India beat hong kong in last one day by 256 runs in asia cup 2008
MS Dhoni @Getty Images

भारत और हांगकांग की टीम एशिया कप में एक दूसरे के आमने-सामने होगी। टूर्नामेंट के इतिहास में यह महज दूसरा मौका होगा जब दोनों टीमों के बीच मुकाबला खेला जाएगा। आखिरी बार साल 2008 में भारत और हांगकांग के बीच मैच खेला गया था जिसमें पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने शानदार शतक जमाया था। भारत ने मुकाबले को 256 रन से बड़े अंतर से अपने नाम किया था।

सहवाग- गंभीर की आतिशी शतकीय ओपनिंग साझेदारी

25 जून 2008 को कराची में खेले गए इस मुकाबले में भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी की थी। टीम के विस्फोटक ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने 44 गेंद पर 78 जबकि गौतम गंभीर ने 51 रन बनाए थे। दोनों ने 14.3 ओवर में 127 रन बना डाले थे। इसी स्कोर पर सहवाग का विकेट गिरा।

दो झटके लगने के बाद धोनी ने संभाली कमान

सहवाग का विकेट गिरने के तुरंत बाद ही गौतम गंभीर और रोहित शर्मा भी आउट होकर पवेलियन लौट गए। चौथे नंबर पर महेंद्र सिंह धोनी बल्लेबाजी करने उतरे और सुरेश रैना के साथ मिलकर 166 रन की साझेदारी कर टीम के स्कोर को तीन सौ रन के पार पहुंचा दिया।

धोनी ने जमाया शानदार शतक

इस मैच में धोनी ने ना सिर्फ लगातार विकेट गिरने के बाद टीम को संभाला बल्कि शानदार शतक भी जमाया। 96 गेंद पर 6 चौके और 6 छक्के की मदद से धोनी ने 109 रन बनाया और टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाया।

118 पर सिमटी हांगकांग

भारत से मिले 374 रन के विशाल लक्ष्य के आगे पूरी हांगकांग की टीम महज 118 रन ही बना सकी। भारत की तरफ से पीयूष चावला ने चार जबकि वीरेंद्र सहवाग ने 2 विकेट चटकाए थे।