Asia Cup 2018: Buoyant India take on gutsy Bangladesh in super four
Rohit Sharma and MS Dhoni@ IANS

रोहित शर्मा इस एशिया कप में टीम इंडिया की कप्तानी का जिम्मा संभाल रहे हैं। सुपर फोर के अपने पहले मुकाबले में बांग्लादेश के खिलाफ भारतीय टीम को खेलना है। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में खेल रही भारतीय टीम को साल 2012 में बांग्लादेश ने पहली और आखिरी बार हराया था। बांग्लादेश के खिलाफ तब टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने जो गलती की थी रोहित शर्मा उससे सबक लेकर उतरेंगे। अफगानिस्तान से हारकर भारत के खिलाफ उतर रही बांग्लादेश को रोहित हल्के में लेने की गलती नहीं करेंगे।

भारत ने दिया था 290 रन का लक्ष्य

बांग्लादेश की राजधानी ढाका में खेले गए 2012 एशिया कप के चौथे मुकाबले में भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी की थी। भारत ने सचिन तेंदुलकर के शानदार शतकीय पारी की बदौलत 289 रन का स्कोर खड़ा किया था। यह स्कोर बांग्लादेश की टीम के लिए बड़ा था लेकिन उसने इसे हासिल कर सबको हैरान कर दिया था।

तीन बड़ी साझेदारी से मिली जीत

बांग्लादेश को भारत पर मिली ऐतिसाहिक जीत के पीछे मुश्किल में निभाई गई तीन साझेदारी रही। तमीम इकबाल और मोहम्मद इस्लाम ने दूसरे विकेट के लिए 113 रन की साझेदारी निभाई। शाकिब अल हसन और नासिर हुसैन ने चौथे विकेट के लिए 68 रन जोड़े जबकि हुसैन ने मुशफिकुर रहीम के साथ 64 रन की साझेदारी कर टीम को जीत के करीब पहुंचा दिया।

बांग्लादेश ने 5 विकेट से जीता था मैच

भारत से मिले 290 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए बांग्लादेश को महज 15 रन पर पहला झटका लगा था। तमीम इकबाल ने टीम को वापसी कराई और स्कोर 128 रन तक पहुंचाया। इस मैच में बांग्लादेश की तरफ से तीन बल्लेबाजों ने अर्धशतक बनाया। तमीम ने 70 रन, इस्लाम ने 53 जबकि नासिर हुसैन ने 54 रन की पारी खेली। 49.2 ओवर में बांग्लादेश ने 5 विकेट खोकर 293 रन बनाए और मुकाबला हमेशा के लिए यादगार बना दिया।