अजिंक्य रहाणे © Getty Images
अजिंक्य रहाणे © Getty Images

भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे के तारे आजकल गर्दिश में चल रहे हैं। वह लगातार रन बनाने के लिए जूझ रहे हैं। हालात यहां तक आ गए हैं कि उनके टीम में बने रहने पर सवाल खड़े हो रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा सीरीज में भी रहाणे अपनी खराब फॉर्म से पीछा नहीं छुड़ा पाए और पहले मैच में (13, 18) और दूसरे टेस्ट की पहली पारी में मात्र (17) रनों पर ही आउट हो गए। रहाणे का मौजूदा सीरीज में ही खराब खेलना चिंता का विषय नहीं है। बल्कि अगर हम 2016/17 सत्र में उनके आंकड़े देखें तो उन्होंने इक्का-दुक्का मौकों के अलावा एक बार भी भारत के लिए बड़ी पारी नहीं खेली है। इसके अलावा इस दौरान एक बात और जो निकल कर सामने आई है, वह यह कि रहाणे ज्यादातर स्पिन गेंदबाजों का निशाना बने हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या रहाणे की तकनीक स्पिन के खिलाफ उतनी मजबूत नहीं है, जितनी की होनी चाहिए। भारतीय बल्लेबाजों को स्पिन खेलने में माहिर माना जाता है। तो फिर रहाणे लगातार स्पिन गेंदबाजों का शिकार क्यों हो रहे हैं। मौजूदा सीरीज में अभी तक रहाणे तीनों ही बार स्पिन गेंदबाजों का ही शिकार हुए हैं।

टेस्ट करियर में कितनी बार स्पिन का शिकार बने: अजिंक्य रहाणे के टेस्ट करियर की बात करें तो उन्होंने अब तक 35 मैचों की 60 पारियों में 2,430 रन बनाए हैं। इस दौरान रहाणे की औसत 45.84 का रहा है, उनके नाम 8 शतक और 10 अर्धशतक हैं। लेकिन अगर उनके आउट होने की बात की जाए तो रहाणे 60 पारियों में से 29 बार स्पिन गेंदबाजों का शिकार बने हैं। वहीं 24 बार उन्हें तेज गेंदबाजों ने आउट किया है। साफ है वह अपने करियर में भी स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ ज्यादा बार आउट हुए हैं। थोड़ा और गहराई में जाएं तो, रहाणे को दोनों ही हाथों के स्पिन गेंदबाजों ने अपना शिकार बनाया है। लेकिन उन्हें दाएं हाथ के गेंदबाजों ने ज्यादा बार आउट किया है।

अजिंक्य रहाणे आउट
तेज गेंदबाज 24
स्पिन गेंदबाज 29
दाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज 20
बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज 9

दाएं हाथ के स्पिन गेंदबाजों ने रहाणे को 20 बार आउट किया है। इस दौरान दाएं हाथ के गेंदबाजों ने रहाणे को 2 बार बोल्ड, 12 बार फील्डर के हाथों कैच, 1 बार विकेटकीपर के हाथों कैच, 1 बार स्टंप और 4 बार पगबाधा आउट किया है। साफ है रहाणे दाएं हाथ के स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ उतना सहज महसूस नहीं करते हैं और विकेट गंवा देते हैं। इसके अलावा बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाजों ने भी रहाणे को खूब छकाया है और 9 बार आउट करने में सफलता हासिल की है। इस दौरान रहाणे 3 बार बोल्ड, 6 बार फील्डर के हाथों कैच आउट हुए हैं। और दोनों तरह के स्पिनरों ने रहाणे को कुल 29 बार अपना शिकार बनाया है। जो कि उनके करियर में आउट होने का 50 फीसदी से भी अधिक है।भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, दूसरे टेस्ट के दूसरे दिन के लाइव ब्लॉग को पढ़ने के लिए क्लिक करें

2016/17 में स्पिनरों के विरुद्ध रहाणे: 2016/17 में रहाणे के प्रदर्शन पर नजर डालें, तो वह शुरुआत में तो बेहतरीन फॉर्म में थे। लेकिन जैसे-जैसे सत्र आगे बढ़ता गया, वैसे-वैसे वह उनकी फॉर्म में गिरावट देखी गई। रहाणे इस सत्र में अब तक 9 मैच खेल चुके हैं और उन्होंने 37.86 की मामूली औसत के साथ सिर्फ 568 रन ही बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 1 शतक और 2 अर्धशतक लगाए हैं। रहाणे ने एक शतक और एक अर्धशतक सत्र की शुरुआत में न्यूजीलैंड के खिलाफ लगाया था और इसके बाद उन्होंने सत्र का दूसरा अर्धशतक बांग्लादेश के खिलाफ लगाया। इसके अलावा वह लगातार रन बनाने के लिए संघर्ष करते नजर आए।

अजिंक्य रहाणे आउट
तेज गेंदबाज 4
स्पिन गेंदबाज 11
दाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज 5
बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज 6

वहीं इस सत्र में स्पिन के खिलाफ उनकी बल्लेबाजी की बात करें तो, वह 9 मैचों की 16 पारियों में से 11 बार स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ आउट हुए हैं। जो कि इस सत्र में उनके आउट होने का 68.75 फीसदी है। इस दौरान उन्हें दाएं हाथ के स्पिन गेंदबाजों ने 5 मौकों पर आउट किया है, तो वहीं बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाजों ने उन्हें 6 बार आउट किया है। साफ है अपने करियर में भले ही वह दाएं हाथ के स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ ज्यादा बार आउट हुए हों। लेकिन इस सत्र में वह बाएं हांथ के स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ ज्यादा बार आउट हुए हैं। भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, दूसरे टेस्ट का लाइव स्कोरकार्ड पढ़ने के लिए क्लिक करें…

अजिंक्य रहाणे को सबसे ज्यादा बार आउट करने वाले 3 गेंदबाज कितनी बार आउट किया
नाथन लियोन 5
स्टुअर्ट ब्रॉड 4
मोईन अली 3

इसके अलावा रहाणे को टेस्ट में सबसे ज्यादा बार आउट करने वाले सर्वोच्च तीन गेंदबाजों की बात करें, तो सर्वोच्च तीन में 2 फिरकी गेंदबाज हैं। रहाणे को सबसे ज्यादा बार आउट नाथन लियोन ने किया है। दूसरे स्थान पर स्टुअर्ट ब्रॉड हैं और तीसरे स्थान पर मोईन अली हैं। लियोन ने रहाणे को 7 मैचों में अब तक 5 बार आउट किया है। ब्रॉड ने रहाणे को 7 मैचों में 4 बार अपना शिकार बनाया है। तो वहीं मोईन ने 8 मैचों में 3 बार रहाणे का विकेट लेने में कामयाबी पाई है। साफ है रहाणे के सामने अपनी खोई फॉर्म तो चिंता का विषय है ही, इसके अलावा उन्हें स्पिन गेंदबाजों से भी पार पाना होगा।