनर को कुल 50 बार रन आउट करवाया। इस तरह 288 पारियों में बल्लेबाजी करने वाले वॉ ke रन आउट आंकड़ा 288 पर आकर खड़ा होता है। हालांकि वॉ बल्लेबाजी जबरदस्त करते थे और अगर एक बार क्रीज पर जम जाए तो फिर किसी गेंदबाज की मजाल नहीं होती थी कि उन्हें आउट आसानी से कर दे। इसी के चलते वॉ वनडे में कुल 56 मौकों पर नॉट आउट रहे हैं।

1. मर्विन अट्टापट्टू:

5 cricket's bad runners
फोटो साभार: thehimalayantimes.com

मर्विन अट्टापट्टू को श्रीलंका टीम का सबसे धीमा फील्डर माना जाता था। वही हाल उनका बैटिंग में था और दौड़ते वक्त वह हमेशा अपनी धीमी रनिंग से मात खा जाते थे। साल 1990 से 2005 तक वनडे खेलने वाले अट्टापट्टू ने अपने करियर में कुल 230 पारियों में बल्लेबाजी की और इस दौरान वह 37 बार रन आउट हुए। अपने करियर के उफान पर श्रीलंका टीम के कप्तान रहे अट्टापट्टू ने वनडे में 37.57 की औसत से 8529 रन बनाए हैं जिसमें 132 उनका सर्वोच्च स्कोर था। साथ ही उनके नाम 11 शतक और 59 अर्धशतक भी हैं। अट्टापट्टू छक्के बहुत ही कम जड़ते थे और उनके नाम कुल 15 छक्के हैं।