Ajit Wadekar The captain who led India to maiden Test series wins in West Indies and England
Ajit Wadekar @ Getty Images

बुधवार रात मुंबई के जसलोक अस्पताल में भारत के चैंपियन कप्तान अजीत वाडेकर ने अपनी अंतिम सांस ली। अजीत वाडेकर महज एक क्रिकेटर भर नहीं थे बल्कि भारतीय क्रिकेट की पहचान थे। विदेशी सरजमीं पर मेजबान को धूल चटाने की विरासत वाडेकर जी ने ही टीम इंडिया को सौंपी।

साल 1932 में क्रिकेट जगत में कदम रखने वाले भारत के लिए विदेशी दौरा 35 साल तक सिर्फ हार से सीख लेने या फिर बराबरी से संतोष करने तक सीमित था। मंसूर अली खान पटौदी के बाद वाडेकर की कप्तानी में टीम इंडिया ने विदेशी धरती पर जीत का दम भरना शुरू किया।

दुनिया जीतने वाले वेस्टइंडीज में भारत ने विजय पताका लहराया और टीम में जीत का दम भरने वाले कप्तान कोई और नहीं वाडेकर ही थे। क्रिकेट के जनक इंग्लैंड को उसी के घर में जाकर वाडेकर ने धूल चटाते हुए इतिहास रचा। 1970-71 में विंडीज और इंग्लिश दोनों टीम पर 1-0 से जीत दर्ज कर भारतीय टीम का लोहा मनवाया था।

एक शानदार फील्डर भी थे वाडेकर

पूर्व कप्तान ने टेस्ट में 46 कैच लपके थे। 2 वनडे और प्रथम श्रेणी क्रिकेट करियर में उन्होंने कुल 272 कैच पकड़े थे।