Christchurch mass shooting: When terrorist acts impacts On cricket match or Tour
Police officers cordon a street near the mosque after a firing incident in Christchurch. © AFP

न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के बीच खेला जाने वाला सीरीज का तीसरा टेस्ट शुक्रवार को क्राइस्टचर्च मस्जिद शूटिंग की घटना के बाद कैंसिल किए जाने का फैसला लिया गया। घटना के वक्त बांग्लादेशी टीम अल नूर मस्जिद में मौजूद थी और वहां से जान बचाकर निकली।

घटना के बाद न्यूजीलैंड क्रिकेट ने ट्विटर पर इस मैच को कैंसिल किए जाने की घोषणा की। उन्होंने लिखा, मैच को ना खेलने का फैसला बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के साथ मिलकर लिया गया है।

यह पहली घटना नहीं जिसने किसी क्रिकेट मुकाबले पर अपना असर छोड़ा है। इससे पहले भी इस तरह की घटना की वजह से मैच या दौरे को कैंसिल करना पड़ा है।

पढ़ें:- क्राइस्टचर्च मस्जिद शूटिंग में बाल-बाल बची बांग्लादेश क्रिकेट टीम

साल 2009 में श्रीलंका क्रिकेट टीम पाकिस्तान के गद्दाफी स्‍टेडियम में प्रैक्टिस के लिए जा रही थी तभी आतंकियों ने बस पर फायरिंग करनी शुरू की। इस घटना में कुमार संगकारा, अजंता मेंडिस, तिलन समरवीरा, तरंगा परानविताना, सुरंगा लकमल और तिलन तुषारा घायल हो गए। श्रीलंका बोर्ड ने घटना के बाद दौरा रद्द करने की घोषणा कर दी। इसके बाद से बेहद कम मैच पाकिस्तान में कराए जा सके हैं।

मार्च 2008 में पाकिस्तान में हुए आत्मघाती बम विस्फोट की वजह से ऑस्ट्रेलिया ने दौरा रद्द कर दिया था। इसके ठीक बाद अगस्त में आईसीसी ने सुरक्षा कारणों से चैंपियंस ट्रॉफी के आयोजन को एक साल के लिए टाल दिया था। पाकिस्तान टूर्नामेंट का सह आयोजक था।

पढ़ें:- क्राइस्टचर्च मस्जिद शूटिंग: आतंकित बांग्लादेश टीम तुरंत लौटना चाहती है वापस !

साल 2002 में न्यूजीलैंड की टीम ने पाकिस्तान में होटल के बाहर हुए आत्मघाती बम विस्फोट के बाद दौरे को बीच में छोड़ने का फैसला लिया था।

1996 में खेले गए विश्व कप के दौरान ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज की टीम ने श्रीलंका में शुरुआती मुकाबलों को खेलने से मना कर दिया था। श्रीलंका के कोलंबो मे बम विस्फोट में 80 लोग मारे गए थे जबकि 1000 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

साल 1992 में कोलंबो के होटल के बाहर हुए आत्मघाती बम विस्फोट ने न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों को हिला कर रख दिया। टीम के 5 खिलाड़ी और कोच इस घटना के बाद वापस लौट गए।

साल 1987 में न्यूजीलैंड की टीम ने कोलंबो में हुए कार विस्फोट के बाद तीन मैचों की टेस्ट सीरीज ना खेलते हुए वापस लौटने का फैसला लिया था।