IND vs WI: Virat Kholi in confusion, need to choose one from Ajinkya Rahane, Rohit Sharma or fifth bowler
Rohit Sharma Ajinkya Rahane could be vying for the same spot. © AFP

भारतीय टीम प्रबंधन वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के लिये संयोजन तैयार करने को लेकर असमंजस की स्थिति में हैं क्योंकि पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतरने की दशा में रोहित शर्मा और अंजिक्य रहाणे में से किसका चयन करना है यह अभी तय नहीं हुआ है।

भारत अगर चार गेंदबाजों के साथ उतरने की रणनीति पर चलता है तो रोहित और रहाणे दोनों को अंतिम एकादश में जगह मिल सकती है। अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर इन दोनों में से किसी एक को बाहर बैठना होगा और वर्तमान फाॅर्म को देखते हुए रहाणे का चयन मुश्किल लग रहा है।

पढ़े:- वेस्‍टइंडीज के खिलाफ भारत करेगा वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप का आगाज, जाने पूरा कार्यक्रम

भारत साढ़े सात महीने के बाद लंबी अवधि के प्रारूप में खेलने के लिये उतरेगा और अंतिम एकादश को लेकर सबसे बड़ा सवाल यही है कि विराट कोहली और रवि शास्त्री गुरुवार से शुरू होने वाले पहले टेस्ट मैच के लिये अतिरिक्त छठे बल्लेबाज या अतिरिक्त गेंदबाज के साथ उतरते हैं या नहीं।

अगर भारतीय टीम प्रबंधन परंपरागत रणनीति से चलता है तो केएल राहुल और मयंक अग्रवाल को पारी का आगाज करना चाहिए लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि राहुल को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम दो टेस्ट मैचों के लिये टीम में नहीं चुना गया था और हनुमा विहारी ने पारी की शुरुआत की थी।

पढ़ें:- बांग्‍लादेश के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए अंडर-23 टीम का ऐलान, प्रियम गर्ग को कप्‍तानी

विहारी ने हालांकि ज्यादा रन नहीं बनाये लेकिन उन्होंने गेंद की चमक उतारने में अहम भूमिका निभायी जिसका अग्रवाल और चेतेश्वर पुजारा को फायदा मिला। अगर राहुल के पिछले साल के खराब टेस्ट रिकाॅर्ड को ध्यान में रखा जाता है तो विहारी फिर से पारी का आगाज कर सकते हैं।

पुजारा और कोहली तीसरे और चौथे नंबर पर दो मजबूत स्तंभ हैं लेकिन समस्या उसके बाद शुरू होती है। विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत छठे नंबर पर उतर सकते हैं और हार्दिक पांड्या की अनुपस्थिति में रवींद्र जडेजा टीम को संतुलन देने के लिये सातवें नंबर पर आ सकते हैं। ऐसे में कोहली को रोहित और रहाणे में से किसी एक का ही चयन करना होगा।

पढ़ें:- पिछले कुछ सालों में टेस्ट क्रिकेट में प्रतिस्पर्धा दोगुनी हुई है: विराट कोहली

रोहित ने अपनी अंतिम टेस्ट पारी में नाबाद अर्धशतक जमाया था और अभ्यास मैच की पहली पारी में भी उन्होंने अच्छी बल्लेबाजी की। रहाणे ने दूसरी पारी में रन बनाये लेकिन वह अच्छी फाॅर्म में नहीं हैं और यहां तक कि हैंपशायर के लिये काउंटी क्रिकेट में खेलते हुए भी उनका आत्मविश्वास नहीं बढ़ पाया।

इन दोनों को चार गेंदबाजों के साथ उतरने की रणनीति पर ही एकादश में शामिल किया जा सकता है। ऐसे में तीन तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा तथा रविचंद्रन अश्विन या कुलदीप यादव के रूप में एकमात्र स्पिनर को टीम में रखा जाएगा।

अतिरिक्त बल्लेबाज उतारने का मतलब जडेजा को मौका नहीं मिल पाएगा। कप्तान कोहली हमेशा पांच गेंदबाजों को उतारने के पक्षधर रहे हैं क्योंकि टेस्ट मैच जीतने के लिये 20 विकेट लेने जरूरी होते हैं। अगर पिच तेज गेंदबाजों के लिये अनुकूल हो तो उमेश यादव को भी टीम में लिया जा सकता है।