Atal Bihari Vajpayee’s message for Sourav Ganguly and his team, ‘win not only the game, but hearts also’
Atal Bihari Vajpayee with Ganguly © designed

देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार शाम निधन हो गया। वो 93 साल के थे। वाजपेयी ना सिर्फ दिग्‍गज राजनीतिज्ञ थे बल्कि खेल से भी उन्‍हें खास लगाव था।

14 साल पहले यानी 2004 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने पाकिस्तान दौरे पर जा रही टीम इंडिया को एक ऐसी सलाह दी, जिसे आज तक कोई खिलाड़ी नहीं भूला है, फिर चाहे वो क्रिकेटर हो या किसी और खेल का खिलाड़ी।

सौरव गांगुली की कप्‍तानी में 2004 में टीम इंडिया 5 वनडे और 3 टेस्ट मैचों की ऐतिहासिक सीरीज खेलने केे लिए  पाकिस्तान जा रही थी। उस समय अटल बिहारी वाजपेयी ने टीम इंडिया को बुलाया और उन्हें एक बैट भेंट किया। उस बैट पर लिखी (मैच ही नहीं बल्कि दिल भी जीतकर आना) उस लाइन को आज भी न सिर्फ खिलाड़ी, बल्कि लोग भी दोहराते हुए मिल जाएंगे।

भारत और पाकिस्तान दोनों के बीच शांति वार्ता शुरू करने के बाद से रिश्तों को सुधारने के अटल जी के लिए की जा रही पहल के चलते 14 साल में पहली बार टीम इंडिया एक पूरी सीरीज खेलने पाकिस्तान दौरे पर गई थी, जहां भारत ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी।

भारत ने 11 मार्च 2004 से अप्रैल 2004 में हुई सीरीज में 3-2 से वनडे और 2-1 से टेस्ट सीरीज जीती थी।