कोई ऐसा क्रिकेटर जो पहले बैटिंग भी करे और पहला ओवर भी फेंके। इस बात को सुनते ही आपके दिमाग में जरूर गली क्रिकेट के वे मैच दिमाग में घूम गए होंगे जिनमें शर्माजी का लड़का अपने बैट और गेंद की धौंस दिखाते हुए पहले बल्लेबाजी और गेंदबाजी करने लगता था। लेकिन हम ये गली क्रिकेट की बात नहीं कर रहे हैं बल्कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की बात कर रहे हैं। कालांतर में यहां कई क्रिकेटरों ने अपनी दोहरी प्रतिभा का ऐसा परचम लहराया कि उन्होंने ओपनिंग गेंदबाजी का स्पैल भी फेंका और ओपनिंग बल्लेबाजी भी की और विश्व क्रिकेट में अपना नाम दर्ज करवा दिया। हमने इस लिस्ट में उन खिलाड़ियों को सम्मिलित किया है जिन्होंने 10 या उससे ज्यादा बार गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों में ओपनिंग की।

1. नील जॉनसन:

फोटो साभार: www.livemint.com
फोटो साभार: www.livemint.com

जिम्बाब्वे के प्रतिभाशाली क्रिकेटरों में से एक नील जॉनसन का करियर भले ही छोटा रहा लेकिन उन्होंने इस दौरान उन ऊंचाईयों को छुआ जिसने उन्हें स्पेशल क्रिकेटर के रूप में विश्व भर के सामने खड़ा किया। साल 1999 के विश्व कप में तीन मैन ऑफ द मैच पुरस्कार जीतने वाले जॉनसन ने दुनिया भर के क्रिकेटप्रेमियों को अपनी बल्लेबाजी और गेंदबाजी का मुरीद बनाया। जॉनसन ने जिम्बाब्वे के लिए कई बार गेंदबाजी और बल्लेबाजी की शुरुआत की और बेहतरीन प्रदर्शन किया।
साल 1999 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक मैच में जॉनसन ने 132 रन ठोक दिए थे और 2 विकेट भी लिए थे। लेकिन अन्य बल्लेबाजों से ज्यादा मदद न मिल पाने के कारण वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी टीम को जीत नहीं दिलवा पाए थे। लेकिन इसके बावजूद जॉनसन को मैन ऑफ द मैच पुरस्कार से नवाजा गया।

साल 1998 में पाकिस्तान के विरुद्ध एक मैच में जॉनसन ने ओपनिंग गेंदबाजी की और 10 ओवर फेके और साथ ही उस मैच में शतक भी जड़ा था। जॉनसन बाएं हाथ के बल्लेबाज थे और मध्यम तेज गति की गेंदबाजी किया करते थे। वह 90 के दशक में जिम्बाब्वे टीम की धुरी रहे।

2. मोहम्मद हफीज:

फोटो साभार:  © Getty Images (File Photo)
फोटो साभार: © Getty Images (File Photo)

पाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद हफीज ने कई सारे वनडे और टेस्ट मैचों में पाकिस्तान की ओर से ओपनिंग गेंदबाजी और ओपनिंग बल्लेबाजी की। वह इस भूमिका को निभाने में खूब सफल भी रहे। हफीज एक स्पिन गेंदबाज हैं और जब वह गेंदबाजी की शुरुआत करते थे तो वह बाएं हाथ के बल्लेबाजों को अपनी ऑफ स्पिन से निशाना बनाते थे। बल्ले से भी हफीज एक बढ़िया ओपनिंग बल्लेबाज रहे और उन्होंने अपने देश के लिए विभिन्न प्रारूपों में रनों का अंबार लगाया। हफीज को उनके एक्शन में दोषी पाए जाने के बाद से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी करने से बैन कर दिया गया है।

3. तिलकरत्ने दिलशान:

फोटो साभार:  © Getty
फोटो साभार: © Getty

विशुद्ध रूप से अपनी बल्लेबाजी के लिए प्रसिद्ध श्रीलंका के तिलकरत्ने दिलशान एक अच्छे गेंदबाज भी हैं। कुछ सालों पहले दिलशान श्रीलंका के लिए ओपनिंग बल्लेबाजी के साथ ओपनिंग गेंदबाजी भी करते थे। ऑफ ब्रेक गेंदबाज दिलशान ने सीबी सीरीज 2012 के दूसरे फाइनल में ओपनिंग गेंदबाजी करते हुए 10 ओवरों में 40 रन देकर 1 विकेट लिया था और साथ ही बतौर ओपनर 106 रन भी बनाए थे। दिलशान, नील जॉनसन के बाद दूसरे क्रिकेट खिलाड़ी हैं जिन्होंने शतक बनाया और 10 ओवर फेंके।

4. एम जयसिम्हा:

 © Getty Images (file photo)
© Getty Images (file photo)

भारतीय टीम के प्रतिभाशाली क्रिकेटर एम जयसिम्हा 1960 के दशक में अपने खूबसूरत स्ट्रोक के लिए खूब जाने जाया करते थे। वह भारत के लिए ओपनिंग बल्लेबाजी करते थे। कुछ मैचों में उन्होंने भारतीय टीम के लिए गेंदबाजी की शुरुआत भी की। टेस्ट मैचों में कुल 14 बार जयसिम्हा ने भारत के लिए ओपनिंग गेंदबाजी और बल्लेबाजी की। वह हैदराबाद से थे। उनकी क्रिकेट से हैदराबाद में लोग बहुत प्रभावित हुए। बाद के सालों में मोहम्मद अजहरुद्दीन भारतीय टीम के कप्तान बने जो हैदराबाद से ही थे।

5. मनोज प्रभाकर:

फोटो साभार: © Getty Images
फोटो साभार: © Getty Images

लेट 80 और शुरुआती नब्बे के दशक में अपने बैट और गेंद से विश्व क्रिकेट में छा जाने वाले मनोज प्रभाकर ने लंबे समय तक भारत की ओर से ओपनिंग गेंदबाजी और बल्लेबाजी की। मनोज ने भारत के लिए 39 टेस्ट और 130 वनडे मैच खेले जिनमें उन्होंने क्रमशः 96 और 157 विकेट लिए। बतौर ओपनिंग बल्लेबाज उनका औसत बढ़िया रहा। उनका वनडे और टेस्ट में औसत क्रमशः 34.02 और 35.48 का रहा जो उनके करियर औसत से ज्यादा है।