हार्दिक पांड्या © AFP
हार्दिक पांड्या © AFP

टीम इंडिया के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या मौजूदा समय में वनडे के सबसे ताबड़तोड़ बल्लेबाज के तौर पर उभरे हैं। एक बार पांड्या की नजरें जम गई तो दुनिया का हर स्टेडियम उनके शॉट्स के आगे छोटा पड़ जाता है और गेंदबाजों की जैसे शामत सी आ जाती है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में उन्होंने 66 गेंदों में ताबड़तोड़ 83 रनों की पारी खेली जिसमें 5 चौके और 5 छक्के शामिल थे। अबतक 22 वनडे खेल चुके पांड्या ने 13 पारियों में 39.1 के औसत से 391 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 129.9 का रहा है जो गजब है और अब वो दुनिया के नंबर 1 तूफानी बल्लेबाज बनने से सिर्फ एक कदम पीछे हैं।

पांड्या बनने वाले हैं सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट से रन बनाने वाले बल्लेबाज: वनडे में 20 या उससे ज्यादा मैच खेलने वाले क्रिकेटरों के बीच हार्दिक पांड्या दूसरे सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट से रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। उनसे ऊपर सिर्फ आंद्रे रसेल ही हैं। रसेल का स्ट्राइक रेट 130.85 का रहा है। रसेल ने वेस्टइंडीज के लिए खेले 41 मैचों की 43 पारियों में 29.27 की औसत से 985 रन बनाए हैं।

इस दौरान उन्होंने 53 छक्के मारे हैं जो बड़ी बात है। ऐसे में हार्दिक पांड्या अगर कोलकाता वनडे में एक और ताबड़तोड़ पारी खेल जाते हैं तो वह रसेल को पीछे छोड़ते हुए वनडे में सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट के साथ रन बनाने के मामले में नंबर 1 बन जाएंगे। वैसे अभी भी हार्दिक दुनिया के कई आतिशी बल्लेबाजों से आगे हैं। हार्दिक के बाद तीसरे नंबर पर नाम ऑस्ट्रेलिया के ग्लैन मैक्सवेल का आता है। मैक्सवेल का वनडे में स्ट्राइक रेट 125.14 का है। चौथे नंबर पर इंग्लैंड के जोस बटलर हैं जिनका वनडे में स्ट्राइक रेट 117.99 का है। [ये भी पढ़ें: क्या मैच के बाद जानबूझकर डेरेन सैमी ने बनाया था टॉयलेट जाने का बहाना?]

सबसे तेज 50 वनडे छक्कों के रिकॉर्ड पर हार्दिक की नजर: वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 50 छक्के लगाने का रिकॉर्ड मौजूदा समय में न्यूजीलैंड के कोरे एंडरसन के नाम है। एंडरसन ने 33 पारियों में ही 50 छक्के लगा दिए थे। कोरे के इस रिकॉर्ड के अबतक कोई आसपास तक नही फटक पाया है। लेकिन अब पांड्या ने इस रिकॉर्ड को चुनौती दी है। हार्दिक पांड्या अबतक 13 पारियों में ही 22 छक्के लगा चुके हैं। जैसा कि टीम इंडिया को इस साल 10 मैच और खेलने हैं। इस लिहाज से पांड्या के ऊपर दारोमदार होगा कि वह अपने 50 छक्के सबसे जल्दी पूरे करें और रिकॉर्ड बना डालें।

हार्दिक पांड्या ने साल 2016 अक्टूबर में न्यूजीलैंड के खिलाफ डेब्यू किया था। उसके बाद से उन्होंने बैट और गेंद दोनों से कमाल का प्रदर्शन किया है। उन्होंने वनडे में 21 पारियों में गेंदबाजी की है। इस दौरान उन्होंने 33.56 के ठीक-ठाक औसत के साथ 25 विकेट झटके हैं। टीम इंडिया को कई सालों से पांड्या जैसे ऑलराउंडर की ही तलाश थी। यही वजह है कि उनकी तुलना अभी मौजूदा दौर के सबसे बड़े ऑलराउंडर बेन स्टोक्स से होने लगी है।