पुणे सुपरजाइट्स  © AFP
पुणे सुपरजाइट्स © AFP

कहते हैं जब लोहा लोहे को काटता है तब असल में पता चलता है कि कौन सा लोहा खरा है। जी हां ऐसा ही कुछ गुरुवार को राजकोट के मैदान पर नजर आएगा जब चेन्नई सुपरकिंग्स के दो पुराने टीम मेटों(एम एस धोनी और सुरेश रैना) की टीमें आईपीएल के 6ठवें मैच में एक दूसरे से दो दो हाथ करेंगी। दोनों टीमों(पुणे सुपरजाइंट्स और गुजरात लायंस) ने अब तक इस टूर्नामेंट में एक- एक मैच खेला हैं और संयोगवश दोनों को ही अपने पहले मैच में बड़ी जीत प्राप्त हुई है। पुणे सुपरजाइंट्स ने अपने पहले मैच में मुंबई इंडियंस जैसी बड़ी टीम को 9 विकेट के लंबे अंतर से हराया था तो गुजरात लायंस ने कुछ उसी अंदाज में किंग्स इलेवन पंजाब को 5 विकेट से पटखनी दी थी। आईपीएल एक ऐसा टूर्नामेंट है जिसमें कब अंतिम एकादश में परिवर्तन हो जाए कुछ कहा नहीं जा सकता। ऐसे में कप्तान महेंद्र सिंह धोनी किन 11 खिलाड़ियों को गुजरात लायंस के खिलाफ मौका देना चाहेंगे। आइए नजर डालते हैं।

शीर्ष क्रम: पुणे की अगर सलामी बल्लेबाजी की बात करें तो इस टूर्नामेंट की सबसे बेहतरीन सलामी जोड़ी इन्हीं के पास है। अजिंक्य रहाणे जैसे बल्लेबाज की उपस्थिति में पुणे सुपरजाइंट्स ने जिस तरह से पहले मैच मुंबई इंडियंस के गेंदबाजों का आड़े हाथों लिया वह देखने लायक था। उन्होंने इस दौरान 42 गेंदों में 66 रनों की नाबाद पारी ही नहीं खेली बल्कि अपने जोड़ीदार फाफ डू प्लेसी को जमकर बल्लेबाजी का भरपूर मौका दिया। यही कारण था कि दोनों ने आनन फानन में पहले विकेट के लिए महज 9.4 ओवरों में 78 रन जोड़ लिए थे। जाहिर है कि एक बार फिर से कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को दोनों से कुछ इसी तरह के प्रदर्शन की आशा होगी। रहाणे आईपीएल के सफलतम बल्लेबाजों में से एक हैं और इसके पहले वह राजस्थान रॉयल्स की ओर से बतौर सलामी बल्लेबाज ढेरों रन बना चुके हैं। वहीं तीसरे क्रम पर केविन पीटरसन एक बार फिर से अपनी करिश्माई बल्लेबाजी का जादू बिखेरते नजर आएंगे। पीटरसन ने अपने पहले मैच में नाबाद 14 गेंदों में 21 रन बनाए जिसमें दो छक्के भी शामिल थे। जाहिर है इस बार अगर उन्हें ज्यादा बल्लेबाजी का मौका मिला तो वह रनों का अंबार लगाने में कतई पीछे नहीं हटेंगे। इन तीन बल्लेबाजों की उपस्थिति में पुणे सुपरजाइंट्स का शीर्ष क्रम बेहद सशक्त नजर आता है।

मध्यक्रम: मध्यक्रम की जिम्मेदारी धाकड़ ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीवन स्मिथ पर होगी। स्मिथ एक ऐसे बल्लेबाज हैं जो मैदान पर चौके छक्कों की बजाय रन तेजी से चुराने के लिए जाने जाते हैं। यही कारण है कि अगर उनके बल्ले से बाउंड्री कम भी निकली हो तब भी उनका स्ट्राइक रेट कम नहीं होता। टी20 विश्व कप 2016 में पाकिस्तान के खिलाफ जबरदस्त अर्धशतक लगाने वाले स्मिथ एक बार फिर से अपनी उपस्थिति में नई नवेली पुणे सुपरजाइंट्स को एक बल देंगे। जाहिर है कि अगर उन्हें मौका मिला तो वह एक बार फिर से अपनी बल्लेबाजी का जादू बिखेरना चाहेंगे। वहीं पांचवें नंबर पर खुद महेंद्र सिंह धोनी होंगे जो उनकी ही तरह की बल्लेबाजी के हिमायती है। ऐसे में जब ये दोनों खिलाड़ी बीच मैदान पर होंगे तो नजारा दिलचस्प होगा।

ऑलराउंडर्स: टीम में ऑलराउंडरों की कोई कमी नहीं है और पिछले मैच में ऑलराउंडरों ने जबरदस्त प्रदर्शन भी किया था। मिचेल मार्श ने 4 ओवरों में 21 रन देकर 2 विकेट लिए थे और विपक्षी टीम के शीर्ष क्रम को बिखेर दिया था तो रजत भाटिया ने विपक्षी बल्लेबाजों को हाथ खोलने का कतई मौका नहीं दिया था और 4 ओवरों में 10 रन देकर एक विकेट लिया। जाहिर इन दोनों को अगर इस मैच में बल्ले से प्रदर्शन करने का मौका मिलता है तो कुछ उसी तरह का प्रदर्शन करना चाहेंगे जैसा उन्होंने अभी तक गेंद से किया है।

गेंदबाज: गेंदबाजी में ईशांत शर्मा, आर. अश्विन और मुरुगन और रजत भाटिया के रूप में टीम में एक बेहतरीन संतुलन मौजूद है। पिछले मैच में ईशांत शर्मा ने अपनी स्विंग हो रही गेंदों से मुंबई के बल्लेबाजों को खासा परेशान किया था और दो शुरुआती विकेट निकाले थे। लेकिन इस दौरान उन्होंने वाइड के अतिरिक्त रन जरूर दिए थे। जिससे वह जाहिर तौर पर पीछा छुड़ाना चाहेंगे। वहीं उनके जोड़ीदार आर पी सिंह को बल्लेबाज काफी आसानी से खेलते नजर आए थे। जाहिर है कि उनकी जगह धोनी घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने वाले ईश्वर पांडे को इस मैच में जगह देगा चाहें। वहीं स्पिन गेंदबाजों में सभी ने पिछले मैच में जबरदस्त प्रदर्शन किया था। रजत भाटिया के अलावा मुरुगन अश्विन ने 4 ओवरों में 16 रन देकर एक विकेट लिया था तो आर अश्विन ने 1 ओवर में 7 रन देकर एक विकेट निकाला था।

इस तरह से अगर पूरा विश्लेषण किया जाए तो कप्तान धोनी इस मैच में पिछले मैच के हिसाब से एक परिवर्तन कर सकते हैं।

राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स(संभावित अंतिम एकादश): महेंद्र सिंह धोनी(कप्तान), अजिंक्य रहाणे, फाफ डू प्लेसी, केविन पीटरसन, मिचेल मार्श, स्टीवन स्मिथ, रजत भाटिया, आर. अश्विन, मुरुगन अश्विन, ईशांत शर्मा, ईश्वर पांडे/ आर पी सिंह।