विराट कोहली ने पिछले कुछ सालों में क्रिकेट जगत में नई क्रांति लाने में अहम भूमिका निभाई है © AFP (File Photos)
विराट कोहली ने पिछले कुछ सालों में क्रिकेट जगत में नई क्रांति लाने में अहम भूमिका निभाई है © AFP (File Photos)

ये किसी से छुपा नहीं है कि भारतीय बैटिंग लाइन अप दुनिया की बेहतरीन बैटिंग लाइनअप्स में से एक है। भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने समय- समय पर विपक्षी गेंदबाजों की बखिया उधेड़ी है और तेज तर्रार बल्लेबाजी के कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। युवराज सिंह के 6 गेंदों में 6 छक्के और संदीप पाटिल के द्वारा 6 गेंदों में मुकम्मल किए गए 6 चौके इस बात का जीता जागता उदाहरण है। लेकिन क्या आपको पता है कि भारतीय टीम की ओर से वनडे क्रिकेट में सबसे तेज शतक लगाने वाले पांच बल्लेबाज कौन से हैं? आइए जानते हैं।

5. सुरेश रैना का 66 गेंदों में शतक: बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना ने एशिया कप 2008 में हांगकांग के खिलाफ 66 गेंदों में शतक जड़ दिया था। इस मैच में रैना ने कुल 68 गेंदों में 7 चौके और 5 छक्कों की मदद से 101 रन बनाए थे। रैना की इस आतिशी शतक की बदौलत भारतीय टीम ने 374 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था और अंततः हांगकांग को 256 रनों से हरा दिया था। इस तरह रैना इस क्रम में पांचवें नंबर पर हैं।

4. युवराज सिंह का 64 गेंदों में शतक: युवराज सिंह ने साल 2008 में भारत दौरे पर आई इंग्लैंड टीम के खिलाफ राजकोट में 64 गेंदों में शतक जड़ा था। युवराज ने अंततः 78 गेंदों पर 138 रन ठोक दिए थे जिसमें 16 चौके और 6 छक्के शामिल थे। युवराज के इस शतक की बदौलत भारत ने इंग्लैंड के सामने 387 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था। अंततः भारत ने यह मैच 158 रनों से जीत लिया था। युवराज इस क्रम में चौथे नंबर पर हैं।

3. मोहम्मद अजहरुद्दीन का 62 गेंदों में शतक: साल 1988 में भारत और न्यूजीलैंड के बीच वनडे सीरीज का चौथा मैच खेला जा रहा था। पहले बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड ने निर्धारित 50 ओवरों में 3 विकेट के नुकसान पर 278 रन बनाए। जवाब में 279 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम का शीर्षक्रम डगमगा गया। आलय ये था भारत ने एक समय 133 रनों पर अपने 5 विकेट गंवा दिए थे।

ऐसे में बल्लेबाजी करने आए मोहम्मद अजहरुद्दीन ने जबरदस्त बल्लेबाजी की और मैदान में चौके- छक्कों की झड़ी लगा दी। इसी दौरान अजहरुद्दीन ने 62 गेंदों में शतक ठोक दिया। अंततः 65 गेंदों में 108 रन बनाकर उन्होंने भारत को मैच 8 विकेट से जिता दिया। यह शतक उस समय सबसे तेज शतकों में से एक था। अजहरुद्दीन इस क्रम में तीसरे नंबर पर हैं।

विराट कोहली नहीं बल्कि इस क्रिकेटर को मिलती है दुनिया में सबसे ज्यादा सैलरी
विराट कोहली नहीं बल्कि इस क्रिकेटर को मिलती है दुनिया में सबसे ज्यादा सैलरी

2. वीरेंद्र सहवाग का गेंदों में शतक: भारत के आतिशी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने साल 2009 में न्यूजीलैंड के खिलाफ वीरेंद्र सहवाग ने अजहरुद्दीन के 2 दशक पहले बनाए गए सबसे तेज शतक के रिकॉर्ड को तोड़ दिया था। इस मैच में सहवाग ने 60 गेंदों में शतक जड़ दिया था और वह अंत तक 74 गेंदों में 125 रन बनाकर नॉट आउट रहे थे। भारत ने इस मैच को D/L नियम के आधार पर 84 रनों से जीत लिया था। सहवाग ने इसके अलावा भी तीन मौकों पर और 66 गेंदों, 69 गेंदों और 69 गेंदों में शतक क्रमशः श्रीलंका, न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज के विरुद्ध जमाया है।

1. विराट कोहली का सबसे तेज 52 गेंदों में शतक: साल 2013 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच जयपुर वनडे सीरीज का दूसरा वनडे खेला गया। पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 50 ओवरों में 359 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा कर दिया। ये तीसरा मौका था जब ऑस्ट्रेलिया ने भारत के सामने 359 का आंकड़ा सामने रखा था। लेकिन इस बार भारतीय बल्लेबाजों कुछ अलग ही रंग में थे। भारत ने विराट कोहली के सबसे तेज शतक 52 गेंदों की बदौलत इस मैच में जीत की मुहर लगा दी। कोहली इसके साथ ही भारत की ओर से सबसे कम गेंदों में शतक जड़ने वाले बल्लेबाज बन गए। भारत ने यह मैच 43.3 ओवरों में 1 विकेट खोकर जीत लिया था।

सचिन तेंदुलकर स्पेशल:

सचिन तेंदुलकर ने भी साल 1998 में जिम्बाब्वे के खिलाफ 71 गेंदो में शतक ठोका था। इस मैच में उन्होंने कुल 92 गेंदों पर 124 रन बनाए थे जिसमें 12 चौके और 6 छक्के शामिल थे। सचिन की इस आतिशी पारी की बदौलत भारत ने निर्धारित 197 रनों का लक्ष्य बिना विकेट गंवाए 30 ओवरों में हासिल कर लिया था। यह सचिन के बैट से निकला हुआ सबसे तेज शतक है।