BBL 2020-21: MS Dhoni, Suresh Raina or Yuvraj Singh may hit marquee player list

यूएई में खेली जा रही इंडियन प्रीमियर लीग का 13वां सीजन जहां अपने आखिरी चरण की ओर बढ़ रहा है, वहीं दूसरी ओर एक और मशहूर टी20 लीग का आगाज होने को है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग के दसवें सीजन की शुरुआत 3 दिसंबर से होने वाली है। इस बार बीबीएल लीग में कई नए चेहरे नजर आएंगे, जिनमें से कई भारतीय भी हो सकते हैं।

दिसंबर के पहले हफ्ते में शुरू होने वाले इस टूर्नामेंट को ऑस्ट्रेलिया सरकार की मंजूरी मिल गई है। साथ ही बीबीएल को अतिरिक्त फंडिग भी मिली है, जिस वजह से हर टीम की सैलरी कैप अब 1.86 मिलियन डॉलर हो गई है। इस रकम से टीमें किसी भी बड़े विदेशी खिलाड़ी में निवेश कर सकती हैं। चूंकि नए नियम के मुताबिक एक समय क्लब में केवल तीन विदेशी खिलाड़ी हो सकते हैं, ऐसे में सभी टीमों को सोच समझकर अपने मार्की विदेशी खिलाड़ी चुनने होंगे।

यहां हम उन भारतीय खिलाड़ियों की बात करने वाले हैं जो इस सीजन बीबीएल का हिस्सा बन सकते हैं। जिसमें पूर्व भारतीय दिग्गज महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह और सुरेश रैना का नाम सबसे ऊपर है।

धोनी, रैना और युवराज अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं याकि कि वो अब बीसीसीआई के कॉन्ट्रेक्ट का हिस्सा नहीं है और किसी भी विदेशी लीग में हिस्सा ले सकते है। चूंकि भारतीय क्रिकेट बोर्ड अपने खिलाड़ियों को बाहरी लीगों में हिस्सा लेने से रोकता है, जिस नियम की आलोचना रैना और युवराज दोनों ही कर चुके हैं।

स्मिथ ने माना- 13वें सीजन में लय हासिल करने में समय लगा

युवराज तो साल 2019 में संन्यास लेने के बाद कनाडा की ग्लोबल 20 लीग में हिस्सा भी ले चुके हैं। हालांकि रैना और धोनी आज तक किसी भी विदेशी लीग में नहीं खेले हैं लेकिन 15 अगस्त को एक साथ संन्यास का ऐलान करने के बाद ये दो खिलाड़ी जरूर इस दिशा में कदम बढ़ाना चाहेंगे।

पूर्व ऑलराउंडर रैना के बीबीएल में खेलने के संभावना काफी ज्यादा है क्योंकि ये खिलाड़ी आईपीएल के 13वें सीजन का हिस्सा नहीं था। अब जबकि रैना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेल सकते और भारत में घरेलू क्रिकेट की शुरुआत को लेकर कुछ भी निश्चित नहीं है तो रैना के लिए मैदान पर लौटने का एकमात्र रास्ता विदेशी टी20 लीग हैं।

सीए चाहेगा कि धोनी जैसा बड़ा खिलाड़ी बीबीएल टूर्नामेंट में हिस्सा ले लेकिन देखना दिलचस्प होगा कि सबको हैरान करने में माहिर कैप्टन कूल इस बारे में क्या फैसला लेते हैं।