© Getty Images
© Getty Images

वर्तमान समय में क्रिकेट में कई तरह के बल्लेबाज हैं। इनमें से एक कैटिगिरी उन बल्लेबाजों की है जो परिस्थिति के हिसाब से अपना खेल खेलते हैं तो दूसरे ऐसे बल्लेबाज हैं जो किसी भी परिस्थिति में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करने से बाज नहीं आते। टी20 क्रिकेट के आने के बाद से चौकों और छक्कों की डिमांड भी बढ़ गई है तो हिटर बल्लेबाजों की जरूरत भी टीम के लिए जरूरी हो गई। आज हम आपको ऐसे ही 10 हिटर बल्लेबाजों से रूबरू कराने जा रहे हैं जिन्होंने सबसे कम इनिंग्स में बल्लेबाजी करते हुए 100 छक्के पूरे किए। गौर करें कि ये रिकॉर्ड वनडे क्रिकेट के हैं।

10. एबी डीविलियर्स: दक्षिण अफ्रीका के एबी डीविलियर्स को छक्के जड़ने में महारत हासिल है और वह मैदान में हर कोने में छक्का जड़ने की कूवत रखते हैं। एबी डीविलियर्स के नाम वनडे में अब तक 194 छक्के दर्ज हैं। 211 पारियों में बल्लेबाजी कर चुके डीविलियर्स ने अपने 100 छक्कों को पूरा करने के लिए 149 पारियां खेली हैं। 2004 में क्रिकेट में पदार्पण करने वाले डीविलियर्स शुरुआती सालों में इतनी आक्रामक नहीं थे इसलिए उन्होंने 100 छक्के पूरे करने के लिए पूरी 149 पारियां ले लीं। डीविलियर्स के नाम एक वनडे मैच में सर्वाधिक 15 छक्के जड़ने का रिकॉर्ड है।

9. ब्रेंडन मैकलम: न्यूजीलैंड के आक्रामक बल्लेबाज ब्रेंडन मैकलम ने न्यूजीलैंड के लिए कुल 12 सालों तक क्रिकेट खेली। इस दौरान उन्होंने वनडे में कुल 228 पारियों में बल्लेबाजी की और कुल 200 छक्के जड़े। मैकलम ने अपने 100 छक्के पूरे करने के लिए कुल 142 पारियों में बल्लेबाजी की थी। ब्रेंडन का ताउम्र स्ट्राइक रेट 90 से ऊपर रहा। उनका वनडे में स्ट्राइक रेट 96.37 का है। ब्रेंडन ने आयरलैंड के खिलाफ 135 गेंदों में 166 रनों की पारी के दौरान कुल 10 छक्के जड़े थे। इसके अलावा टेस्ट मैचों में भी ब्रेंडन के नाम 107 छक्के हैं जो अपने आपमें बड़ा रिकॉर्ड है।

8. रोहित शर्मा: वनडे में दो दोहरे शतक का अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले रोहित शर्मा ने अपनी 209 रनों की पारी के दौरान कुल 16 छक्के जड़े थे। शर्मा अब तक कुल 148 पारियों में 119 छक्के जड़े चुके हैं। वहीं उन्होंने 100 छक्के पूरे करने के लिए 138 पारियां ली थीं। शर्मा उन बल्लेबाजों में शामिल हैं जो परिस्थिति को देखकर बल्लेबाजी करते हैं। इसलिए उनका वनडे में स्ट्राइक रेट 84.60 का है। शर्मा ने हाल ही में वनडे में अपने 5,000 रन पूरे किए हैं। ऐसे में 30 साल के शर्मा भविष्य में और रिकॉर्ड अपने नाम करने के लिए तत्पर होंगे।

7. (A) शेन वॉटसन: ऑस्ट्रेलिया के शेन वॉटसन जब तूफानी बल्लेबाजी करने के लिए आते हैं तो अच्छे से अच्छा गेंदबाज भी उनके सामने पनाह मांगने लगता है। वॉटसन ने 169 वनडे पारियों में 131 छक्के जड़े हैं। वॉटसन ने जब अपने 100 छक्के पूरे किए थे तो उन्होंने उसके लिए कुल 135 पारियां खेली थीं। वॉटसन ने बांग्लादेश के खिलाफ महज 96 गेंदों में 185 रन ठोक दिए थे जिसमें 15 छक्के और 15 चौके शामिल थे। वॉटसन विश्व के उन चुनिंदा बल्लेबाजों में से एक हैं जिनका वनडे में स्ट्राइक रेट 90 से ऊपर है।

(B) इयोन मॉर्गन: इंग्लैंड के इयोन मॉर्गन ने अब तक कुल 182 मैच खेल चुके हैं और 171 पारियों में उन्हें बल्लेबाजी करने का मौका मिला है। वनडे में वह 144 छक्के जड़े चुके हैं। मॉर्गन ने अपने 100 छक्के 135 पारियों में पूरे कर लिए थे। मॉर्गन का स्ट्राइक रेट 88.56 का है।

6. क्रिस केर्न्स: न्यूजीलैंड के आतिशी बल्लेबाज क्रिस केर्न्स अपने छक्कों के लिए विश्व क्रिकेट में खूब प्रसिद्ध थे। न्यूजीलैंड के लिए 215 मैच खेलने वाले क्रेर्न्स ने 193 मैचों में बल्लेबाजी करते हुए कुल 153 छक्के जड़े हैं। केर्न्स ने अपने 100 छक्के पूरे करने के लिए कुल 128 पारियां ली थीं। जिस काल में क्रेर्न्स बल्लेबाजी करते थे उस समय में वह सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में से एक थे। केर्न्स का वनडे में स्ट्राइक रेट 84 से ऊपर का है। केर्न्स ने न्यूजीलैंड के लिए 2001 से 2006 तक वनडे क्रिकेट खेला।

5. शाहिद अफरीदी: शाहिद अफरीदी ने साल 1996 में श्रीलंका के विरुद्ध सिर्फ 37 गेंदों में शतक जड़ दिया था। उनका यह रिकॉर्ड पूरे 17 सालों तक तोड़ा नहीं जा सका था। अफरीदी एक ऐसे बल्लेबाजी हैं जो अगर बड़ी पारी खेल गए तो छक्कों की संख्या बढ़ ही जाती है। यही कारण है कि अब तक 398 मैच खेल चुके अफरीदी के नाम 351 छक्के दर्ज हैं। अफरीदी ने अपने 100 छक्के पूरे करने के लिए 126 पारियों में बल्लेबाजी की थी। अफरीदी की वनडे में स्ट्राइक रेट 117.00 का है। इतना स्ट्राइक रेट तो कई बल्लेबाजों का टी20 में तक नहीं होता है।

4. एमएस धोनी: एमएस धोनी ने जब भारतीय टीम की ओर से पदार्पण किया था तो वह अक्सर छक्के जड़ते नजर आ जाते थे। भले ही अब वह रफ्तार से छक्के न जड़ते हों लेकिन भारतीय कप्तान अभी तक कुल 287 वनडे मैचों की 249 पारियों में 204 छक्के जड़ चुके हैं। धोनी ने अपने 100 छक्के पूरे करने के लिए सिर्फ 123 पारियां खेली थीं। धोनी ने जब श्रीलंका के खिलाफ 183 रनों की पारी खेली थी तक उन्होंने 10 छक्के जड़े थे। धोनी की वनडे में स्ट्राइक रेट 88.98 का है। इसके अलावा वनडे में उनका रन बनाने का औसत 50 से ऊपर का है।

3. मार्टिन गप्टिल: न्यूजीलैंड के बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक मार्टिन गप्टिल अक्सर छक्के जड़ते नजर आते हैं। विश्व कप 2015 में 237 रनों की पारी खेलने वाले गप्टिल ने 11 छक्के जड़ दिए थे। अब तक 144 वनडे मैचों में 141 पारियों में बल्लेबाजी कर चुके गप्टिल अब तक कुल 137 छक्के जड़े हैं। साथ ही उन्होंने अपने 100 छक्के 120 पारियों में पूरे कर लिए थे। गप्टिल का वनडे में स्ट्राइक रेट 87.12 का है। गप्टिल लॉन्ग ऑन का छक्का मारने में सबसे बड़ा उस्ताद हैं।

2. रॉस टेलर: न्यूजीलैंड के एक और तूफानी बल्लेबाज रॉस टेलर जब शुरुआत में क्रिकेट में आए थे तो जबरदस्त छक्के जड़ा करते थे। पहले के मुकाबले आज वह जरूर धीमे पड़ गए हैं लेकिन उनकी बल्लेबाजी करने का अंदाज अपने आपमें बेहतरीन है। न्यूजीलैंड के लिए 188 वनडे मैच खेल चुके टेलर ने 174 पारी में बल्लेबाजी की है और कुल 121 छक्के जड़े हैं। उन्होंने अपने 100 छक्के सिर्फ 116 पारियों में पूरे कर दिए थे। टेलर का वनडे में स्ट्राइक रेट 82.21 का है। वहीं वह 6,000 से ऊपर रन भी बना चुके हैं। टेलर अब तक 17 शतक जमा चुके हैं।

1. कायरॉन पोलार्ड: वेस्टइंडीज के तूफानी बल्लेबाज कयरॉन पोलार्ड ने अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए अब तक 101 मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने 95 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 110 छक्के जड़े हैं। पोलार्ड ने अपने 100 छक्के पूरे करने के लिए कुल 86 पारियां ली थीं। इस लिहाज से पोलार्ड ने बहुत थोड़े समय में ही अपने 100 छक्के पूरे कर दिए थे। पोलार्ड का वनडे में रन बनाने का औसत 25 से थोड़ी ऊपर है। वहीं उनका स्ट्राइक रेट 92.89 का है। पोलार्ड ने वेस्टइंडीज के लिए साल 2007 में पदार्पण किया था।