टीम इंडिया © Getty Images
टीम इंडिया © Getty Images

विराट कोहली एंड कंपनी के लिए साल 2016 बेहतरीन रहा। कह सकते हैं भारत ने इस साल इतिहास रच दिया। भारतीय टीम 2016 में एक भी मैच नहीं हारी और अजेय रहने का गौरव प्राप्त किया। भारत ने इस दौरान अपनी धर्ती पर दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड की टीमों को धूल चटाई। वहीं ये तो हुई बीते साल की बात, लेकिन 2017 में भी भारत के सामने चुनौतियां आसान नहीं रहेंगी। भारत के सामने पिछले साल के प्रदर्शन को दोहराने की चुनौती होगी तो इस साल भारत को आईसीसी के टूर्नामेंट में भी भाग लेना होगा। तो आइए जानते हैं कि इस साल भारतीय टीम के सामने कितनी चुनौतियां होंगी।

इंग्लैंड के खिलाफ 3 वनडे और 3टी20 मैचों की सीरीज: भारत के लिए साल कि शुरुआत ही वनडे सीरीज के साथ होगी। 15 जनवरी से भारत को इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलनी है। टेस्ट में करारी हार के बाद इंग्लैंड घायल शेर की तरह वनडे में उतरेगा। भारत ने इंग्लैंड को टेस्ट सीरीज में 4-0 से हरा दिया था। लेकिन वनडे में नये साल में भारत के लिए शुरुआत भी नई होगी। पहला मैच 15 जनवरी को खेला जाएगा, दूसरा मैच 19 मैच को तो तीसरा मुकाबला 22 जनवरी को खेला जाएगा। साफ है भारत के सामने टेस्ट सीरीज के प्रदर्शन को दोहराने का दबाव होगा। ये भी पढ़ें: साल 2016 में कोहली हुए और ‘विराट’

वहीं वनडे सीरीज के बाद टीम इंडिया को इंग्लैंड के ही खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज भी खेलनी है। दोनों ही टीमें सीमित ओवरों की सबसे बेहतरीन टीमों में से एक हैं। ऐसे में दोनों के बीच रोमांचक सीरीज की शुरुआत होगी, गणतंत्र दिवस के मौके यानि की 26 जनवरी से। साफ है इतने बड़े दिन के महत्व को समझते हुए टीम इंडिया सीरीज की शुरुआत जीत के साथ करना चाहेगी। वहीं इसके बाद टीम को 29 जनवरी को दूसरा और 1 फरवरी को तीसरा टी20 मैच खेलना है। साफ है सालभर व्यस्त रहने वाली टीम इंडिया के लिए शुरू से ही ढेर सारी चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा।

बांग्लादेश के खिलाफ एक मैच की टेस्ट सीरीज: 2016 में टेस्ट में बेस्ट और अजेय रहने वाली टीम इंडिया साल 2017 में टेस्ट टेस्ट अभियान का आगाज बांग्लादेश के खिलाफ करेगी। टीम बांग्लादेश के खिलाफ एक मैच की टेस्ट सीरीज अपनी मेजबानी में खेलेगी। बांग्लादेश के खिलाफ भारत हैदराबाद में 8-12 तक एक मैच की टेस्ट सीरीज खेलेगा। हालांकि टीम ने जिस तरह से इंग्लैंड के खिलाफ खेल दिखाया था उसे देख कर यही लगता है कि टीम बांग्लादेस को आसानी से पराजित कर देगी। लेकिन बांग्लादेश को हल्के में लेना टीम के लिए घातक साबित हो सकता है। क्योंकि बांग्लादेश ने भी 2016 में शानदार खेल दिखाया था और टीम ने कई बड़ी टीमों को सक्ते में डाल दिया था। इस लिहाज से बांग्लादेश को अब कमजोर समझना भारत के लिए बड़ी भूल साबित हो सकती है।  ये भी पढ़ें: साल 2016 के 5 सबसे बेहतरीन उभरते हुए सितारे

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 4 मैचों की टेस्ट सीरीज: पिछली बार जब ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत दौरे पर आई थी तो टीम इंडिया ने कंगारुओं को 4-0 से करारी मात दी थी। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में टीम ने ऑस्ट्रेलिया को चारों खाने चित कर दिए थे। सेकिन अब कप्तान भी बदल चुका है और साल भी। ऐसे में विराट कोहली की कप्तानी में विजय रथ पर सवार टीम इंडिया फिर से ऑस्ट्रेलिया को मात देने की भरपूर कोशिश करेगी। ऑस्ट्रेलिया ने साल के अंत में पाकिस्तान को टेस्ट सीरीज में मात दी है। ऐसे में कंगारू टीम का मनोबल बढ़ा हुआ है। लेकिन ऑस्ट्रेलिया के सामने भारत की चुनौती आसान नहीं रहने वाली, क्योंकि इससे पहले भारतीय उपमहाद्वीप में श्रीलंका के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया को क्लीनस्पीप का सामना करना पड़ा था। ऐसे में स्टीवन स्मिथ की कप्तानी में टीम के सामने भारत की मुश्किल चुनौती होगी।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहला टेस्ट मैच 23 फरवरी को, दूसरा टेस्ट 4 मार्च को, तीसरा टेस्ट 16 मार्च को और चौथा मैच 25 मार्च को खेला जाएगा।

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017: वहीं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद भारत को आईसीसी टूर्नामेंट में भाग लेना है। आईसीसी के इस ग्लोबल टूर्नामेंट में कुल आठ टीमें भाग लेंगी। साल 2017 में ये क्रिकेट का सबसे बड़ा

आयोजन होगा। टीम इंडिया टूर्नामेंट की प्रबल दावेदार भी होगी क्योंकि टीम डिफेंडिग चैंपियन है। ऐसे में टीम इंडिया के सामने टूर्नामेंट को जीतने की बड़ी चुनौती होगी।

साफ है 2017 में भारतीय टीम को कई बड़ी सीरीज में भाग लेना है और साथ ही आईसीसी टूर्नामेंट भी खेलना है। टीम के लिए 2017 भी खासा व्यस्त रहने वाला है। लेकिन क्रिकेट प्रशंसकों को टीम इंडिया से इस साल भी बेहतरीन प्रदर्शन की उम्मीद होगी।