England vs India: reasons why India can win the fourth Test
Virat Kohli and Ajinkya Rahane with Ishant Sharma © Getty-Images

भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ लगातार दो टेस्ट हारने के बाद सीरीज में वापसी कर चुकी है। टीम इंडिया साउथम्पटन में खेले जाने वाले चौथे टेस्ट के लिए जीत की दावेदार बताई जा रही है। इसके पीछे की वजह क्या है हम आपको बताते हैं।

फॉर्म में लौटा टॉप ऑर्डर

नॉटिंघम टेस्ट में टीम इंडिया के जीत के पीछे सबसे बड़ा हाथ उसके उपरी क्रम का था। दोनों पारी में भारतीय टीम को शिखर धवन और केएल राहुल की जोड़ी ने अर्धशतकीय शुरुआत दिलाई। दोनों के बीच निभाई साझेदारी से अहम रहा ज्यादा से ज्यादा ओवर तक जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड का सामना करना।

मिडिल ऑर्डर में बड़ी साझेदारी

पहले दो टेस्ट मैच में भारतीय टीम को शुरुआत झटके लगने के बाद मिडिल ऑर्डर में भी कोई बड़ी साझेदारी नहीं देखने को मिला थी। दो शुरुआती टेस्ट में तीसरे और चौथे विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी भी नहीं हो पाई थी। तीसरे टेस्ट की पहली पारी में कप्तान विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे ने 159 रन जबकि दूसरी पारी में पुजारा और कोहली ने 113 रन की साझेदारी निभाई थी।

टीम इंडिया की कैचिंग में सुधार

इस सीरीज में पहले दो टेस्ट में भारतीय टीम ने स्लिप में कई कैच टकपाए जिसका खामियाजा टीम को चुकाना पड़ा। नॉटिंघम में टीम इंडिया के कैचिंग में गजब का सुधार देखने को मिला। टेस्ट में डेब्यू कर रहे विकेटकीपर रिषभ पंत ने रिकार्ड 7 कैच पकड़े तो वहीं स्लिप में खड़े केएल राहुल ने भी पांच कैच लपकर टीम की जीत पक्की की।

हार्दिक पांड्या का फॉर्म में लौटना

लागातार आलोचना झेल रहे टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने नॉटिंघम टेस्ट में पहले गेंदबाजी और फिर बल्लेबाजी में अपना कमाल दिखाया। हार्दिक ने ना सिर्फ 5 विकेट चटकाए बल्कि दूसरी पारी में अर्धशतक भी जमाया। पांड्या का चलना भारतीय टीम के जीत की गारंटी बन सकता है।