England vs West Indies, 2nd test, Preview: Windies play to win Test series in England after 32 years in Joe roots comeback match
Joe Root with Jason Holder @ Twitter

रोस बाउल टेस्‍ट में मिली शिकस्‍त के बाद मेजबान इंग्‍लैंड को अब विंडीज का सामना गुरुवार से दूसरे टेस्‍ट में करना है। विंडीज की कोशिश इस मुकाबले को जीतकर सीरीज को अपने नाम करने की रहेगी। वहीं, रेगुलर कप्‍तान जो रूट की वापसी के बाद मेजबान टीम नई ऊर्जा के साथ मैदान में उतरेगी।

रूट अपने दूसरे बच्चे के जन्म के कारण पहले मैच में नहीं खेल पाये थे। इंग्लैंड को उनकी कमी खली और पहली पारी में उसकी टीम 204 रन पर आउट हो गयी। वेस्टइंडीज ने 318 रन बनाकर 114 रन की बढ़त ली जो आखिर में निर्णायक साबित हुई।

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने BBL का शेड्यूल जारी किया, भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान होंगे मैच

इंग्‍लैंड का वापसी का शानदार रिकॉर्ड 

वेस्टइंडीज को इंग्लैंड में 32 साल में पहली श्रृंखला जीतने के लिये इनमें से केवल एक मैच में जीत की जरूरत है। इंग्लैंड ने पिछली दस सीरीज में आठवीं बार पहला टेस्ट मैच गंवाया और यह कहा जा सकता है कि वह ऐसी परिस्थितियों में वापसी करने का आदी है। हाल में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहला टेस्ट गंवाने के बाद उसने शानदार वापसी करके 3-1 से जीत दर्ज की थी।

रूट के लिये जो डेनली को अपना स्थान छोड़ना पड़ सकता है जिन्होंने पहले मैच में 18 और 29 रन की पारियां खेली थी। रूट की वापसी से इंग्लैंड के मध्यक्रम को मजबूती मिलने की संभावना है जिसमें जॉक क्राउली, ओली पोप और पहले मैच में कप्तानी का जिम्मा संभालने वाले आलराउंडर बेन स्टोक्स शामिल हैं।

कोरोना से ‘जंग’ जीतने में सफल रहे बांग्लादेश के पूर्व कप्तान मशरफे मुर्तजा

रूट पर होगा दबाव

इंग्लैंड के कोच क्रिस सिल्वरवुड ने हालांकि स्वीकार किया कि रूट पर थोड़ा दबाव होगा। ‘‘हम जो (रूट) से अच्छी पारियां देखने के लिये बेताब हैं लेकिन निश्चित तौर पर उस पर थोड़ा दबाव होगा। जॉक लगातार सुधार कर रहा है और उसने (साउथम्पटन में) जो पारी खेली उससे उसकी परिपक्वता झलकती है। ’’

ब्रॉड की हो सकती है वापसी

इंग्लैंड ने पिछले मैच में अनुभवी तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड को भी अंतिम एकादश में शामिल नहीं करने का विवादास्पद फैसला किया था। ब्रॉड ने इस पर सार्वजनिक तौर पर अपनी निराशा भी व्यक्त की थी। वह फिर से जेम्स एंडरसन के साथ नयी गेंद का जिम्मा संभाल सकते हैं। ऐसे में मार्क वुड या जोफ्रा आर्चर में से किसी को बाहर बैठना होगा।

बटलर की फॉर्म को लेकर चिंता

इंग्लैंड के लिये विकेटकीपर जोस बटलर की अपनी दोनों भूमिकाओं में खराब फॉर्म चिंता का विषय है। उन्होंने पहली पारी में 35 रन बनाये लेकिन दूसरी पारी में नौ रन बनाकर आउट हो गये। यही नहीं उन्होंने जर्मेन ब्लैकवुड को दूसरी पारी में शुरू में जीवनदान दिया। ब्लैकवुड ने इसका फायदा उठाकर 95 रन की मैच विजेता पारी खेली। बटलर के हालांकि अंतिम एकादश में बने रहने की संभावना है।

विनिंग कांबिनेशन से उतरेगा वेस्‍टइंडीज

वेस्टइंडीज अपनी विजेता टीम के साथ ही दूसरे मैच में उतर सकता है। शाई होप की खराब फॉर्म उसके लिये चिंता का विषय हो सकता है जो लंबी पारी खेलने के अपने इरादों को पहले मैच में मूर्तरूप नहीं दे पाये थे। ब्लैकवुड ने हालांकि मुश्किल परिस्थितियों में बेहतरीन प्रदर्शन करके टीम को जीत दिलायी थी और इस बीच उन्हें रोस्टन चेस और विकेट शेन डोरिच का भी अच्छा साथ मिला था।

ब्लैकवुड फिर से अच्छी पारी खेलने के लिये प्रतिबद्ध है और उन्हें विश्वास है कि इंग्लैंड की तमाम रणनीतियों के बावजूद वह दबाव में नहीं आएंगे। ‘‘एक बार जब मैं क्रीज पर होता हूं तो वे दबाव में होते हैं, मैं नहीं।’’

जेसन होल्डर ने पहले मैच में तेज गेंदबाज शैनन गेब्रियल पर भरोसा दिखाया था जबकि उन्हें रिजर्व के तौर पर मुख्य टीम में रखा गया था। गैब्रियल कप्तान की उम्मीदों पर खरे उतरे और उन्होंने नौ विकेट लेकर मैन ऑफ द मैच हासिल किया था।

लेकिन अगर वेस्टइंडीज को 32 साल बाद में इंग्लैंड में पहली श्रृंखला जीतनी है तो उसके बल्लेबाजों को अच्छा प्रदर्शन करना होगा तथा क्रेग ब्रैथवेट, जॉन कैंपबेल, शमर ब्रूक्स, होप आदि को लंबी साझेदारियां निभानी होंगी।