ये पांच क्रिकेटर जो भारत की ओर खेलने के बाद दूसरे देशों के लिए खेले
फोटो साभार: www.cricketcountry.com

भारतीय टीम ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच साल 1932 में खेला था। लेकिन आप शायद ही जानते हों कि क्रिकेट इतिहास में कई ऐसे क्रिकेटर हुए हैं जिन्होंने डेब्यू तो भारतीय टीम की ओर से किया लेकिन बाद के सालों में वे दूसरी टीमों की ओर से खेलते नजर आए। इसके अलावा कुछ ऐसे क्रिकेटर भी हुए जिन्होंने भारत की सरजमीं पर अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की, लेकिन बाद में उन्होंने दूसरी टीमों की ओर से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना शुरू की। तो आइए नजर डालते हैं ऐसे ही क्रिकेटरों पर।

1. अब्दुल हफीज करदार:

Cricketers who initially played from Indian and then moved to debut from other country
फोटो साभार: www.cricketcountry.com

स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद भारत और पाकिस्तान दो मुल्कों में बंट गए और इस तरह पाकिस्तान की क्रिकेट टीम भी अलग टीम बनी। इस नई पाकिस्तान टीम के कप्तान अब्दुल हफीज करदार बने जो पहले ही भारतीय क्रिकेट टीम की ओर से टेस्ट मैच खेल चुके थे। करदार ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज साल 1946 में किया था जब वह भारतीय टीम की ओर से इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स के मैदान पर खेले थे। हफीज ने इस मैच की पहली पारी में 43 और दूसरी पारी में शून्य रन बनाए थे। [ये भी पढ़ें:

पाकिस्तान क्रिकेट के पहले कप्तान हफीज करदार अच्छे पढ़े लिखे क्रिकेटर थे। उन्होंने ग्रेजुएशन इंग्लैंड की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से किया था। पाकिस्तान को साल 1952 में टेस्ट दर्जा प्राप्त हुआ और हफीज ने पाकिस्तानी टीम की बागडोर साल 1952 से 1958 तक संभाली। जिस समय हफीज ने टीम की बागडोर संभाली उस समय पाकिस्तान क्रिकेट की माली हालत बेहद खराब थी।

यहां तक की टीम के खिलाड़ियों के पास ढंग की क्रिकेट किट भी नहीं थी। वे अपनी किट की जरूरतें अपने दोस्तों व फैन्स से मांगकर पूरी करते थे। यहां तक की जूते भी उनके दोस्त उन्हें उधार देते थे। इस सबके बावजूद हफीज ने अपनी कप्तानी की जिम्मेदारी बखूबी निभाई। पाकिस्तान ने हफीज की कप्तानी में 23 मैच खेले जिनमें 8 में जीत दर्ज की। यह उस टीम के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि थी जिसके खिलाड़ी गरीबी में गड़े हुए थे।

2. गुल मोहम्मद:

Cricketers who initially played from Indian and then moved to debut from other country
फोटो साभार: sportskeeda.com

गुल मोहम्मद ने साल 1946 में भारतीय टीम की ओर से टेस्ट मैचों में डेब्यू किया था। गुल ने भारत के लिए कुल 8 टेस्ट मैच खेले। साल 1947 में भारत- पाकिस्तान बंटवारे के 8 सालों बाद साल 1955 में गुल को पाकिस्तान की नागरिकता मिल गई और वह पाकिस्तान की ओर से कुल 1 टेस्ट मैच खेले। साल 1921 में जन्में गुल ने साल 1938 रणजी ट्रॉफी में उत्तर भारत की ओर से डेब्यू किया था।

3. आमिर एलाही:

Cricketers who initially played from Indian and then moved to debut from other country
फोटो साभार: www.catchnews.com

आमिर एलाही उन 20 क्रिकेटरों में से एक हैं जिन्होंने सबसे ज्यादा उम्र में क्रिकेट खेली। एलाही ने भारतीय टीम के लिए एकमात्र टेस्ट मैच साल 1947 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेला था। इसके बाद एलाही ने साल 1952-53 में पाकिस्तान के लिए 5 टेस्ट मैच खेले। संयोगवश ये सभी टेस्ट मैच उन्होंने भारत के खिलाफ खेले।

एलाही ने अपने करियर की शुरुआत तो एक मीडियम पेसर के रूप में की थी। लेकिन बाद में उन्होंने लेग ब्रेक और गुगली गेंदबाजी करनी शुरू कर दी जिसमें उन्होंने अच्छी सफलता हासिल की। रणजी ट्रॉफी की बड़ौदा टीम की ओर से खेलते हुए एलाही ने 24.72 की औसत के साथ 193 विकेट लिए और साथ ही बड़ौदा को साल 1946- 47 रणजी ट्रॉफी जीतने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

बाद में वह बंटवारे के बाद पाकिस्तान की ओर खेले। उनकी जिंदगी का सबसे बेहतरीन पल उन्हें तब देखने को मिला जब उन्होंने मद्रास में खेले गए एक टेस्ट मैच में जुल्फिकार अहमद के साथ 10वें विकेट के लिए 104 रनों की साझेदारी निभाई।

4. स्वप्निल पाटिल:

Cricketers who initially played from Indian and then moved to debut from other country
फोटो साभार: www.bcci.tv

स्वप्निल पाटिल मुंबई के रहने वाले हैं। उन्होंने मुंबई की ओर से अंडर-19 और अंडर- 22 में क्रिकेट खेली और उसके बाद वह काम की तलाश में यूएई चले गए। इसी दौरान उन्हें क्रिकेट खेलने का मौका मिला जिसे उन्होंने जमकर भुनाया। अंततः उन्हें यूएई की टीम की ओर से डेब्यू करने का मौका मिला। विकेटकीपर बल्लेबाज स्वप्निल ने अब तक कुल 13 वनडे इंटरनेशनल और 18 टी20I खेले हैं। इस दौरान उनका औसत क्रमशः 26.30 और 14.38 का रहा है।

5. कृष्ना चंद्रन:

Cricketers who initially played from Indian and then moved to debut from other country
फोटो साभार: www.cricketcountry.com

कृष्ना चंद्रन ने अपना लिस्ट ए डेब्यू केरल की ओर से किया था। बाद में उन्होंने संयुक्त अरब अमीरात की ओर से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना शुरू की। वह साल 2010 में यूएई आए थे। वह एक मध्यक्रम के बल्लेबाज और मध्यम तेज गति के गेंदबाज हैं। कृष्ना ने अब तक कुल 11 अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने 7 विकेट लिए हैं व 119 रन बनाए हैं।