टीम इंडिया © Getty Images
टीम इंडिया © Getty Images

भारतीय टीम इंग्लैंड को टेस्ट सीरीज 4-0 से हराने के बाद जीत के नशे में मदमस्त है। लगभग 26 दिनों के विश्राम के बाद टीम इंडिया 15 जनवरी से इंग्लैंड के ही खिलाफ वनडे सीरीज खेलेगी। गौर करने वाली बात है कि टीम इंडिया जब इंग्लैंड से वनडे सीरीज में भिड़ेगी तो उनका मुकाबला टेस्ट सीरीज से इतर पूरी तरह से बदली हुई टीम से होगा। ऐसे में टीम इंडिया को इंग्लैंड से अतिरिक्त सतर्कता बरतने की जरूरत है। गौर करने वाली बात है कि टीम इंडिया ने अंतिम बार इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज साल 2015 जनवरी में खेली थी। यह एक त्रिकोणीय श्रृंखला थी जिसमें ऑस्ट्रेलिया तीसरी टीम थी। ऑस्ट्रेलिया में आयोजित की गई इस सीरीज में इंग्लैंड और भारत का दो बार आमना- सामना हुआ था और दोनों मौकों पर टीम इंडिया को मुंह की खानी पड़ी थी। चूंकि, टीम इंडिया के कई खिलाड़ी वनडे सीरीज के पहले चोटिल चल रहे हैं। इसी बीच खासतौर पर ओपनिंग जोड़ी को लेकर संशय विद्यमान है। क्योंकि टीम इंडिया के दोनों नियमित ओपनर अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा चोटिल चल रहे हैं। ऐसे में इन दोनों की जगह टीम इंडिया में किन बल्लेबाजों को स्थान दिया जाएगा। रणजी ट्रॉफी का सेमीफाइनल दौर भी खत्म होने वाला है वहीं चयनकर्ता 5 या 6 जनवरी को वनडे और टी20I सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान कर सकते हैं। ऐसे में ओपनिंग के लिए किन बल्लेबाजों को लेकर विचार किया जा सकता है। आइए जानते हैं।

1. रिषभ पंत: रिषभ पंत दिल्ली की ओर से रणजी ट्रॉफी में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने को आते हैं। लेकिन बतौर ओपनिंग बल्लेबाज भी वह कई बार अपनी भूमिका अच्छी तरह से निभा चुके हैं। पिछले साल आयोजित किए गए अंडर- 19 विश्व कप में रिषभ ओपनिंग बल्लेबाजी के लिए आया करते थे। इस टूर्नामेंट में उन्होंने बल्ले से धमाल मचा दिया था। यही कारण रहा कि उन्हें 18 साल की उम्र में ही रणजी ट्रॉफी में पदार्पण का मौका मिल गया। वह एक विकेटकीपर बल्लेबाज हैं और आतिशी बल्लेबाजी तो उनके रग में बसी हुई है। रिषभ ने अब तक कुल 10 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं जिसमें 72 के बेहतरीन औसत के साथ 1080 रन बनाए हैं। इस दौरान उनके नाम चार शतक और तीन अर्धशतक हैं। रिषभ ने इसी सीजन में अक्टूबर 2016 में महाराष्ट्र के खिलाफ तिहरा शतक(308) जड़ा था और क्रिकेट के गलियारों में सनसनी मचा दी थी। इसके बाद उन्होंने झारखंड के खिलाफ 135 और असम के खिलाफ 146 रनों की पारी खेली। वह अच्छे विकेटकीपर भी हैं। चूंकि, टीम इंडिया को पोस्ट धोनी रिटायरमेंट के लिए एक अच्छे विकेटकीपर बल्लेबाज को भी तराशना है। ऐसे में रिषभ पंत से बेहतर विकल्प कोई नहीं हो सकता। गौर करने वाली बात है कि रिषभ बेहद आतिशी अंदाज में बल्लेबाजी करते हैं। इसका अंदाजा आप उनके रणजी ट्रॉफी के स्ट्राइक रेट और छक्कों की संख्या से लगा सकते हैं। रणजी में उन्होंने 102.95 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं वहीं अब तक कुल 53 छक्के जड़ चुके हैं।

2. केएल राहुल: केएल राहुल वर्तमान में टीम इंडिया के प्रतिष्ठित बल्लेबाजों में से एक हैं। राहुल के लिए साल 2016 कुछ मायनों में अच्छा भी रहा और कुछ मायनों में खराब भी। उन्होंने वेस्टइंडीज दौरे पर धमाकेदार बल्लेबाजी की थी जिसमें 158 रनों की पारी लाजवाब थी। इसी दौरान उन्हें जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे सीरीज खेलने का मौका मिला और उन्होंने इस सीरीज में कमाल कर दिया। इस दौरे पर उन्होंने एक अर्धशतक और एक शतक के सहारे तीन वनडे मैचों में 196.0 की औसत से 196 रन बना डाले थे। जिसमें दो मौकों पर वह नाबाद रहे थे। वहीं जब उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 मैचों में मौका दिया गया तो वहां भी उन्होंने कमाल कर दिया। उन्होंने इस दौरान भारत की ओर से टी20I क्रिकेट का सबसे तेज 46 गेंदों में शतक जड़ दिया और अंततः 51 गेंदों में 110 रन बनाकर नाबाद रहे। लेकिन इस दौरे के बाद से ही वह न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर टेस्ट में चोटिल हो गए और लगभग एक महीने तक क्रिकेट से दूर रहे। लेकिन उन्होंने इंग्लैंड सीरीज में फिर से टीम इंडिया में वापसी की और चेन्नई टेस्ट में 199 रन ठोकते हुए अपना दावा फिर से प्रस्तुत कर दिया। ये तो पक्का है कि राहुल आगामी सीरीज में टीम इंडिया का हिस्सा होंगे और ओपनिंग करते नजर आएंगे। [ये भी पढ़ें: मौजूदा भारतीय टीम के पांच खिलाड़ी जिन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ बनाए हैं सबसे ज्यादा रन]

3. शिखर धवन: शिखर धवन पिछले कुछ समय से टी20I और टेस्ट क्रिकेट में अपने खराब प्रदर्शन के कारण टीम से बाहर चल रहे हैं। लेकिन क्या इससे उनकी वनडे क्रिकेट में वापसी की राहें खत्म हो जाती हैं? कतई नहीं, और तब तो और जब टीम के दो फ्रंटलाइन ओपनर चोटिल चल रहे हों। जाहिर है कि इंग्लैंड सीरीज के लिए टीम इंडिया धवन के अनुभवी होने को लेकर दाव खेल जाए। हालांकि, हाल फिलहाल में धवन के बल्ले से रणजी में निकलने वाली सबसे बड़ी पारी 49 रन ही है। लेकिन उन्होंने अपने अंतिम तीन वनडे मैचों में 78, 126 और 68 रनों की पारी खेली थी। जाहिर है कि उन्हें एक स्पेशलिस्ट ओपनर के तौर पर टीम इंडिया में जगह दी जाए।

4. करुण नायर: भारतीय क्रिकेट की सनसनी करुण नायर एक बार फिर से वनडे टीम में जगह बनाने के लिए लाइन में खड़े नजर आ रहे हैं। खासकर चेन्नई टेस्ट में तिहरा शतक जड़ने के बाद। करुण नायर ने साल 2016 में ही जिम्बाब्वे के खिलाफ अपने वनडे करियर का आगाज किया था। हालांकि, वह इस दौरान दो मैचों में खेलते हुए कुछ खास कमाल नहीं कर पाए थे और 7, 39 रन बनाकर आउट हुए थे। लेकिन जिस तरह से उन्होंने तेजतर्रार दोहरा शतक जड़ा है उसे देखते हुए उनकी टीम में जगह पक्की मानी जा रही है। साथ ही वह ओपनिंग पोजीशन के लिए भी दावेदारी प्रस्तुत कर सकते हैं क्योंकि इसके पहले जिम्बाब्वे दौरे में भी वह ओपनिंग करते नजर आए थे।

5. ईशान किशन: भारतीय घरेलू क्रिकेट में आजकल ईशान किशन को लेकर खूब चर्चाएं हो रही हैं। हों भी क्यों न? वह हर दूसरे मैच में जो धमाल मचा रहे हैं। रणजी ट्रॉफी के इस सीजन में वह कुल तीन शतक जड़ चुके हैं। जिसमें 273 उनका सर्वोच्च स्कोर रहा। गत अंडर- 19 विश्व कप में भारतीय टीम के कप्तान रहे किशन पिछले कुछ समय से जबरदस्त फॉर्म में हैं और वह झारखंड की ओर से ओपनिंग करने को आते हैं। ऐसे में आगामी सीरीज के लिए चयनकर्ता उनके नाम पर भी विचार कर सकते हैं।