भारत और ऑस्‍ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच आज यानी गुरुवार से सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (Sydney Test) पर सीरीज के तीसरे टेस्‍ट मैच की शुरुआत हो गई है. इस मुकाबले को जीतने वाली टीम पर से कम से कम आगे सीरीज हार का खतरा टल जाएगा. सात जनवरी का दिन भारत के लिए बेहद खास है क्‍योंकि ठीक दो साल पहले (On This Day, In 2019) आज ही के दिन विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्‍तानी वाली भारतीय टीम ऑस्‍ट्रेलिया को उन्‍हीं की सरजमीं पर पहली बार टेस्‍ट सीरीज में मात देने में कामयाब रही थी.

यूं तो भारत ने पहले ही कंगारुओं को टेस्‍ट सीरीज में ढेर किया है लेकिन पहले मिली जीत भारतीय सरजमीं पर थी. जिसके चलते भारत को केवल घर का शेर ही कहा जाता था. यह पहला मौका था जब भारत ने ऑस्‍ट्रेलिया को उन्‍हीं के घर पर टेस्‍ट सीरीज 2-1 से हराकर इतिहास रच दिया था. भारत ऐसा करने वाला पहला एशियाई देश बना था.

चेतेश्‍वर पुजारा थे हीरो

साल 2018-19 में भारतीय टीम के ऑस्‍ट्रेलिया दौरे के दौरान टेस्‍ट सीरीज के हीरो नंबर-3 पर बल्‍लेबाजी करने वाले चेतेश्‍वर पुजारा रहे. पुजारा ने इस दौरान चार मैचों में तीन शतक ठोककर मेजबानों को वापसी का कोई मौका नहीं दिया. कंगारू टीम कप्‍तान विराट कोहली के खिलाफ रणनीति बनाने में लगी रही और चेतेश्‍वर पुजारा एक के बाद एक शानदार पारियां खेलकर मैन ऑफ द सीरीज बन गए थे.

स्मिथ-वार्नर की गैर मौजूदगी में जीती सीरीज

भारतीय टीम पर ऐसे आरोप लगते रहे हैं कि भारत केवल इसलिए ऑस्‍ट्रेलिया को उन्‍हीं की धरती पर हरा पाने में सफल रहा क्‍योंकि कंगारू टीम के दो बेहद खतरनाक बल्‍लेबाज स्‍टीव स्मिथ और डेविड वार्नर बैन के चलते उक्‍त सीरीज का हिस्‍सा नहीं थी. हालांकि अब दोनों ही भारत के खिलाफ खेल रहे हैं. कार्यवाहक कप्‍तान अजिंक्‍य रहाणे का टेस्‍ट जीत का रिकॉर्ड बेहद शानदार है. ऐसे में वो भारत को दूसरी बार ऑस्‍ट्रेलिया में सीरीज जीत का स्‍वाद चखा सकते हैं.