विराट कोहली के शतक की मदद से भारत ने 300 रनों का पीछा कर जीता मैच। © Getty images
विराट कोहली के शतक की मदद से भारत ने 300 रनों का पीछा कर जीता मैच। © Getty images

विश्व क्रिक्रेट के नियमों में हुए बदलावों के बाद आज कल वनडे को केवल बल्लेबाजों का खेल माना जाने लगा है। 300 रन को स्कोर बनाकर भी कोई टीम अपनी जीत पक्की नहीं मान सकती। लेकिन एक समय ऐसा था जब 250 का स्कोर भी वनडे में बड़ा माना जाता था। ऐसे समय में भी कई बार 300 से ज्यादा का स्कोर का पीछा किया गया है। 300 का स्कोर चेजिंग टीम पर दवाब बनाती है लेकिन अनिश्तिताओं के इस खेल में कई बार 300 से ज्यादा के स्कोर का पीछा कर जीत हासिल की गई हैं। ऐसे ही कुछ बेहतरीन वनडे मैचों के बारें में हम आपकों बताने जा रहे है, जब खेल गेंदबाजों के हाथ से निकलकर पूरी तरह बल्लेबाजों के नाम हो गया था।

1-साउथ अफ्रीका:

 © Getty Images
© Getty Images

विश्व की सबसे बेहतरीन टीमों में से एक साउथ अफ्रीका ने आज तक वनडे विश्वकप नहीं जीता है पर इस टीम ने अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैचों में कई बेहतरीन रिकार्ड बनाए हैं। जिसमें से एक है सबसे तेज 300 से ज्यादा रनों का पीछा करने का। 12 मार्च 2006 को जोहान्सबर्ग में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए वनडे मैच में साउथ अफ्रीका ने ये कारनामा किया था। उस मैच में आस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिग के 164 रनों की शानदार पारी की मदद से आस्ट्रेलिया नें 434 रन बनाए थे। मैच एकतरफा लग रहा था, वनडे में इतना बड़ा स्कोर बनाने के बाद कंगारू टीम को पूरा भरोसा था कि जीत उनकी ही होगी। लेकिन प्रोटीज इतनी जल्दी हार मानने वाले नहीं थे। हर्शेल गिब्स ने अपनी टीम के लिए 111 गेंदों में 175 रनों की पारी खेली और मैच आस्ट्रेलिया के हाथों से छीन लिया। ग्रेम स्मिथ ने भी नाबाद 90 रनों महत्वपूर्ण पारी खेली। साउथ अफ्रीका ने ये रोमांचक मैच 1 गेंद शेष रहते 1 विकेट से जीत लिया था। एकदिवसीय क्रिक्रेट के इतिहास में ये मैच यादगार बन गया। ऐसा पहली बार हुआ था कि किसी वनडे मैच में 800 से ज्यादा रन बनें हो। 8.78 के रन रेट के साथ साउथ अफ्रीका ने वनडे में सबसे तेजी से 300 से ज्यादा रनों का पीछा किया। साउथ अफ्रीका ऐसा करने पहली टीम बन गई।

2-भारत:

©-IANS
©IANS

सबसे तेजी से 300 से ज्यादा रनों का पीछा करने वाली टीमों में भारत का नाम दूसरे स्थान पर है। 28 फरवरी 2012 में श्रीलंका के 320 रनों का पीछा करते हुए भारत ने 8.75 के रन रेट से 321 रन बनाए थे। हाबर्ट में हुए इस मैच में श्रीलंका की तरफ से तिलकरत्ने दिलशान ने 160 और कुमार संगाकारा में 105 रन बनाए थे। जिसकी मदद से श्रीलंका ने 4 विकेट खोकर 50 ओवर में 320 रनों का स्कोर खड़ा किया। जवाब में भारत के चेजिंग मास्टर विराट कोहली ने 86 गेंदो पर 133 रनों की धमाकेदार पारी खेली और 37 ओवर में ही भारत को जीत दिलाई। गौतम गंभीर ने भी 63 रनों की पारी खेली।

3-श्रीलंका:

 © Getty Images
© Getty Images

भारत का पड़ोसी होने के नाते इस सूची में भी श्रीलंका भारत के पड़ोस में ही है। आश्चर्य की बात तो ये है कि श्रीलंका ने भारत के खिलाफ खेलकर इस सूची में अपनी जगह पक्की की है। 15 दिसंबर 2009 को माधवराव सिंधिया क्रिक्रेट ग्राउंड राजकोट में खेले गए इस मैच में भारत ने 50 ओवर में 7 विकेट खोकर 414 रन बनाए थे। भारतीय बल्लेबाजों में से विरेन्द्र सहवाग ने 102 गेंदों में 146 रनों की पारी खेली थी। भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने भी नाबाद 72 बनाए। वहीं मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने 69 रनों की पारी खेली। रनों का पीछा करने उतरी श्रीलंका की टीम 8.22 के रन रेट से 50 ओवर में 411 रन ही बना पाई। श्रीलंका की ओर से तिलकरत्ने दिलशान ने 160 और कुमार संगाकारा ने 90 रनों की बेहतरीन पारी खेली। हालांकि श्रीलंका 3 रनों से ये मैच हार गई पर अच्छी बल्लेबाजी का प्रदर्शन करते हुए सबसे तेजी से 300 से ज्यादा रनों का पीछा करने वाली टीमों में तीसरे स्थान पर आ गई।

4-श्रीलंका:

 © Getty Images
© Getty Images

इस सूची में अगला नाम भी श्रीलंका का ही है। 1 जुलाई 2006 को लीड्स के मैदान पर खेले गए इस मैच में श्रीलंका ने इंग्लैंड को 8 विकेट से हराया था। पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने ओवर में 7 विकेट खोकर 321 रन बनाए। इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज मार्क्स ट्रेसकॉथिक ने 118 गेंदों पर 121 रन बनाकर इंग्लैंड का स्कोर 300 के पार पहुंचाया। श्रीलंका की तरफ से सनत जयसूर्या ने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलते हुए 99 गेंदों में 152 रन बनाकर श्रीलंका को जीत के करीब पहुंचाया। वहीं उपल थरंगा ने उनका साथ देते हुए 109 रनों की शानदार पारी खेली। श्रीलंका ने इस मैच में 8.64 के रन रेट से केवल 2 विकेट खोकर 324 रन बनाए।

5-भारत:

 © Getty Images
© Getty Images

भारत हमेशा से ही रनों का पीछा करने में आगे रहा है, आंकड़ो से भी यही पता चलता है। 300 से ज्यादा रन भारत ने कई बार चेज़ किए हैं। जिसका एक और उदाहरण है 16 अक्टूबर 2013 को सवाई मान सिंह स्टेडियम, जयपुर में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला गया वनडे मैच। इस मैच में आस्ट्रेलिया ने 50 ओवर में 5 विकेट खोकर 359 रन बनाए। आस्ट्रेलिया की ओर से किसी भी बल्लेबाज ने शतक नहीं लगाया था लेकिन कई अच्छी पारियां देखने को मिली। जार्ज बेली मे 92 रन बनाए और फिल ह्यूज ने 83 रनों की बेहतरीन पारी खेली। इसके जवाब में भारत की ओर से रोहित शर्मा ने सर्वाधिक 141 रन बनाए, वहीं टेस्ट कप्तान कोहली ने भी शतक लगाया। हालांकि शिखर धवल 95 पर फॉकनर की गेंद पर आउट होकर शतक से चूक गए, पर उनकी पारी का टीम को जीत की ओर ले जाने में काफी योगदान रहा। भारत ने केवल एक विकेट खोकर 43.3 ओवरों में ही 362 रन बनाकर आस्ट्रेलिया को 9 विकेट से हराया।