भारत टेस्ट क्रिकेट में नया नहीं है, भारत 1932 से टेस्ट क्रिकेट खेल रहा है © PTI
भारत टेस्ट क्रिकेट में नया नहीं है, भारत 1932 से टेस्ट क्रिकेट खेल रहा है © PTI

विराट कोहली टेस्ट में लगातार जीत का रिकॉर्ड बनाए हुए हैं। विराट कोहली को अब तक टेस्ट में हार का का सामना नहीं करना पड़ा है। न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए भारत के 500वें टेस्ट में भी विराट की कप्तानी में टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को 197 रनों से हरा दिया था। टेस्ट में विराट कोहली ने बतौर कप्तान अपने छोटे से करियर में अपनी प्रभावशाली कप्तानी से सभी को आकर्षित किया है। कोहली वेस्टइंडीज में 2 टेस्ट जीतने वाले पहले भारतीय कप्तान हैं। कोहली ने अब तक 15 टेस्ट मैचों में से 8 में जीत हासिल की है। ऐसे में उनका जीत का प्रतिशत 53 फीसदी है। कोहली की जीत का प्रतिशत उन्हें सबसे सफल कप्तानों की श्रेणी में खड़ा करता है। भारत टेस्ट क्रिकेट में नया नहीं है। भारत 1932 से टेस्ट क्रिकेट खेल रहा है, भारत ने टेस्ट क्रिकेट में ढेरों रिकॉर्ड बनाए हैं। आज हम आपको बताएंगे भारत के उन रिकॉर्डों के बारे में जिनके बारे में भारतीय प्रशंसक बहुत कम ही जानते हैं।

1. टेस्ट में लगातार 400 रन बनाने का रिकॉर्ड:
भारत के नाम टेस्ट क्रिकेट में लगातार सबसे ज्यादा बार 400 या 400 से ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड दर्ज है। भारत ने 6 बार लगातार 400 से उससे ज्यादा का स्कोर किया है जो कि एक रिकॉर्ड है। भारत ने ये कारनामा अक्टूबर 1986 से फरवरी 1987 के बीच किया था। भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक बार, श्रीलंका के खिलाफ 3 बार और पाकिस्तान के खिलाफ 2 बार 400 या उससे भी अधिक रन बनाने की उपलब्धि हासिल की।
2. एक पारी में सबसे ज्यादा शून्य का रिकॉर्ड:
भले ही ये रिकॉर्ड भारत के क्रिकेट प्रेमियों को रास न आए लेकिन भारत ने पारी में सबसे ज्यादा शून्य पर आउट होने का रिकॉर्ड भी बनाया है। भारतीय टीम के 6 खिलाड़ी एक पारी में बिना खाता खोले आउट हो गए थे। भारत इसके साथ ही अलावा दक्षिण अफ्रीका, पाकिस्तान और बांग्लादेश की श्रेणी में शामिल हो गया जिनके भी 6 बल्लेबाज एक पारी में शून्य पर आउट हुए थे। साल 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ भारत के 6 बल्लेबाज बिना खाता खोले आउट हो गए थे। भारत बनाम न्यूजीलैंड दूसरा टेस्ट: स्कोर कार्ड देखने के लिए क्लिक करें

3. एक मैच में सबसे ज्यादा शून्य का रिकॉर्ड:
एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा शून्य का रिकॉर्ड दो बार बना है और दुर्भाग्यवश दोनों ही बार इस रिकॉर्ड में भारत का नाम शामिल रहा। पहली बार साल 1964 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की टीम के 11 खिलाड़ी मैच में शून्य पर आउट हुए थे और भारत वो मुकाबला हार गया था। दूसरी बार भारत और श्रीलंका के मैच के दौरान भारत के दो और श्रीलंका के 9 खिलाड़ी शून्य पर आउट हुए थे।

4. सबसे ज्यादा टेस्ट शतक:
इस रिकॉर्ड के बारे में बच्चा-बच्चा जानता है। ये रिकॉर्ड भारत के सचिन तेंदुलकर के नाम है। सचिन ने 200 टेस्ट में 51 शतक लगाए हैं। मौजूदा समय में जो क्रिकेट खेल रहे हैं उनमे सबसे ज्यादा शतक यूनिस खान के नाम(32) हैं।

5. सबसे ज्यादा टेस्ट खेलने का रिकॉर्ड:
इस रिकॉर्ड के बादशाह भी एक बार फिर क्रिकेट के भगवान यानी सचिन तेंदुलकर ही हैं। सचिन भारत की तरफ से 200 चेस्ट खेल चुके हैं। भारत ने हाल ही में अपना 500वां टेस्ट खेला था साफ है सचिन ने भारत की तरफ से 40 फीसदी मैच खेले हैं। ये भी पढ़ें: कोलकाता टेस्ट के पहले दिन भारतीय बल्लेबाजों पर भारी पड़े कीवी गेंदबाज

6. सबसे ज्यादा रन:
इस रिकॉर्ड के मालिक भी सचिन तेंदुलकर ही हैं। सचिन ने 200 टेस्ट में 53 की औसत से सबसे ज्यादा रन 15,921 बनाए हैं। भारत के ही राहुल द्रविड़ लिस्ट में चौथे स्थान पर हैं जिनके नाम 13,289 रन हैं।

7. टेस्ट की एक पारी में सबसे ज्यादा विकेट:
ये एक ऐस रिकॉर्ड है हर बॉलर का सपना होता है। एक पारी में हर खिलाड़ी को आउट करना। ये हर किसी गेंदबाज के बस की बात नहीं है। लेकिन ऐसा कर दिखाया भारत के फिरकी गेंदबाज अनिल कुंबले ने वो भी अपनी चिरप्रतिद्वंदी टीम यानी पाकिस्तान के खिलाफ। कुंबले ने 1999 में पाकिस्तान के सभी खिलाड़ियों को एक पारी में आउट किया था जो कि अपने आप में एक अनोखी उपलब्धि है।

8.पहले ओवर में हैट्रिक:
ये रिकॉर्ड भी भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ ही बनाया था। भारत के तेज गेंदबाज इरफान पठान 2006 में कराची में खेले गए मैच में पहले ही ओवर में पाकिस्तान के तीन खिलाड़ियों को आउट कर ये उपलब्धि हासिल की। लेकिन दुर्भाग्वश पाकिस्तान ने जबर्दस्त वापसी करते हुए भारत को उस टेस्ट में हरा दिया था।