क्रिकेट के ये गेंदबाज जिन्हें मेडेन ओवर फेंकने में हासिल थी महारत
फोटो साभार: www.wallpapersmela.com

टेस्ट क्रिकेट में अक्सर गेंदबाज रन बचाने की बजाय विकेट लेने को तरजीह देते हैं। टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड श्रीलंका के मुरलीधरन(800) और एक टेस्ट मैच की एक पारी में 10 के 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड भारत के अनिल कुंबले और इंग्लैंड के जिम लेकर के नाम पर है। लेकिन आप शायद ही जानते होंगे कि टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक मेडेन ओवर फेकने का रिकॉर्ड किन गेंदबाजों के नाम पर है? हम आपको ऐसे ही कुछ चमत्कारी गेंदबाजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने मेडेन ओवर डालने में महारत हासिल की।

1. अल्फ वेलैंटाइन:

Bowlers who have had mastery in bowling maiden over
फोटो साभार: www.caribbeancommunitylive.com

एक टेस्ट मैच की एक पारी में सर्वाधिक मेडेन ओवर फेकने का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के एल्फ वैलेंटाइन के नाम पर है। साल 1950 में ट्रेंट ब्रिज टेस्ट में वैलेंटाइन ने दूसरी पारी में 92 ओवरों की गेंदबाजी की थी जिसमें उन्होंने 49 ओवर मेडेन डाले थे। यह रिकॉर्ड आज भी तोड़ा नहीं जा सका है।

इस मैच में उन्होंने 140 रन देकर 3 विकेट लिए थे। इसी दौरे में वैलेंटाइन ने लॉर्ड्स टेस्ट मैच में पूरे मैच के दौरान 75 मेडेन ओवर डाले थे। वेलैंटाइन ने अपने पूरे करियर में कुल 43 टेस्ट मैच खेले जिनमें उन्होंने कुल 139 विकेट लिए। इस दौरान उनका रन देने का औसत महज 1.95 रहा।

2. सोनी रामाधिन:

Bowlers who have had mastery in bowling maiden over
फोटो साभार: www.flickr.com

अल्फ वेलैंटाइन के बॉलिंग पार्टनर रहे सोनी रामाधिन ने एक मैच में 70 मेडेन ओवर फेके थे और मैच में सर्वाधिक मेडेन ओवर फेकने के मामले में वह दूसरे नंबर पर हैं। रामाधिन ने अपने पूरे करियर में कुल 43 टेस्ट मैच खेले जिसमें उन्होंने 158 विकेट लिए। इस दौरान गौर करने वाली बात रही कि उनका रन देने का इकॉनामी महज 1.97 रहा।

3. वीनू मांकड़:

Bowlers who have had mastery in bowling maiden over
फोटो साभार: www.sportskeeda.com

एक पारी में सर्वाधिक मेडेन ओवर फेंकने के मामले में दूसरा नंबर भारत के वीनू मांकड़ का नाम आता है। वीनू एक लेफ्ट आर्म स्पिनर थे। गौर करने वाली बात यह है कि वैलेंटाइन भी लेफ्ट आर्म स्पिनर ही थे। मांकड़ ने साल 1951- 52 में दिल्ली में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए एक टेस्ट मैच में जबरदस्त गेंदबाजी की थी और उनकी गेंदबाजी के आंकड़े 76-47-58-4 रहा था। मांकड़ ने अपने पूरे करियर के दौरान कुल 44 टेस्ट मैच खेले जिनमें उन्होंने कुल 162 विकेट लिए। इस दौरान उनका रन देने का औसत 2.13 का रहा।

4. बापू नादकरनी:

Bowlers who have had mastery in bowling maiden over
फोटो साभार: www.news18.com

यह बात 1960 के दशक की है जब बापू नदकरनी के गेंदबाजी आक्रमण के आने पर लोगों का हुजूम क्रिकेट मैदान पर अपनी आंखे जमा लेता था। नादकरनी एक ऑर्थोडॉक्स स्पिन गेंदबाज थे। उन्होंने साल 1964 में इंग्लैंड के खिलाफ एक पारी में लगातार 21 ओवर मेडेन डाल दिए थे।

यह रिकॉर्ड आजतक तोड़ा नहीं जा सका है। इस पूरी पारी में उन्होंने 32 ओवर फेके थे जिनमें 27 ओवर मेडेन रहे थे और उन्होंने इस बीच महज 5 रन खर्च किए थे। नादकरनी ने अपने करियर केदौरान कुल 41 टेस्ट मैच खेले और 88 विकेट लिए। इस दौरान उनका रन देने का औसत 1.67 का रहा।