अनिल कुंबले © Getty Images
अनिल कुंबले © Getty Images

आज से ठीक 1 साल पहले (23 जून 2016) भारतीय टीम के दिग्गज स्पिनर अनिल कुंबले ने भारत की सबसे लोकप्रिय टीम की बागडोर संभाली थी। जब कुंबले टीम के कोच बने तो हर किसी को उम्मीद थी कि भारत उनकी देख-रेख में शानदार प्रदर्शन करेगा। कुंबले 125 करोड़ भारतीयों की उम्मीदों पर खरे भी उतरे और टीम ने कई इतिहास भी रचे। टीम ने इस दौरान इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड जैसी दिग्गज टीमों को हराया और आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर-1 का स्थान हासिल किया। आइए नजर डालते हैं टीम इंडिया के साथ अनिल कुंबले के 1 साल के ‘सफरनामे’ पर।

23 जून 2016 को अनिल कुंबले ने संभाली भारत की बागडोर: अनिल कुंबले भारत के हेड कोच 23 जून 2016 को बने। बीसीसीआई की सलहाकार समिति (सीएसी) की तरफ से सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण ने कुंबले को भारतीय टीम का कोच नियुक्त किया था। कुंबले को 1 साल के लिए भारतीय टीम का कोच बनाया गया था।

22 अगस्त, 2016 भारत ने वेस्टइंडीज से टेस्ट सीरीज जीती, टी20I सीरीज में मिली हार: भारत ने वेस्टइंडीज को हराकर टेस्ट सीरीज अपने नाम की। 4 मैचों की टेस्ट सीरीज में भारत ने वेस्टइंडीज को 2-0 से हराया। हालांकि भारत को 2 मैचों की टी20I सीरीज में 1-0 से हार का सामना करना पड़ा था।

11 अक्टूबर, 2016 को भारत ने टेस्ट सीरीज में कीवी टीम का सूपड़ा साफ किया: भारतीय टीम ने अपनी मेजबानी में कीवी टीम को धूल चटाते हुए 3-0 से हरा दिया। भारत ने एक मैच में भी न्यूजीलैंड को हावी होने का मौका नहीं दिया और सीरीज आसानी से जीत ली। इसके बाद भारत ने वनडे सीरीज को भी 3-2 से जीत लिया।

20 दिसंबर, 2016 को भारत ने इंग्लैंड से टेस्ट सीरीज जीती: भारत ने इसके बाद इंग्लैंड को 5 मैचों की टेस्ट सीरीज में 4- से करारी शिकस्त दी। सीरीज का पहला मैच बराबरी पर खत्म होने के बाद भारतीय टीम ने जबरदस्त वापसी की और सीरीज को 4-0 से अपने नाम कर लिया। इसके बाद भारत ने वनडे और टी20I सीरीज भी 2-1 से अपने नाम करते हुए इंग्लैंड को खाली हाथ स्वदेश रवाना कर दिया।

13 फरवरी, 2017 को बांग्लादेश को हराया: बांग्लादेश की टीम एकमात्र टेस्ट के लिए भारत में थी। टीम इंडिया ने इ, टेस्ट मैच में बांग्लादेश को करारी मात देकर जीत का सिलसिला बरकरार रखा। भारत ने बांग्लादेश को 208 रनों से हराया था।

24 मार्च, 2017 को पहली बार कोहली-कुंबले के बीच मनमुटाव की खबरें सामने आईं: भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेल रही थी। आखिरी टेस्ट से पहले खबरें आईं कि कोहली और कुंबले के बीच मनमुटाव है। दरअसल, आखिरी टेस्ट में कोहली चोटिल होने के कारण नहीं खेल सके थे। कोहली के विकल्प के तौर पर कुंबले प्लेइंग इलेवन में कुलदीप यादव के साथ गए। कुंबले का ये फैसला कोहली को पसंद नहीं था।

28 मार्च, 2017 को भारत ने ऑस्ट्रेलिया से टेस्ट सीरीज जीती: भारत को हराने के इरादे से आई ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पहले टेस्ट में भारत को मात देकर सभी को चौंका दिया। हालांकि इसके बाद टीम इंडिया ने वापसी करते हुए दूसरे और चौथे टेस्ट में जीत दर्ज की और सीरीज को 2-1 से अपने नाम कर लिया।

25 मई, 2017 को बीसीसीआई ने नये कोच की तलाश शुरू की: बीसीसीआई ने 25 मई से भारतीय टीम के नये हेड कोच की तलाश शुरू कर दी। कुंबले समेत हर कोई बीसीसीआई के इस फैसले से सकते में था, क्योंकि कुंबले को उम्मीद दी कि उनका कार्यकाल आगे बढ़ेगा। हालांकि बीसीसीआी ने इसपर कहा था कि ये सिर्फ औपचारिकताएं हैं।

29 मई, 2017 को कोहली-कुंबले के बीच विवाद की खबरें आईं: कप्तान कोहली और कुंबले के बीच विवाद की खबरें सामने आईं। खबरें थीं कि खिलाड़िय कुंबले के सख्त अनुशासन से परेशान थे। खिलाड़ियों का मानना था कि कुंबले की देखरेख में उन्हें आजादी नहीं मिल रही है। यहीं से खिलाड़ियों और कोच के बीच पहली बार विवाद सामने आया था।

1 जून, 2017 को कई दिग्गजों ने भारतीय टीम के कोच पद के लिए आवेदन दिया: वीरेंद्र सहवाग, टॉम मूडी, रिचर्ड पाइबस, लालचंद राजपूत और डोडा गणेश ने भारतीय टीम के कोच पद के लिए आवेदन दिया। कोच पद के लिए कुल 6 आवेदन दिए गए। इस दौरान अनिल कुंबले ने एक बार फिर से इस पद के लिए आवेदन दिया।

3 जून, 2017 को विराट कोहली ने कोच से विवादों की खबरों को नकारा: लंबे समय से चले आ रहे कोच और कप्तान के बीच विवाद की खबरों पर कोहली ने चुप्पी तोड़ी और कोहली ने इन खबरों को सिरे से खारिज कर दिया। कोहली ने कह, ”किसी भी खिलाड़ी को कोच से कोई समस्या नहीं है और चीजों को बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया जा रहा है। कुछ चीजों पर सहमति-असमति होना इंसान की फितरत में होता है।”

17 जून, 2017 को सीएसी ने कोहली से मुलाकात की: बीसीसीआई की सलाहकार समिति (सीएसी) ने विराट कोहली से मुलाकात की। दोनों के बीच मुलाकात में तय हुआ कि इस मुद्दे का हल चैंपियंस ट्रॉफी के बाद किया जाएगा।

18 जून, 2017 को चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत को मिली हार: चैंपियंस ट्रॉफी में भारत ने शानदार खेल दिखाते हुए फाइनल तक का सफर तय किया। इस दौरान टीम खिताब जीतने की प्रबल दावेदार थी। हालांकि टीम को फाइनल में पाकिस्तान के हाथों कररी हार का सामना करना पड़ा।

20 जून, 2017 को भारतीय टीम कुंबले के बिना ही वेस्टइंडीज रवाना हो गई: चैंपियंस ट्रॉफी के बाद भारत को वेस्टइंडीज के दौरे पर जाना था। भारतीय टीम दौरे पर रवाना तो हुई, लेकिन इस दौरान कोच कुंबले टीम के साथ नहीं गए। खबरें आईं कि कुंबले आईसीसी की बैठक के बाद वेस्टइंडीज रवाना होंगे।

20 जून, 2017 को रात को कुंबले ने किया इस्तीफे का ऐलान: आखिरकार कुंबले ने भारतीय टीम के कोच पद से इस्तीफा दे दिया। बीसीसीआई ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। बाद में कुंबले ने भी अपने इस्तीफे की खबर ट्वीट की। कुंबले ने अपने ट्वीट में एक खत भी लिखा जिसमें उन्होंने जिक्र किया कि कोहली को उनकी शैली और कोच बने रहना पसंद नहीं है।

भले ही कुंबले अब भारतीय टीम के कोच न हों, लेकिन बतौर कोच उन्होंने भारत को बुलंदियों पर पहुंचाया और कई ऐतिहासिक जीत दिलाईं। कुंबले की देखरेख में भारत ने टेस्ट रैंकिंग में पहला स्थान भी हासिल किया। कुंबले के कोच रहते भारतीय टीम ने कुल 17 टेस्ट खेले, इस दौरान टीम ने 12 में जीत हासिल की और 4 में उन्हें 4 मिली। 1 मैच बराबरी पर समाप्त हुआ।

इसके अलावा 13 वनडे मैचों में से टीम को 8 में जीत मिली और 5 में हार का सामना करना पड़ा। वहीं टी20 मुकाबलों की बात करें तो टीम ने उनके कोच रहते कुल 5 टी20I मैच खेले और टीम को 2 में जीत मिली और 2 में हार झेलनी पड़ी। 1 मैच का कोई नतीजा नहीं निकला।