© AFP, IANS
© AFP, IANS

आईपीएल के 36वें मैच में आज प्वाइंट टेबल पर छठवें नंबर पर बरकरार किंग्स इलेवन पंजाब और आठवें नंबर पर बरकरार दिल्ली डेयरडेविल्स के बीच मुकाबला होगा। दोनों ही टीमें लगातार हार से परेशान हैं। जाहिर है दोनों चाहेंगी कि इस मैच के साथ वे कम से कम हार के सिलसिले को जरूर तोड़ें। किंग्स इलेवन पंजाब की इस समय बड़ी समस्या उनकी खराब गेंदबाजी है। मोहित शर्मा के अलावा अन्य कोई गेंदबाज न ही रनों के बहाव में कोई कमी ला पा रहा है और न ही विकेट निकाल पा रहा है जो बड़ी चिंता की बात है।

ईशांत शर्मा जिन्हें चोटिल टी नटराजन की जगह टीम में शामिल किया गया था वह लगातार महंगे साबित हो रहे हैं। यही कारण है कि ग्लेन मैक्सवेल जैसे पार्ट टाइम गेंदबाज को अपने कोटे के चार ओवर फेंकने पड़ते हैं। किंग्स इलेवन पंजाब के पास एक विकल्प मैट हेनरी के रूप में नजर आता है जो अच्छे पेस के साथ गेंदबाजी कर सकते हैं और उनकी गेंदबाजी को मजबूत करने में सहायक सिद्ध हो सकते हैं। ऐसे में हैनरी को मॉर्गन या मिलर की जगह टीम में शामिल किया जा सकता है।

हाशिम आमला जो पिछला मैच हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण नहीं खेले थे उन्होंने शनिवार को एक वैकल्पिक ट्रेनिंग में भाग लिया और उनके रविवार के मैच में खेलने के मौके हैं। जैसा कि मोहाली की पिच रनों से भरपूर है तो जाहिर है ये बात किंग्स इलेवन पंजाब के बल्लेबाजों को खूब रास आने वाली है।

दिल्ली डेयरडेविल्स ने इस टूर्नामेंट में शुरुआत अच्छी की है लेकिन बीच के और आखिरी ओवरों में वे स्कोर को तेज गति नहीं दे पाते और खामियाजन एक छोटे से स्कोर पर टीम सिमट जाती है। पिछले मैच को ही ले लीजिए। एक समय डीडी ने 14 ओवरों में 123/2 का स्कोर बना लिया था लेकिन बाद के ओवरों में वे तेजी से रन नहीं बना पाए और अंततः टीम 160 रनों पर सिमट गई। संजू सैमसन उनकी टीम की ओर से सर्वाधिक अबतक 284 रन बना चुके हैं लेकिन उनके अलावा कोई दूसरा बल्लेबाज खास प्रदर्शन नहीं कर पाया है।

जैसा कि हिटर क्रिस मॉरिस को अबतक ऊपरी क्रम में नहीं खिलाया गया है तो ये देखना दिलचस्प होगा कि उन्हें इस मैच में ऊपरी क्रम में खेलने का मौका मिलता है कि नहीं। उन्होंने सात मैचों में से अबतक चार मैचो में सातवें या आठवें नंबर पर बल्लेबाजी की और इस दौरान 167.07 के स्ट्राइक रेट से 137 रन बनाए हैं जो गजब है। करुण नायर डीडी के लिए सबसे ज्यादा चिंता की बात हैं वह इस सीजन में 13 के औसत से अभी 78 रन ही बना पाए हैं। वहीं डीडी की फील्डिंग भी अबतक कमजोर नजर आई है। लेकिन अच्छी बात ये है कि दिल्ली का गेंदबाजी आक्रमण जहीर खान, कगीसो रबाडा, पैट कमिंस, अमित मिश्रा और क्रिस मॉरिस की मौजूदगी में अबतक मजबूत नजर आया है।

दिल्ली डेयरडेविल्स की संभावित प्लेइंग इलेवन: संजू सैमसन, सैम बिलिंग्स, करुण नायर, श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत(विकेटकीपर), क्रिस मॉरिस, अंकित बावन, कागीसो रबाडा, पैट कमिंस, अमित मिश्रा, जहीर खान(कप्तान)।

किंग्स इलेवन पंजाब की संभावित प्लेइंग इलेवन: मार्टिन गप्टिल, मनन वोहरा, शॉन मार्श, ग्लेन मैक्सवेल(कप्तान), ऑइन मॉर्गन, रिध्दिमान साहा, अक्षर पटेल, मोहित शर्मा, मैट हेनरी, के.सी. करियप्पा, वरुण आरोन।

क्या कहते हैं आंकड़े: मोहाली में खेले गए पिछले पांच मैचों में सिर्फ एक टीम ने 170 से कम का स्कोर बनाया है। इसलिए इसमें कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी अगर इस बार भी इस पिच पर रनों की बारिश देखने को मिले। इन दोनों टीमों के बीच अबतक कुल 19 मैच खेले गए हैं जिनमें 10 किंग्स इलेवन पंजाब ने जीते हैं। लेकिन किंग्स इलेवन ने पिछले पांच मैचों में से चार मैच दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ हारे हैं। वहीं मोहाली में वह चार मैचों में से सिर्फ एक हारे हैं।