जानिए भारतीय क्रिकेटरों के बिजनेस वेंचर
फोटो साभार: cricketcountry.com

भारतीय टीम में अपना नाम काबिज करने के बाद क्रिकेटर अपनी जिंदगी को एक सही ढर्रे पर खड़ा करने के लिए व्यवसाय के क्षेत्र में हाथ आजमाते हैं। कुछ क्रिकेटर रेस्टोरेंट के बिजनेस में अपना मुकाम बनाने के लिए हाथ आजमाते हैं तो कुछ स्पोर्ट्स व अलग क्षेत्र में अपने करोबारो को आगे बढ़ाते हैं। पिछले सालों में कई भारतीय क्रिकेटरों ने व्यापार के क्षेत्रों में अच्छा नाम कमाया है और अपनी अलग पहचान बनाई है। भारतीय टीम के कुछ दिग्गज क्रिकेटरों के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं जिनका क्रिकेट मैदान के बाहर एक बड़ा व्यवसाय है।

विराट कोहली:

 फोटो साभार: getty images
फोटो साभार: getty images

भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली क्रिकेट के अलावा दूसरे खेलों में भी खूब रुचि लेते हैं और वे दूसरे खेलों में अपने व्यवसाय को आगे बढ़ा रहे हैं। विराट कोहली के मुताबिक फुटबॉल उनका दूसरा पसंदीदा खेल है। कोहली ने अपने पसंदीदा खेल फुटबॉल को भी अपने व्यवसाय में शामिल किया है। वह आईएसएल की टीम ‘एफसी गोवा’ के सह-मालिक हैं। कोहली कहते हैं कि जब वह संन्यास लेंगे तो वह इसे खुद संभालेंगे। कोहली ने नवंबर 2014 में यूएसपीएल के साथ मिलकर एक युवा फैशन ब्रांड ‘WROGN’ लॉन्च किया था। यह ब्रांड मैन्स कैज़ुअल कपड़े तैयार करता है। हाल ही में इस ब्रांड ने MYNTRA और Shopper’s Stop से टाइड किया है।

साल 2015 में कोहली ने जिम की एक चेन शुरू करने के लिए 90 करोड़ रुपए का निवेश किया था। कोहली की इस ‘जिम चेन’ का नाम ‘CHISEL’ है। इस जिम की चेन के मालिक कोहली, Chisel India और CSE संयुक्त रूप से हैं। अगले सालों में इस जिम की सभी ब्रांचे पूरे भारत समेत पूरे विश्व में स्थापित करने की योजना है। सितंबर 2015 में कोहली International Premier Tennis League की फ्रेंचाइजी यूएई रॉल्स के सह-मालिक भी बने हैं।

महेंद्र सिंह धोनी:

फोटो साभार: khabar.ndtv.com
फोटो साभार: khabar.ndtv.com

भारतीय वनडे टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जितना क्रिकेट के मैदान में सुलझे हुए दिखाई देते हैं वैसे ही वे व्यवसाय को लेकर भी सुलझे हुए हैं। धोनी रांची के हॉकी क्लब रांची रेज़ के सह-मालिक है। यह क्लब हॉकी इंडिया लीग की फ्रेंचाइजी टीम है। धोनी अभिषेक बच्चन व विता दानी के साथ चेन्नई के फुटबॉल क्लब चेन्नइयन के सह-मालिक हैं। यह टीम इंडियन सुर लीग की फ्रेंचाइजी टीम है।

धोनी फिटनेस व्यवसाय में भी हाथ आजमा रहे हैं। उन्होंने कुछ सालों पहले “SportsFit World Pvt Ltd” नाम की कंपनी लॉन्च की थी। उन्होंने इसके 200 से ज्यादा फिटनेस सेंटर खोलने की योजना बनाई है। ये फिटनेस ब्रांड भारत में ही नहीं भारत के बाहर भी खोलने की योजना है। स्पोर्ट्स पिट के पहले चार जिम गुणगांव,दिल्ली, चंडीगढ़ और फरीदाबाद में खोले जा चुके हैं।

युवराज सिंह:

युवराज सिंह photo courtesy zeenews.india.com
युवराज सिंह photo courtesy zeenews.india.com

भारतीय टीम के आतिशी बल्लेबाज युवराज सिंह आज भले ही भारतीय टीम से बाहर हों, लेकिन वे क्रिकेट व व्यवसाय दोनों में माहिर हैं। युवराज ने हाल ही में व्यवसायिक क्षेत्र में कदम रखा है। युवराज ने एक इंटरनेट कंपनी ‘यूवीकैन’ में 10 मिलियन डॉलर निवेश किए हैं। इसके अलावा हाल ही में युवराज ने अमेरिकन बर्गर कंपनी चेन कार्ल्स जूनियर में निवेश किया है। हाल ही में इस कंपनी ने भारत में अपना पहला स्टोर भी खोला है।

रॉबिन उथप्पा का आई टिफिन:

फोटो साभार: IANS
फोटो साभार: IANS

भारतीय टीम में लगातार अंदर-बाहर रहने वाले भारतीय टीम के क्रिकेटर रॉबिन उथप्पा का व्यवसाय बड़ा दिलचस्प है। दरअसल उथप्पा ने अपना हाथ फूड इंडस्ट्री में आजमाया है। बैंगलुरू में उनका फूडवेंचर ‘आईटिफिन’ चलता है । इसे उथप्पा ने साल 2013 में लॉन्च किया था। आईटिफिन के मील बॉक्स में चावल, रोटी, दाल, सलाद और वेजीटीरियन व नॉन वेजीटीरियन खाना होता है। इस टिफिन की कीमत 2,000 रुपए प्रति महीना है। उथप्पा अपने टिफिन सेंटर को पूरे भारत में फैलाना चाहते हैं।

अनिल कुंबले:

फोटो साभार: Getty Images
फोटो साभार: Getty Images

पूर्व भारतीय क्रिकेटर अनिल कुंबले को भारत की ओर से सर्वाधिक विकेट लेने का गौरव प्राप्त है। संन्यास के बाद से कुंबले अब एक स्पोर्टस कंपनी TENVIC के सह-मालिक है। यह स्पोर्ट्स कंपनी खिलाड़ियों को प्रोफेशनल स्पोर्ट्स की ट्रेनिंग देती है। उनकी कंपनी का नाम TENVIC उनके द्वारा पाकिस्तान के खिलाफ कोटला में एक पारी में लिए गए 10 विकेट से प्रेरित हैं। कुंबले के साथ इस कंपनी के सह-मालिक वसंत भारद्वाज हैं। वसंत पूर्व टेबिल टेनिस खिलाड़ी हैं।

सौरव गांगुली:

फोटो साभार: aaj.tv
फोटो साभार: aaj.tv

एक समय भारतीय क्रिकेट टीम की धुरी रहे पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद विभिन्न व्यवसायों में अपने हाथ आजमा रहे हैं। गांगुली नए क्रिकेटरों के लिए एक क्रिकेट कोचिंग सेंटर चलाते हैं साथ ही वे आईपीएल व अन्य टूर्नामेंट के दौरान टीवी शोज में एंकरिंग करते भी नजर आते हैं। गांगुली ने पिछली साल शिक्षा के क्षेत्र में भी हाथ आजमाया और उन्होंने इस क्रम में कोलकाता के आईआईएम(iim-c) से कुछ ग्रेजुएट्स को हायर भी किया था। उनके पिता चंडीदासस गांगुली का
मुद्रण(प्रिंटिंग) का समृद्धशाली व्यवसाय है जो एशिया महाद्वीप का तीसरा सबसे बड़ा प्रिंटिंग व्यवसाय है। चंडीदास गांगुली कोलकाता के जानेमाने रईसों में से एक हैं।

सचिन तेंदुलकर:

फोटो साभार: Getty Images
फोटो साभार: Getty Images

भारत के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के वैसे तो कई बिजनेस हैं। पिछले साल सचिन ने एक ऑनलइन ट्रेवल एजेंसी musafir.com में इन्वेस्ट किया था। इसके अलावा उनकी हिस्सेदारी सेलीब्रिटी मर्चेंडाइज व ब्रांड एक्सटेंसन फर्म Universal Collectabillia Pvt Ltd. में भी है। इसके अलावा सचिन की खेल सेमुलेशन कंपनी Smaaash Entertainment में 18 प्रतिशत की हिस्सेदारी है। यह कंपनी प्रमुख रूप से श्रीपाल मोरखिया की है। मोरखिया जानी-मानी कंपनी Sharekhan के भी संस्थापक हैं। Smaaash Entertainment की स्थापना सन् 2009 में की गई थी। यह कंपनी क्रिकेट, फुचबॉल, रेसिंग, संगीत पर आधारित स्पोर्ट्स सिमुलेशन उपलब्ध कराती है।

इसके अलावा सचिन का रुपया पांच और कंपनियों/वेंचरों में लगा हुआ है जिनके नाम Sachins and Tendulkar’s Restaurant, Kochi Franchise, Indian Super League, 5. S Drive and Sach | Healthcare and sports fitness products, Universal Collectabilia | Celebrity Merchandise, और Mumbai Franchise, International Tennis Premier League | Sports League है।