मोहम्मद अली के 5 सबसे जबरदस्त बॉक्सिंग मुकाबले
फोटो साभार: sportingnews.com

फुटबॉल में पेले और क्रिकेट में डॉन ब्रेडमैन को जो मुकाम हासिल है वही मुकाम बॉक्सिंग की दुनिया में मोहम्मद अली के नाम रहेगा। जब भी बॉक्सिंग का जिक्र होगा मोहम्मद अली का नाम हमेशा सबसे ऊपर रहेंगे। अपने करियर में 37 बार विरोधी खिलाड़ियों को नॉकआउट के जरिये मात देने वाले सबसे महान बॉक्सर मोहम्मद अली ने 3 जून 2016 की शुक्रवार को इस दुनिया को अलविदा कह दिया। आइए जानते हैं उनकी 5 सबसे जबरदस्त फाइट के बारे में जो उन्होने बॉक्सिंग रिंग में लड़ी।

5. मोहम्मद अली बनाम सनी लिस्टन, 1964:

इस मैच से पहले मोहम्मद अली और सनी लिस्टन के बीच काफी लंबी जुबानी जंग चली थी। लिस्टन ने मोहम्मद अली को ‘भद्दा भालू'(अग्ली बीयर) तक कह दिया था। मोहम्मद अली ने इसका जवाब बॉक्सिंग रिंग में दिया। मोहम्मद अली पूरे मैच में अपनी शानदार मूवमेंट की वजह से लिस्टन पर हावी रहे। छठे राउंड में लिस्टन ने आंखों से दिखाई ना देने की शिकायत की और मैच के सांतवे राउंड में लिस्टन ने फाइट जारी रखने से मना कर दिया। जिसकी वजह से मोहम्मद अली को विजेता घोषित कर दिया गया।

4. मोहम्मद अली बनाम क्लीवलेंड विलियम्स, 1966:

इस मैच में क्लीवलेंड विलियम्स ने 53 नॉक आउट रिकॉर्ड के साथ प्रवेश किया था, लेकिन पूरे मैच में विलियम्स सिर्फ 10 पंच लगा सके जबकि मोहम्मद अली ने विलियम्स पर मुक्कों की बरसात करते हुए विलियम्स को चारों खाने चित कर दिया। इस मैच में अली ने अपने शानदार मूवमेंट के अलावा ताकतवर मुक्कों का भी इस्तेमाल किया। [इसे भी पढ़ें- ]

3. मोहम्मद अली बनाम जोइ फ्रेजियर ‘फाइट ऑफ द सेंचुरी’ मार्च 1971:

इस मैच से पहले दोनों ही खिलाड़ियों ने बॉक्सिंग रिंग में हार का स्वाद नहीं चखा था। मोहम्मद अली इस मैच से पहले लगातार 31 मुकाबले जीत चुके थे तो फ्रेजियर लगातार 26 मुकाबले में जीत हासिल कर अली का सामना करने आए थे। इस मुकाबले को ‘फाइट ऑफ द सेंचुरी’ माना गया था। इस मैच में फ्रेजियर ने अपनी लेफ्ट हुक से मोहम्मद अली को काफी परेशान किया और उन पर मुक्कों की बरसात करते रहे। इस मैच में लगभग अंधे हो चुके अली दो बार जमीन पर गिरे। मोहम्मद अली के करियर की यह पहली हार थी। [इसे भी पढें– ]

2. मोहम्मद अली बनाम जॉर्ज फोरमेन ‘द रंबल इन द जंगल’ 1974:

अपने से बहुत ज्यादा मजबूत जॉर्ज फोरमेन को इस मुकाबले में मोहम्मद अली ने थका-थका कर हरा दिया। मैच से पहले मोहम्मद अली की जीत की उम्मीद करने वाले बहुत कम लोग थे, इसका कारण था फोरमेन का शानदार रिकॉर्ड और उनकी ताकत। मोहम्मद अली ने इस मैच में रोप अ डोप तकनीक का इस्तेमाल करते हुए पहले फोरमेन को थकाया उसके बाद उनपर मुक्कों की बरसात कर 8वें राउंड में मैच अपने नाम कर लिया।

1. मोहम्मद अली बनाम जोइ फ्रेजियर ‘द थ्रिला इन मनीला’ 1975:

मोहम्मद अली को इस मैच का विजेता घोषित किया गया जब फ्रेजियर के ट्रेनर इडी फिच ने 14वें राउंड में फाइट रोक दी। इस मैच को बॉक्सिंग इतिहास का सबसे ब्रूटल फाइट में एक माना जाता है। मैच के शुरूआती दौर में अली का पलड़ा भारी रहा तो बीच में फ्रेजियर ने अली पर मुक्कों की ऐसी बरसात की मानो वो अली को मार ही डालेंगे। अंतिम दौर में अली फिर आगे आए और जीत हासिल की। मैच के बीच में जब फ्रेजियर अली पर हावी हो गए थे उस पर अली ने मैच के बाद कहा था कि फ्रेजियर जिस तरह से उन पर वार कर रहे थे उन्हे लगा उन्होंने मौत को सबसे पास से देखा।