Asia Cup 2018: Team India’s Asia Cup final record
Indian Cricket Team Chahal and Rahul

भारतीय टीम शुक्रवार को एशिया कप फाइनल में बांग्लादेश के खिलाफ उतरेगी। 2016 में एशिया कप ट्रॉफी जीतने वाली टीम इंडिया लगातार दूसरी बार इस पर कब्जा जमाना चाहेगी। अब तक सबसे ज्यादा 6 बार यह खिताब भारतीय टीम ने ही जीता है। चलिए जानते हैं टीम इंडिया के एशिया कप फाइनल का सफर।

1988 एशिया कप फाइनल

साल 1988 में एशिया कप भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच खेला गया था। फाइनल में भारत के सामने श्रीलंका ने 177 रन का लक्ष्य रखा था। नवजोत सिंह सिद्धू के 76 और दिलीप वेंगसरकर के नाबाद 50 रन की बदौलत भारत ने 37.1 ओवर में जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया।

1991 एशिया कप फाइनल

कपिल देव की शानदार गेंदबाजी के आगे श्रीलंका की टीम भारत के सामने 204 रन ही बना पाई थी। संजय मांजरेकर की नाबाद 75 रन, सचिन तेंदुलकर के 53 और कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन के 54 रन के दम पर भारत ने 7 विकेट से मुकाबला जीत तीसरे एशिया कप का खिताब अपने नाम किया।

1995 एशिया कप फाइनल

भारतीय टीम के सामने एक और फाइनल में श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए जीत का लक्ष्य रखा था। भारत को 231 रन बनाने थे जिसे कप्तान अजहर ने धमाकेदार 90 रन की पारी खेल आसानी से 2 विकेट खोकर हासिल कर लिया। नवजोत सिंह सिद्धू ने इस मैच में नाबाद 84 रन बनाए थे।

1997 एशिया कप फाइनल

भारत और श्रीलंका की टीमें फाइनल मुकाबले में एक बार फिर से आमने-सामने थी। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अजहरुद्दीन के 81 और सचिन तेंदुलकर के 53 रन की बदौलत 240 रन का लक्ष्य रखा। मार्वन अटापट्टू, सनथ जयसूर्या और कप्तान अर्जुना राणातुंगा की अर्धशतकीय पारी की बदौलत श्रीलंका ने 8 विकेट से मुकाबला जीत खिताब अपने नाम कर लिया।

2004 एशिया कप फाइनल

हांगकांग और यूएई को पहली बार एशिया कप में खेलने का मौका मिला। भारत ने बांग्लादेश और श्रीलंका को सुपर फोर में हराकर फाइनल में जगह बनाई। फाइनल में श्रीलंका ने भारत को 228 रन का लक्ष्य दिया। सचिन तेंदुलकर के 74 रन की पारी बेकार गई और टीम को 25 रन से हार का सामना करना पड़ा।

2008 एशिया कप फाइनल

ओपनर सनथ जयसूर्या के 125 रन की बदौलत श्रीलंका ने 273 रन का स्कोर खड़ा किया। वीरेंद्र सहवाग ने 36 गेंद पर 60 रन की आतिशी पारी और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के 49 रन के अलावा कोई बल्लेबाज मैदान पर नहीं टिक पाया। भारतीय टीम 173 पर सिमट गई और 100 से मैच श्रीलंका की झोली में चला गया।

2010 एशिया कप फाइनल

पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम ने दिनेश कार्तिक के 66 और रोहित शर्मा के 41 रन की बदौलत 268 रन बनाए। आशीष नेहरा की धारदार गेंदबाजी के आगे श्रीलंका की टीम 187 रन पर ही ढेर हो गई। नेहरा ने 40 रन देकर 4 विकेट हासिल किए।

2016 एशिया कप फाइनल

टी-20 फॉर्मेट में खेले गए टूर्नामेंट में भारत ने बांग्लादेश को 8 विकेट से हराते हुए खिताब अपने नाम किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान ने 122 रन बनाए जिसे शिखर धवन की 60 रन की पारी के दम पर भारत ने महज 2 विकेट खोकर हासिल कर लिया।