fourth inning history at Trent Bridge proves that India have more than enough runs to win
India captain Virat Kohli (c) and team mates celebrate after Joe Root © Getty Images

विराट कोहली की टीम नॉटिंघम टेस्ट के दूसरे दिन मेजबान पर अपनी पकड़ मजबूत कर चुकी है। पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 0-2 से पिछड़ रही टीम के पास वापसी का शानदार मौका है। इस मैदान का इतिहास भी भारतीय टीम के हक में नजर आ रहा है।

टॉस हारने के बाद बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम ने कप्तान विराट कोहली और उप कप्तान अजिंक्य रहाणे की शानदार बल्लेबाजी के दम पर 329 के स्कोर तक पहुंचने में कामयाब रही। इसके बाद हार्दिक पांड्या की धारदार गेंदबाजी के सामने पूरी इंग्लिश टीम महज 161 रन पर ही ढेर हो गई। दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम के पास इंग्लैंड पर 292 रन की बढ़त हासिल हो चुकी थी। इस मैदान पर आज तक कोई भी टीम इस स्कोर का पीछा करते हुए जीत हासिल नहीं कर पाई है।

ट्रेंड ब्रिज के मैदान पर साल 2004 में न्यूजीलैंड के खिलाफ इंग्लैंड की टीम ने 284 रन का पीछा करते हुए 4 विकेट की जीत हासिल की थी। यह इस मैदान पर टीम का यह सबसे सफल रन चेज है। अब अगर भारत के खिलाफ इंग्लैंड को जीत हासिल करना है तो एक नया रिकॉर्ड बनाना होगा।

भारत के पास बड़ा लक्ष्य रखने का मौका

भारतीय टीम के पास इस समय 292 रन की बढ़त है जो सफल चेज से 8 रन ज्यादा है। टीम इंडिया के पास आठ विकेट बचे हैं और तीन दिन का पूरा खेल भी बाकी है। भारत का लक्ष्य मेजबान के सामने बड़ा लक्ष्य रख पारी घोषित करने का होगा। अगर कोहली एंड कंपनी ने 400 का लक्ष्य रख दिया तो पुराने रिकॉर्ड के मुताबिक टीम की जीत लगभग पक्की हो जाएगी।