England v Australia: Three key battles of cricket’s biggest rivalry

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच शुक्रवार से शुरू होने वाली वनडे सीरीज के दौरान पिछले साल ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेले गए विश्व कप सेमीफाइनल मैच की यादें ताजा होगी।

इयोन मोर्गन की इंग्लैंड टीम तीन मैचों की टी20 सीरीज में 2-1 से जीत हासिल कर चुकी है। लेकिन ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जॉश हेजलवुड का मानना है कि आखिरी टी20 मैच में मिली जीत के बाद कंगारू टीम ने मूमेंटम हासिल कर लिया है, जिसे वो वनडे सीरीज में इस्तेमाल करेंगे।

यहां हम मैनचेस्टर में खेली जाने वाली वनडे सीरीज में होने वाले कुछ अहम मुकाबलों पर चर्चा करेंगे।

ढूंढना होगा जोस बटलर को रोकने का तरीका: टी20 सीरीज के शुरुआती दो मैचों में धमाकेदार बल्लेबाजी करने के बाद तीसरे मैच से बाहर हुए विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर वनडे सीरीज के साथ इंग्लैंड टीम में वापसी करेंगे। पहले दोनों टी20 मैचों में ऑस्ट्रेलिया को मिली हार में बटलर का बड़ा हाथ था, ऐसे में अगर मेहमान टीम वनडे सीरीज में जीत हासिल करना चाहती है तो उन्हें इस शीर्ष क्रम बल्लेबाज को रोकना होगा।

IPL 2020: शेन वाटसन ने कहा- अनुभवी CSK के पास 13वां सीजन जीतने का पूरा मौका

मौजूदा ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज अब तक बटलर को रोकने का कोई तरीका ढूंढ नहीं पाए हैं। पूर्व दिग्गज शेन वार्न ने इस बारे में कहा, “ये धारणा है कि वो गेंदबाजों को परेशान करने के लिए क्या कर सकता है। अगर आप गेंदबाज हैं और गेंद डालने जा रहे हैं तो आप सोचेंगे कि ‘वो क्या करने वाला है’।”

उन्होंने आगे कहा, “उसकी बल्लेबाजी की सबसे अहम चीज है उसका गेंद को हिट करने का तरीका। वो मैदान के चारों ओर शॉट लगाता है। उसकी बल्लेबाजी में कोई खास कमजोरी नहीं है और जब आपके पास कोई कमजोरी नहीं होती तो आपके खिलाफ गेंदबाजी योजना बनाना मुश्किल हो जाता है।”

‘ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट में नस्लवाद भले ही ना दिखे लेकिन ये निश्चित तौर पर मौजूद है’

तेज गेंदबाजों को लेनी होगी जिम्मेदारी: हालांकि वनडे और टी20 क्रिकेट अक्सर बल्लेबाजों के पक्ष में झुका रहता है लेकिन ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड सीरीज जहां डेविड वार्नर, स्टीव स्मिथ, एरोन फिंच, बटलर और जॉनी बेयरस्टो जैसे बल्लेबाज हैं, वहां गेंदबाजों की भूमिका बेहद अहम होगी, खासकर तेज गेंदबाजों की।

ऑस्ट्रेलिया के पेस अटैक का जिम्मा पैट कमिंस और मिशेल स्टार्क संभालेंगे। वहीं इंग्लैंड के लिए जोफ्रा आर्चर, क्रिस वोक्स और मार्क वुड ये काम करेंगे।

स्पिन गेंदबाज दिलाएंगे जीत: टी20 सीरीज में निर्णायक भूमिका निभाने वाले स्पिनर आदिल राशिद से इंग्लैंड टीम को वनडे सीरीज में भी काफी उम्मीदें होंगी। टी20 सीरीज के दौरान ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एरोन फिंच को छोड़ कोई और कंगारू बल्लेबाज स्पिन के सामने खास लय में नहीं दिखा था। हालांकि तीसरे टी20 में राशिद ने बेहतरीन गुगली की मदद से फिंच को भी चारो खाने चित्त किया था।

जहां एक तरफ इंग्लैंड के स्पिनर राशिद टी20 सीरीज में मैचविनिंग प्रदर्शन दिखा रहे थे। वहीं ऑस्ट्रेलियाई स्पिन एडम जम्पा और एश्टन एगर कुछ संघर्ष करते दिख रहे थे। उम्मीद है वनडे सीरीज के दौरान इस स्पिन जोड़ी को विकेट मिलेंगे।