भारत के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) ने उस रिपोर्ट का खंडन किया है, जिसमें उनसे टेस्ट से संन्यास लेने के कयास लगाए जा रहे थे. भुवी का इंग्लैंड दौरे के लिए चयन नहीं किया गया है, जिसके बाद एक रिपोर्ट में सूत्र के हवाले से बताया गया कि अब खुद ये तेज गेंदबाज पांच दिवसीय फॉर्मेट को छोड़ना चाहता है. खबर तेजी से वायरल हुई, तो भुवी ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट करते हुए इसे खारिज कर दिया.

भुवनेश्वर कुमार ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, “मेरे बारे में आर्टिकल आए हैं कि मैं टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलना चाहता. स्पष्ट करने के लिए, मैंने हमेशा खुद को तीनों प्रारूपों के लिए खुद को तैयार किया है और आगे भी ऐसा ही करता रहूंगा. सुझाव – कृपया ‘स्रोतों’ के आधार पर अपनी धारणाएं ना लिखें!”

बता दें कि एक रिपोर्ट में सूत्र के हवाले से लिखा गया, “ईमानदारी से कहूं तो चयनकर्ता भुवी में 10 ओवर की भूखा भी देख पा रहे रहे हैं. टेस्ट क्रिकेट तो भूल जाइए. यह वाकई टीम इंडिया की हार है. इससें किसी को संदेह नहीं. क्योंकि अगर किसी एक गेंदबाज को इंग्लैंड दौरे पर सेलेक्ट होता है, तो उसमें वह भूख बरकरार रहती है.”

सूत्र ने आगे कहा “अब जबकि ये साफ है कि भुवनेश्वर टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलना चाहते हैं, तो सवाल उठता है कि अगर कोई तेज गेंदबाज चोटिल होता है तो वर्कलोड कैसे मैनेज होगा?. क्योंकि इशांत का रिकॉर्ड भी बहुत अच्छा नहीं है. ऐसे में जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी पर सारा भार आ जाएगा.”