Australia vs India, 4th Test: Shardul Thakur-Washington Sundar becomes fourth pair to score a century partnership for the seventh wicket in Australia
(Twitter)

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गाबा टेस्ट के तीसरे दिन शीर्ष क्रम बल्लेबाजों के पवेलियन लौटने के बाद पुछल्ले बल्लेबाजों शार्दुल ठाकुर और वॉशिंगटन सुंदर ने 123 रनों की साझेदारी बनाकर भारतीय टीम को मुश्किल से निकालने के साथ साथ ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर बड़ा कीर्तिमान बनाया।

ठाकुर और सुंदर ऑस्ट्रेलिया में सातवें विकेट के लिए शतकीय साझेदारी करने वाले चौथे भारतीय जोड़ीदार बन गए हैं। अपने करियर का पहला अर्धशतक लगाने वाले शार्दुल और सुंदर ने उस समय खेलना शुरू किया था, जब तीसरे दिन लंच के ठीक बाद भारत ने 186 रनों के कुल योग पर छठा विकेट गंवा दिया था।

ऑस्ट्रेलिया ने अपने पहली पारी में 369 रन बनाए थे और इस लिहाज से भारत बुरी तरह पिछड़ता दिखाई दे रहा था लेकिन फिर इन दोनों ने 180 गेंदों पर 100 रन जोड़कर भारत को मुश्किल से निकाला।

पिच की दरार नहीं अपनी काबिलियित से इन-कटर गेंदे फेंकते हैं मोहम्मद सिराज: तेंदुलकर

इससे पहले भारत के लिए सातवें विकेट के लिए जनवरी 2019 के बाद पहली शतकीय साझेदारी हुई है। इससे 2018-19 में रिषभ पंत और रवींद्र जडेजा ने सिडनी में 204 रन जोड़े थे। ऑस्ट्रेलिया में सातवें विकेट के लिए शतकीय साझेदारी का इससे पहले का अगला रिकार्ड काफी पुराना है।

1947-48 में जब आजाद भारत की टीम पहली बार विदेशी दौरे पर आस्ट्रेलिया गई थी तब विजय हजारे और हेमू अधिकारी ने एडिलेड में 132 रन जोड़े थे। इसके अलावा 1991-92 सीरीज में मोहम्मद अजहरुद्दीन और मनोज प्रभाकर ने सातवें विकेट के लिए 101 रनों की साझेदारी की थीष्।