वर्ल्ड टी20 में बने हैं ये पांच अनचाहे रिकॉर्ड
फोटो साभार: www.news18.com

अब तक कुल 6 वर्ल्ड टी20 टूर्नामेंट्स का आयोजन किया जा चुका है। पहला टूर्नामेंट साल 2007 में दक्षिण अफ्रीका में आयोजित किया गया था जिसे टीम इंडिया ने अपने नाम किया था। इस टूर्नामेंट को शुरू हुए लगभग एक दशक का समय गुजर चुका है। चूंकि, टी20 में तेजतर्रार बल्लेबाजी के कारण रिकॉर्ड बहुत बनते हैं। पिछले कई सालों में गेंदबाजी और बल्लेबाजी के ढेरों रिकॉर्ड बने हैं। वहीं कुछ ऐसे रिकॉर्ड भी बने हैं जिन्हें खिलाड़ी व टीम अपने नाम पर कभी नहीं करना चाहेंगे। आज हम आपको वर्ल्ड टी20 के ऐसे ही कुछ अजीबोगरीब रिकॉर्ड से रूबरू कराते हैं।

1. वर्ल्ड टी20 का सबसे कम स्कोर:

5 unwanted records in World T20I
फोटो साभार: rcblogsport.blogspot.com

साल 2014 के वर्ल्ड टी20 में कई ‘लो स्कोर’ वाले मैच देखने को मिले थे। इन सबमें सबसे कम स्कोर नीदरलैंड ने बनाया था। श्रीलंका के खिलाफ मैच में पहले बल्लेबाजी करने उतरी नीदरलैंड की टीम 39 रनों पर ऑलआउट हो गई थी। यह टी20 में किसी भी टीम के द्वारा बनाया गया सबसे कम स्कोर है। इस दौरान उनका रन रेट 3.71 रहा था जो किसी टीम के द्वारा टी20 में सबसे कम रन रेट से रन बनाने का रिकॉर्ड है। 

इसके अलावा यह सिर्फ एक बार ही हुआ है जब टी20 में किसी टीम ने 50 से कम रन बनाए हों। इस दौरान उनकी टीम से सिर्फ एक बल्लेबाज टॉम कूपर ही दहाई का आंकड़ा छूने में कामयाब हो पाए थे। वहीं पांच ऐशे बल्लेबाज भी थे जो शून्य पर आउट हुए थे। जो किसी भी एक पारी में सबसे ज्यादा डक का रिकॉर्ड है।

2. वर्ल्ड टी20 सबसे ज्यादा रन देने वाले गेंदबाज:

5 unwanted records in World T20I
फोटो साभार: www.sportyghost.com

वर्ल्ड टी20 के इतिहास में अब तक कुल 4 गेंदबाजों ने 60 से ज्यादा रन दिए हैं। इनमें युवराज सिंह के हाथों 6 गेंदों में 6 छक्के खाने वाले स्टुअर्ट ब्रॉ का नाम भी आता है। लेकिन इन सबसे में वर्ल्ड टी20 में सबसे ज्यादा रन देने का रिकॉर्ड श्रीलंका के सनथ जयसूर्या के नाम पर है। वर्ल्ड टी20 2007 में जयसूर्या ने पाकिस्तान के खिलाफ एक मैच में अपने 4 ओवरों के स्पैल में 64 रन दे डाले थे और उन्हें कोई विकेट भी नहीं मिला था। एक समय पाकिस्तान 49/3 के साथ जूझ रहा था।

ऐसे में जयसूर्या 9वें ओवर में गेंदबाजी करने के लिए आए और उन्हें पाकिस्तानी बल्लेबाजों ने जमकर निशाना बनाया और स्कोर को 189/6 पर ला खड़ा किया। इस दौरान शोएब मलिक, युनिस खान और मिसबाह उल हक ने जयसूर्या की खूब बखिया उधेड़ी थी और तीनों ने लगभग 200 के स्ट्राइक रेट से उनके खिलाफ रन बटोरे थे। इन तीनों ने उनकी गेंदों पर कम से कम एक छक्का जरूर जड़ा था।

इस दौरान उनके एक ओवर में भी 12 से कम नहीं गए थे। उनका वर्ल्ड टी20 जेम्स एंडरसन के साथ सबसे खराब स्पैल है। हालांकि टी20 के इतिहास में 4 ओवरों में सबसे ज्यादा रन देने का रिकॉर्ड काइल एबॉट के नाम है जिन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ जोहान्सबर्ग में 4 ओवरों में 68 रन दे डाले थे।

3. वर्ल्ड टी20 में सबसे ज्यादा डक(शून्य):

5 unwanted records in World T20I
फोटो साभार: www.ecb.co.uk

वर्ल्ड टी20 में सबसे ज्यादा बार डक्स(शून्य) पर आउट होने का रिकॉर्ड पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी के नाम है। इसके अलावा श्रीलंका के तिलकरत्ने दिलशान भी इस क्रम में दूसरे स्थान पर हैं। दिलशान जिन्हों वर्ल्ड टी20 में 30 की ऊपर की औसत के साथ रन बनाए हैं उन्होंने वह वर्ल्ड टी20 में खेली गईं 34 पारियों में 5 बार डक पर आउट हो चुके हैं। इसके अलावा शाहिद अफरीदी भी 5 बार डक पर आउट होने का रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं।

4. वर्ल्ड टी20 में सबसे खराब इकॉनमी रेट:

5 unwanted records in World T20I
फोटो साभार: www.cricketcountry.com

वर्ल्ड टी20 में सबसे खराब इकॉनमी रेट से गेंदबाजी करने का रिकॉर्ड भारत के रविंद्र जडेजा के नाम पर है। साल 2010 टी20 विश्व कप में जडेजा कि इसी खराब गेंदबाजी के कारण भारत को ऑस्ट्रेलिया के हाथों 49 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। इस दौरान जडेजा पहले परिवर्तन के तौर पर गेंदबाजी करने के लिए आए थे और ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 16/0 था।

लेकिन उनके पहले ही ओवर में शेन वॉटसन ने तीन लगातार छक्के जड़ दिए थे। इसके धोनी ने जडेजा के गेंदबाजी आक्रमण से हटा लिया और फिर से 10वें ओवर में वापस लाए। इस दौरान उनके ओवर की शुरुआती तीन गेंदों पर डेविड वॉर्नर ने तीन छक्के जड़े। इस तरह जडेजा ने 2 ओवरों में 38 रन दे डाले जो वर्ल्ड टी20 में किसी भी गेंदबाज का सबसे खराब इकॉनमी रेट है।

5. वर्ल्ड टी20 का सबसे महंगा ओवर:

5 unwanted records in World T20I
फोटो साभार: www.criclife.com

युवराज सिंह ने वर्ल्ड टी20 2007 में इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में 6 गेंदों गेंदों में 6 छक्के जड़ दिए थे। यह वर्ल्ड टी20 के इतिहास में सबसे महंगा ओवर है। युवराज के इस दंश के कारण ब्रॉड ने 4 ओवरों में 60 रन दे दिए थे। युवराज के इन छक्कों की ही वजह से टीम इंडिया ने 218 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया था। जवाब में इंग्लैंड की टी 200 रन ही बना पाई थी। जरा सोचिए कि अगर युवराज ने 6 गेंदों में 6 छक्के न जड़े होते तो शायद टी20 वह मैच हार गई होती और उनका पहला टी20 वर्ल्डकप जीतने का सपना भी चकनाचूर हो गया होता।