भारत बनाम पाकिस्तान © Getty Images
भारत बनाम पाकिस्तान © Getty Images

आज ओवल के मैदान पर चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का महा मुकाबला होने वाला है। आज जब भारत और पाकिस्तान की टीमें फाइनल की जंग के लिए उतरेंगी तो स्टेडियम का माहौल काफी रोमांचक हो जाएगा। वैसे ये दोनों ही टीमें इस टूर्नामेंट में पहले एक बार आमने सामने आ चुकी हैं, उस मैच में भारत ने पाकिस्तान टीम को 124 रनों के बड़े अंतर से हराया था लेकिन इस बार जंग फाइनल खिताब जीतने की है इसलिए टीम इंडिया पाकिस्तान को कमजोर समझने की गलती नहीं करेगी। पाकिस्तान ने पहला लीग मैच हारने के बाद टूर्नामेंट में अच्छी वापसी की है और वह किसी भी कीमत पर ये फाइनल मैच जीतना चाहेंगे।

कौन-किस पर भारी?

टीम इंडिया वनडे रैंकिंग में दूसरे स्थान पर हैं जबकि पाकिस्तान सातवें स्थान पर है। हालांकि अब तक जिस तरह का टूर्नामेंट रहा है उसमें रैंकिंग का मैच पर कोई खास फर्क नहीं पड़ा है। सात नंबर की पाकिस्तान ने नंबर एक टीम साउथ अफ्रीका को भी हराया है। भारत-पाकिस्तान के बीच पिछले काफी समय से द्विपक्षीय सीरीज नहीं हुई है लेकिन आईसीसी टूर्नामेंट में ये दोनों टीमें कई बार आपस में भिड़ी हैं। पिछले पांच सालों की बात करें तो दोनों टीमों के बीच कुल 7 मैच खेले गए हैं जिसमें से 4 भारत ने जीते हैं और 3 पाकिस्तान के खाते में गए हैं। वहीं पहला लीग मैच भारत के हाथों हारने के बाद पाकिस्तान पर कुछ दबाव तो जरूर रहेगा। आईसीसी टूर्नामेंट में भारत हमेशा ही पाकिस्तान पर हावी रहा है। [ये भी पढ़ें: चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल से पहले विराट कोहली के 5 बड़े बयान]

भारत-पाकिस्तान के मैच जिताऊ बल्लेबाज:

टूर्नामेंट के पहले मैच से ही भारत के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन और रोहित शर्मा लगातार रन बना रहे हैं। ऐसा कोई मैच नहीं रहा जहां पर भारत को अच्छी शुरुआत ना मिली हो। वहीं कप्तान विराट कोहली भी शानदार फॉर्म में हैं और उन्हें रोकना किसी भी गेंदबाज के लिए आसान नहीं है। कोहली को शुरुआती ओवरों में बाहर जाती हुई गेंद परेशान करती थी लेकिन उन्होंने अपनी इस कमजोरी पर काफी काम किया है जो हम पिछले मैच में देख चुके हैं। टीम इंडिया के मध्य क्रम में महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह जैसे अनुभवी बल्लेबाज हैं। वहीं निचले क्रम में हार्दिक पांड्या और केदार जाधव जैसे धमाकेदार बल्लेबाज भी मौजूद हैं। [ये भी पढ़ें-पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल से पहले आर अश्विन के घुटने में लगी चोट! ]

पाकिस्तान का बल्लेबाजी क्रम भी काफी मजबूत है, अजहर अली और बाबर आजम लगातार रन बना रहे हैं। अजहर ने इंग्लैंड के खिलाफ मैच में शानदार 76 रन बनाए थे। वहीं फ़कर जमान जिन्होंने पिछले मैच में अर्धशतक जड़ा था, के रूप में पाकिस्तान टीम को एक नया मैच जिताऊ बल्लेबाज मिला है। इसके साथ मोहम्मद हफीज और शोएब मलिक भी बल्लेबाजी क्रम को अतिरिक्त मजबूती देते हैं।

भारत-पाक के मैच जिताऊ गेंदबाज:

पाकिस्तान अगर इस टूर्नामेंट में वापसी कर पाई है तो उसका सबसे बड़ा कारण उनकी शानदार गेंदबाजी है। जुनैद खान, हसन अली और मोहम्मद हफीज उनके मैच जिताऊ गेंदबाज हैं। वहीं इंग्लैंड के खिलाफ मैच में डेब्यू करने वाले रुमान रईस ने भी बेहतरीन गेंदबाजी की थी और दो अहम विकेट चटकाए थे। ऐसे में भारत के खिलाफ पाकिस्तान की गेंदबाजी उनकी सबसे बड़ी ताकत बन सकती है। [ये भी पढ़ें: चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में नहीं चलेगा विराट कोहली का बल्ला? ये आंकड़े हैं सबूत!]

टीम इंडिया के पास रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा जैसे अनुभवी मैच विनर गेंदबाज हैं। वहीं शुरुआती और आखिरी ओवर संभालने के लिए भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह टीम में मौजूद हैं। पिछले मैच में पार्ट टाइम गेंदबाज केदार जाधव मैच जिताऊ खिलाड़ी के रूप में सामने आए। जाधव को अगर सही समय पर इस्तेमाल किया जाय तो वह भी टीम को अहम विकेट दिला सकते हैं।

कैसी है ओवल की पिच?

केनिंगटन, ओवल की पिच बल्लेबाजी के लिए आदर्श है, यहां अब तक कुल पांच मैच हुए हैं। यहां खेले गए पांच में से तीन मैचों में 300 रन बनाए गए हैं। वहीं टीम इंडिया ने इस मैदान पर दो मैच खेल चुकी है। पहले मैच में श्रीलंका के खिलाफ टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा था, वहीं दूसरे मैच में भारत ने साउथ अफ्रीका को हरा सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। विराट कोहली की कोशिश होगी कि टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी की जाय क्योंकि रनों का पीछा करना हमेशा से भारत की ताकत रही है। हालांकि पाक टीम के लिए ये मैदान नया है। उन्होंने यहां अब तक कोई मैच नही खेला है इसलिए देखना दिलचस्प होगा कि सरफराज अहमद क्या रणनीति अपनाते हैं। [ये भी पढ़ें: सरफराज अहमद के मामा चाहते हैं पाकिस्तान की हार और हिंदुस्तान की जीत!]

भारतीय टीम की संभावित अंतिम एकादश: युवराज सिंह, एमएस धोनी (विकेटकीपर), रोहित शर्मा, रविंद्र जडेजा, विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रविचंद्रन अश्विन, भुवनेश्वर कुमार, केदार जाधव, जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या।

पाकिस्तान की संभावित अंतिम एकादश: शोएब मलिक, मोहम्मद हफीज, सरफराज अहमद (कप्तान और विकेटकीपर), अजहर अली, जुनैद खान, बाबर आज़म, इमाद वसीम, रुमान रईस, फखर जमान, शादाब खान, हसन अली।