क्रिकेट की दुनिया का सबसे लकी क्रिकेटर
फोटो साभार: cricket.com.au

क्रिकेट की दुनिया में बहुत से लकी खिलाड़ी रहे हैं। जब भी इन खिलाड़ियों ने अच्छा स्कोर किया इनकी टीम को जीत मिली। लेकिन क्या आप जानते हैं क्रिकेट में अपनी टीम के लिए सबसे लकी खिलाड़ी कौन रहा? इस खिलाड़ी ने जब भी क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट के फाइनल में 50 से ज्यादा रन बनाए उसकी टीम के नाम विश्व कप का खिताब आया। जी हां हम बात कर रहे हैं ऑस्ट्रेलिया के विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट की एडम गिलक्रिस्ट ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए कैसे और कितने लकी हैं आइए आपको बताते हैं।

54 रन, 36 गेंद बनाम पाकिस्तान( विश्व कप फाइनल, 1999):

Adam Gilchrist luckiest cricketer ever
फोटो साभार: Getty Images

1996 में अपने वनडे करियर की शुरूआत करने वाले एडम गिलक्रिस्ट ने पहली बार 1999 में ऑस्ट्रेलिया की ओर से विश्व कप में हिस्सा लिया और इत्तेफाक देखिये पहली ही बार में वो टीम के लिए इतने लकी रहे कि टीम को विश्व कप का खिताब दिला दिया। पाकिस्तान के खिलाफ हुए फाइनल मुकाबले में एडम गिलक्रिस्ट ने वसीम अकरम, शोएब अख्तर, सकलेन मुश्ताक जैसे गेंदबाजों के सामने 36 गेंदों पर 54 रनों की आक्रामक पारी खेल कर कम स्कोर वाले इस मैच को एक तरफा बना दिया और कंगारू टीम को 8 विकेट की आसान जीत दिला दी।

57 रन, 48 गेंद बनाम भारत( विश्व कप फाइनल, 2003):

Adam Gilchrist luckiest cricketer ever
फोटो साभार: Getty Images

2003 में ऑस्ट्रेलियाई टीम एक बार फिर से विश्व कप के फाइनल में पहुंची। भारत के साथ हुए फाइनल मुकाबले में एक बार फिर से एडम गिलक्रिस्ट का बल्ला गरजा और उन्होंने तेजी से 57 रन बनाकर कंगारू टीम को मनचाही शुरूआत दे दी। एडम गिलक्रिस्ट ने मैथ्यू हेडेन के साथ मिलकर भारतीय आक्रमण को तार-तार कर दिया उसके बाद आए रिकी पोंटिंग ने गिलक्रिस्ट द्वारा दी गई शानदार शुरूआत को भुनाते हुए शतक जमाया। लगातार दूसरे विश्व कप फाइनल में एडम गिलक्रिस्ट ने अर्धशतक बनाया था और नतीजा भी 1999 विश्व कप जैसा ही रहा। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने भारत को 125 रनों से हराकर लगातार दूसरी बार विश्व कप खिताब पर कब्जा जमाया।

149 रन, 104 गेंद बनाम श्रीलंका( विश्व कप फाइनल, 2007):

Adam Gilchrist luckiest cricketer ever
फोटो साभार: cricket.com.au

2007 विश्व कप में ऑस्ट्रेलियाई टीम लगातार तीसरी बार फाइनल में पहुंची। इस बार ऑस्ट्रेलिया का सामना श्रीलंका के साथ था। पिछले दो फाइनल की तरह इस बार भी एडम गिलक्रिस्ट के बल्ले ने आग उगला और इस बार उनके बल्ले से 149 रनों की विस्फोटक पारी खेली और ऑस्ट्रेलिया ने लगातार तीसरी बार विश्व कप खिताब पर अपना कब्जा जमा लिया। पिछले दो विश्व कप में अर्धशतकीय पारी खेलने वाले एडम गिलक्रिस्ट ने इस बार शतकीय पारी खेल कर अपनी टीम की जीत सुनिश्चित की। सबसे खास बात ये रही कि पूरी सीरीज में एडम गिलक्रिस्ट खराब फॉर्म से जूझते रहे। मगर फाइनल उनके लिए हमेशा की तरह लकी रहा। [इसे भी पढ़ें-]

कंगारू टीम के लिए एडम गिलक्रिस्ट से ज्यादा लकी खिलाड़ी और कौन हो सकता है। जब भी एडम गिलक्रिस्ट ने फाइनल में 50 से ज्यादा का स्कोर बनाया उनकी टीम विश्व विजेता बनी। सचिन तेंदुलकर जैसा महान खिलाड़ी अपने पूरे करियर में 6 बार विश्व कप में हिस्सा लिया लेकिन सिर्फ 1 बार विश्व चैंपियन टीम का हिस्सा रहे, लेकिन एडम गिलक्रिस्ट ने अपने करियर में तीन बार विश्व कप में हिस्सा लिया और सभी विश्व कप टूर्नामेंट में टीम को विश्व चैंपियन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।